खेल-खेल में सेप्टिक टैंक के अंदर गिरा मासूम, मौत के लिए नपा ने रैन बसेरा में छोड़ दिया था खुला टैंक

रैन बसेरा के सेप्टिक टैंक में डूबने से मासूम की मौत, मैहर के बठिया मोहल्ले में हुआ हादसा

By: suresh mishra

Published: 22 Nov 2019, 10:59 AM IST

सतना/ नगर पालिका की उदासीनता की भेंट एक छह साल का मासूम चढ़ गया है। रैन बसेरा के खुले टैंक में डूबने से गुरुवार की दोपहर बच्चे की मौत हो गई। मैहर के बठिया मोहल्ला सरांय में हुई इस दर्दनाक घटना के बाद इलाके में सनाका खिंच गया।

पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे तो स्थानीय लोगों ने लापरवाही करने वाले अफसरों पर गुस्सा उतारते हुए कार्रवाई की मांग की। इस बीच पीडि़त परिवार और गुस्साए लोगों को शांत कराने की कवायद करते हुए शव अस्पताल रवाना कर दिया गया।

ये है मामला
मैहर के बठिया मोहल्ला सरांय में रहने वाले मजदूर प्यारे लाल उर्फ गुड्डू का छह साल का बेटा हर्ष पटेल मोहल्ले में ही खेल रहा था। वह साइकिल का टायर चला रहा था। खेल-खेल में जब उसका टायर रैन बसेरा के खुले सेप्टिक टैंक में चला गया तो बच्चे ने टायर को निकालने के कोशिश की। इस दौरान उसका पैर फिसला और वह टैंक में भरे पानी में डूब गया। आसपास के लोगों को जब तक भनक लगी तब तक बच्चे की सांस थम चुकी थी।

शिकायत पर असर नहीं
स्थानीय लोगों का कहना है कि रैन बसेरा के अलावा मोहल्ला में एेसे ही तीन गड्ढे हैं जो बच्चों की जान के लिए खतरा बने हुए हैं। इन्हें बंद करने के लिए कई दफा नगर पालिका के अधिकारियों से कहा जा चुका है। लेकिन सुनवाई अब तक नहीं हो सकी। इसी लापरवाही का नतीजा है कि एक मजदूर का मासूम बेटा काल के गाल में समा गया।

सीएमओ ने सहायता राशि दी...
यह जानकारी सामने आई है कि घटना की खबर पाते ही पुलिस के साथ तहसीलदार रमेश कोल, पटवारी देवेेन्द्र द्विवेदी मौके पर पहुंच गए थे। नगर पालिका सीएमओ अक्षत बुंदेला के संज्ञान में मामला आया तो उन्होंने 15 हजार रुपए की सहायता राशि पीडि़त परिवार को भेजी। इसके साथ ही संबंधित कर्मचारियों को निर्देश दिए गए कि खुले गड्ढों को बंद कराया जाए।

Show More
suresh mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned