scriptKhushi wants to empower women by becoming an IPS | आईपीएस बनकर महिलाओं को सशक्त करना चाहती है खुशी, हायर सेेकंडरी में लहराया परचम | Patrika News

आईपीएस बनकर महिलाओं को सशक्त करना चाहती है खुशी, हायर सेेकंडरी में लहराया परचम

बोर्ड परीक्षा के परिणाम शुक्रवार को घोषित हो गए। जिला कक्षा 10वीं में थर्ड डिवीजन 12वीं में फस्र्ट क्लास। हाईस्कूल परीक्षा में जिले के महज 40.58 फीसदी बच्चे उत्तीर्ण हो सके, तो हायर सेकंडरी में 61.87 फीसदी छात्रों ने बाजी मारी। इस साल जिले में हाईस्कूल परीक्षा का परिणाम निराशाजनक रहा। 12वीं में छात्रों के मुकाबले छात्राओं का प्रदर्शन ठीक रहा। सभी संकायों में उत्तीर्ण होने वाले छात्रों में लड़कियों का औसत लड़कों से अधिक रहा।

सतना

Published: April 30, 2022 03:07:01 am

सतना. अमरपाटन की खुशी पाठक ने हायर सेेकंडरी में 468 अंक प्राप्त कर प्रदेश की मेधावी सूची में 10वां स्थान बनाया है। उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय विद्यालय के शिक्षकों व माता-पिता को दिया। कहा, पापा (दिनेश पाठक) भी सरकारी शिक्षक हैं। वे हर समय पढ़ाई के लिए प्रेरित करते रहते थे। स्कूल शिक्षकों का भी भरपूर मार्गदर्शन मिला। कोविड काल का कुछ वक्त छोड़ दें तो पढ़ाई में किसी प्रकार की समस्या नहीं हुई। मैंने पढ़ाई को कभी बोझ नहीं माना। जितना समय मिला पूरा फोकस किया। चैप्टर को रटने की बजाय समसामयिक मुद्दों से रिलेटकर उन्हें समझने की कोशिश की ताकि लंबे समय तक याद रह सके। परीक्षा के ठीक पहले भाई का निधन हो गया था, अन्यथा रिजल्ट और बेहतर होता। पत्रिका से चर्चा में बताया कि आगे आईपीएस अधिकारी बनकर महिलाओं को सशक्त बनाना है। संवैधानिक रूप से तो महिलाओं को बराबरी का हक है, लेकिन पुरुष प्रधान समाज में उन्हें वह महत्व नहीं मिलता। मैं इस व्यवस्था में बदलाव चाहती हूं। बीएचयू के इंट्रेंस एग्जाम की तैयारी कर रही हूं। यूपीएससी की तैयारी भी शुरू कर दी है।
Khushi wants to empower women by becoming an IPS
Khushi wants to empower women by becoming an IPS
सिविल सर्विसेज में जाना चाहती है रक्षा
मैहर की रक्षा तिवारी ने हाईस्कूल परीक्षा में 489 अंक पाकर अपनी प्रतिभा का परचम पूरे प्रदेश में लहराया। प्रदेश की प्रवीण्य सूची में उन्हें आठवां स्थान मिला है। रक्षा ने अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता व विद्यालय के शिक्षकों को दिया है। मैहर के ब्लू बैल्स हाईस्कूल में अध्यनरत रक्षा का सपना आइएएस बनने का है। बताया कि वह इसके लिए अभी से कड़ी मेहनत करेगी। आगे की पढ़ाई कला संकाय से करना चाहती है। बताया कि पिता भरतभूषण तिवारी केजेएस सीमेंट में असिसटेंट मैनेजर व मां ग्रहणी हैं। माता-पिता के अलावा बड़ा भाई भी पढ़ाई में भरपूर मदद करता था। कोविड संकट के चलते विद्यालय की पढ़ाई प्रभावित हुई, लेकिन घर में प्रतिदिन 6 से 8 घंटे पढ़ाई करती थी। परीक्षा से पहले तो कुछ समय के लिए ही उठती थी। ज्यादा से ज्यादा समय अपनी पढ़ाई में लगाया। मंैने दूसरी या तीसरी रैंक के बारे सोचा था, लेकिन कहीं कुछ कमी रह गई होगी। अन्य छात्रों को संदेश दिया कि सच्चे मन से चाहें और मेहनत करें तो कोई भी लक्ष्य असंभव नहीं है। पूरे समर्पण के साथ मेहनत करेंगे तो सफलता जरूर मिलेगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

द्वारकाधीश मंदिर में पूजा के साथ आज शुरू होगा BJP का मिशन गुजरात, मोदी के साथ-साथ अमित शाह भी पहुंच रहेRajasthan: एंटी करप्शन ब्यूरो की सक्रियता से टेंशन में Gehlot Govt, अब केंद्र की तरह जांच से पहले लेनी होगी अनुमतिVIP कल्चर पर पंजाब की मान सरकार का एक और वार, 424 वीआईपी को दी रही सुरक्षा व्यवस्था की खत्मओडिशा में "भ्रूण लिंग" जांच गिरोह का भंडाफोड़, 13 गिरफ्तारमां की खराब तबीयत के बावजूद बल्लेबाजों पर कहर बनकर टूटे ओबेड मैकॉय, संगकारा ने जमकर की तारीफRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चदिल्ली में डबल मर्डर से सनसनी! एक की चाकू से गोदकर हत्या, दूसरे को गोली मारीEncounter In Ghaziabad: बदमाशों पर कहर बनकर टूटी पुलिस, एक रात में दो इनामी अभियुक्तों को किया ढेर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.