शिवराज सरकार में शामिल हो सकते है विंध्य के ये दो बड़े नेता, इन पर गिर सकती है गाज

suresh mishra

Publish: Sep, 17 2017 04:31:22 PM (IST)

Satna, Madhya Pradesh, India
शिवराज सरकार में शामिल हो सकते है विंध्य के ये दो बड़े नेता, इन पर गिर सकती है गाज

शिवराज मंत्रिमंडल की अहम बैठक रविवार को आयोजित की गई। जिसमे 2018 में मध्यप्रदेश में हो रहे विधानसभा चुनाव को लेकर मंथन किया गया।

सतना। शिवराज मंत्रिमंडल की अहम बैठक रविवार को आयोजित की गई। जिसमे 2018 में मध्यप्रदेश में हो रहे विधानसभा चुनाव को लेकर मंथन किया गया। जातीय समीकरण और अच्छा परफॉर्मेंस न करने वाले मंत्रियों की छुट्टी लगभग तय मानी जा रही है। इसका सबसे बड़ा कारण नेताओं की उम्र और स्वास्थ्य खराबी के कारण क्षेत्र में न पहुंच पाना बताया जा रहा है।

मंत्रिमंडल विस्तार की आ रही खबरों में विंध्य के दो बड़े ब्राह्मण नेताओं का नाम सबसे पहले सामने आ रहा है। जो लगातार तीन बार से अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे है। इसमें सतना विधायक शंकरलाल तिवारी और सीधी विधायक केदारनाथ शुक्ला शामिल है। जबकि रामपुर बाघेलान से विधायक और प्रदेश के आयुष राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हर्ष नारायण सिंह को तबियत में सुधार न होने के कारण मंत्री पद पर तलवार लटक रही है।

इन मंत्रियों की हो सकती है छुट्टी
भाजपा के अंदर खाने से आ रही खबरों के मुताबिक जेल मंत्री कुसुम महदेले, खाद्य मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे, आयुष राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हर्ष नारायण सिंह और उद्यानिकी मंत्री सूर्य प्रकाश मीणा की मंत्रिमंडल से छुट्टी लगभग तय बताई जा रही है। इसमें नेताओं की उम्र और खराब परफॉर्मेंस सबसे ज्यादा बाधा आ रही है। इसमें कई मंत्री अक्सर विवादित बयान भी देते है जिससे सरकार को किरकिरी तक झेलनी पड़ती है।

ये बन सकते है मंत्री
देश की मिनी मुंबई कहे जाने वाले इंदौर और मालवा क्षेत्र को कैलाश विजयवर्गी के मंत्रीमंडल के इस्तीफे के बाद भाजपा राष्ट्रीय महासचिव बनाए जाने के बाद से अभी तक यहां से किसी को मंत्री नहीं बनाया गया है। इसलिए इंदौर के विधायक रमेश मेंदोला, सुदर्शन गुप्ता का मंत्री बनना लगभग तय है। वहीं मालवा क्षेत्र से यषपाल सिंह सिसोंधिया, ओमप्रकाष सकलेचा और रंजना बघेल का नाम भी सबसे आगे चल रहा है।

इन नामों पर चल रही चर्चा
२००३ और २००९ के मंत्रिमंडल में शामिल इन्दौर विधायक महेन्द्र हार्डिया का दावा भी सबसे ज्यादा मजबूत है। वहीं विंध्य के सतना से दिग्गज नेता शंकरलाल तिवारी, सीधी के केदारनाथ शुक्ला, शहड़ोल क्षेत्र से मीना सिंह, जय सिंह मरावी, और चंबल से अशोक नगर विधायक गोपीलाल जाटव, महाकौशल क्षेत्र से संजय शर्मा और रामप्यारे कुलस्ते के नामों पर चर्चा हुई है।

Ad Block is Banned