coronavirus: सतना डिपो में कम पड़ी जगह, खाली रीवा आनंद विहार भेजी दिल्ली

पचास गॉर्ड में सिर्फ एक की ड्यूटी

 

By: Pushpendra pandey

Published: 27 Mar 2020, 01:30 PM IST

सतना. कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए देशभर में यात्री गाड़ियों के परिचालन में रोक लगने से सतना रेलवे स्टेशन में भी बीते तीन दिनों से सन्नाटा पसरा है। आलम यह है कि सोमवार की रात एर्नाकुलम पटना ट्रैन जाने के बाद यहां बंद हुई यात्री गतिविधियों के चलते हर तरफ वीरानी छाई है। बताया गया कि ट्रेनों का परिचालन २३ मार्च से पूरी तरह बंद होने के बाद चार गाड़िया और कई इंजन सतना डिपो में खड़े कराए गए थे। मंगलवार को स्टेशन प्रबंधन ने मंडल के निर्देश पर रीवा आनंद विहार ट्रेन को दिल्ली भेज दिया। इसके अलावा तीन गाड़िया और जबलपुर भेजी गयीं। सतना डिपो के ज्यादातर ड्राइवर और गार्ड रनिंग रूम में आराम कर रहे हैं। मंगलवार को यहाँ पचास गार्डो में से सिर्फ एक का ही डयूटी के लिए नंबर आया। बताया गया कि इटारसी जा रही मालगाड़ी में सतना से एक गार्ड लगाया गया।

60 रेल कर्मी घर से निपटा रहे काम

कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर रेलवे में भी अधिकारियों व कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम की सुविधा दी गयी है। स्टेशन में कार्यरत 60 अधिकारी कर्मचारी घरों से फ़ोन और लिखा पढ़ी के जरिये काम निपटा रहे हैं। इतने बड़े स्टेशन में अब सिर्फ लॉबी, आरपीएफ, जीआरपी और उप स्टेशन प्रबंधक के कार्यालय बस खुले हुए हैं। उधर , यार्ड में इंजन खड़े होने से वहाँ थोड़ी चहल पहल है।

रेल पुलिस में सिर्फ लिखा पढ़ी

ट्रेनों का संचालन बंद होने से आरपीएफ और जीआरपी का काफी वर्क लोड कम हो गया है। दोनों चौकियों में कम लोग नज़र आते है। बताया गया कि रेल पुलिस पुराने मामलों की लिखा पढ़ी करने में व्यस्त है। लॉक डाउन के चलते आरपीएफ स्टेशन परिसर और लाइन की गस्ती में भी लगी हुई है। मंगलवार को स्टेशन परिसर में घूम रहे लोगो को आरपीएफ ने समझाईस देकर भगाया।

Pushpendra pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned