कंडम वाहनों में हिचकोले खा रही जननी, सत्यापन भी नहीं कर पा रहे जिम्मेदार

कंडम वाहनों में हिचकोले खा रही जननी, सत्यापन भी नहीं कर पा रहे जिम्मेदार

Vikrant Kumar Dubey | Publish: Apr, 21 2019 07:02:01 AM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

मिलीभगत के चलते वाहनों का सत्यापन,खामियाजा भुगत रहे पीडि़ता

सतना. केंद्रीयकृत रेफरल सेवा के तहत जिलेभर में कंडम जननी एक्सप्रेस दौड़ रहे हैं। जो गर्भवती को अस्पताल पहुंचाने के पहले ही दम तोड़ रहे है। समय पर अस्पताल नहीं पहुंचने से रास्ते में प्रसव हो रहे हैं। जिले में आए दिन एेसे मामले सामने आ रहे हैं। जिसकी जानकारी स्वास्थ्य महकमे के जिम्मेदारों को भी है। लेकिन मिलीभगत के चलते वाहनों का सत्यापन तक नहीं किया जा रहा है।

मरीजों के परिवहन की व्यवस्था को मई १७ से केंद्रीयकृत की जा चुकी है। जिलेभर में १७ दीनदयाल १०८ एम्बुलेंस और १८ जननी एक्सप्रेस के संचालन का जिम्मा जिगत्सा हेल्थ केयर को सौंपा गया है। टेण्डर के बाद सेवा में लगाए गए वाहनों का सत्यापन किया जाना था। जिससे वाहनों की स्थिति और पीडि़तों को मिलने वाली आवश्यक चिकित्सा सुविधाओं का पता लगाया जा सके। लेकिन जिम्मेदार महज कागजी खानापूर्ति करने में जुटे हुए हैं।

पीडि़त हो रहे परेशान-
जिलेभर में कंडम जननी एक्सप्रेस वाहन दौड़ रहे हैं। जिसकी वजह से वाहनों का रास्ते में ही दम टूट रहा है। स्वास्थ्य मकहकमे के जिम्मेदारों को भी मामले की जानकारी है। लेकन मिलीभगत के चलते वाहनों का सत्यापन नहीं किया जा रहा है। ठेका कंपनी की मनमानी को नजरअंदाज किया जा रहा है। जिसका खामियाजा पीडि़तां को भुगतना पड़ रहा है। रेफरल सेवा भी प्रभावित हो रही है।

दो साल बाद भी नहीं बनी कमेटी-
संचालनालय के निर्देशों के मुताबिक एकीकृत रेफरल ट्रांसपोर्ट प्रणाली की समीक्षा व निगरानी के लिए कलेक्टर की अध्यक्षता में कमेटी बनायी जानी थी । टीम को प्रत्येक तीन माह में सेवा की समीक्षा और वाहनों का भौतिक सत्यापन की भी जिम्मेदारी सौंपी गई थी । इसमें जिला पुलिस अधीक्षक, ननि आयुक्त, सीएमएचओ, सीएस, अधीक्षक अग्नि शमन सेवा, सेवा प्रदाता का नामांकित प्रतिनिधी और कलेक्टर द्वारा आमंत्रित कमेटी के सदस्य को शामिल करना था। लेकिन स्वास्थ्य महकमे के जिम्मेदारों द्वारा निगरानी के नाम पर महज कागजी कोरम पूरा किया जा रहा है। जिसका खामियाजा लोगों को जान देकर चुकाना पड़ रहा है।

शीघ्र कराएंगे सत्यापन
सीएमएचओ डॉ विजय कुमार आरख ने कहा, सभी वाहनों का शीघ्र सत्यापन कराया जाएगा। जो भी वाहन मानकों के अनुरुप नहीं पाया जाएगा उन्हें हटाने के निर्देश दिए जाएंगे।

1. खाई में गिरी जननी, गर्भ में घुटा दम
जननी एक्सप्रेस वाहन मझगवां में खाई में गिर गया था। जिससे गर्भ में मासूम का दम घुट गया था। इसके अलावा वाहन में सवार गर्भवती सहित अन्य गंभीर रुप से घायल हो गए।

2. जननी हुई पंक्चर, रास्ते में प्रसव
सिविल अस्पताल मैहर से रेफर गर्भवती को जिला अस्पताल लेकर आ रही जननी एक्सप्रेस रास्ते में पंक्चर हो गई थी। जिसकी वजह से रास्ते में भी असुरक्षित प्रसव हो गया था।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned