बैंक खाते में वेतन आते ही हुआ कुछ ऐसा उड़ गए मंडी कर्मचारियों के होश

बैंक खाते में वेतन आते ही हुआ कुछ ऐसा उड़ गए मंडी कर्मचारियों के होश
Mandi employees enraged by salary cuts surrounded the secretary

Sukhendra Mishra | Updated: 23 Aug 2019, 11:56:47 PM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

वेतन कटौती से भड़के मंडी कर्मचारियों ने सचिव को घेरा

सतना. 15 दिन से वेतन की राह देख रहे कृषि उपज मंडी सतना के कर्मचारियों के मोबाइल में गुरुवार को जैसे ही बैंक का मैसेज आया उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। लेकिन, मैसेज पढ़ते ही कर्मचारियों के चेहरे से अचानक खुशी के भाव गायब हो गए। किसी का वेतन ५ हजार कम आया तो किसी का 10 हजार। 15 दिन के इंतजार के बाद आधा-अधूरा वेतन पाकर भड़के कर्मचारी सीधे मंडी सचिव आलोक वर्मा के पास पहुंचे और कटौती का कारण पूछा। सचिव ने कहा कि इस बार की सैलरी बायोमीट्रिक मशीन से बनी है। जिसने जितने दिन मशीन में हाजिरी लगाई है उतने दिन की वेतन मिली है। इसमें मैं कुछ नहीं कर सकता। इतना सुनते ही कर्मचारी भड़क गए। कहा, पूरे एक माह काम किया है तो पूरी वेतन लेंगे। बायोमीट्रिक मशीन एक साल से लगी है। आज तक वेतन क्यों नहीं कटा, इसका जवाब चाहिए। इस दौरान कर्मचारी और सचिव के बीच तनातनी भी हुई। वेतन कटौती से भड़के कर्मचारियों ने सचिव एवं लिपिक पर मनमानी का आरोप लगाते हुए जमकर हो हल्ला मचाया।

70 फीसदी कर्मचारियों का कटा वेतन
मडी सूत्रों ने बताया कि जुलाई माह का वेतन बायोमीट्रिक मशीन की उपस्थिति पंजी के अनुसार बनाया गया है। मशीन अटेंडेंस में मंडी के 70 फीसदी कर्मचारी 5-10 दिन ड्यूटी से अनुपस्थित रहे। कर्मचारियों ने कहा कि उन्होंने मंडी के उपस्थिति रजिस्टर में हाजिरी लगाई थी। इसलिए बायोमीट्रिक मशीन से ली गई उपस्थित का रजिस्टर से मिलान करना चाहिए, लेकिन वेतन बनाने में लिपिक द्वारा मनामनी की गई। कर्मचारियों का आक्रोश देख सचिव बैकफुट पर आ गए और जिन कर्मचारियों का वेतन कटा है उनके लिखित आवेदन मांगते हुए जांच कराने का आश्वासन दिया।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned