एक गांव जहां ऐसी दावत हुई जिसके बारे में आपने पहले कभी नहीं सुना होगा

पालतू डॉगी ने पांच बच्चों को जन्म दिया तो 12 गांव के लोगों को दावत पर बुलाया, डीजे पर जमकर डांस भी हुआ..

By: Shailendra Sharma

Published: 28 Jan 2021, 07:48 PM IST

सतना. आपने बच्चों के जन्म पर दावत के किस्से तो खूब सुने होंगे लेकिन क्या कभी किसी पालतू डॉगी के बच्चों को जन्म देने पर दावत के बारे में सुना होगा। जी हां ये सच है और ये मामला सतनाज जिले का। जहां खोही गांव में जूली (पालतू डॉगी) के पांच बच्चों को जन्म देने पर पूरा गांव जश्न में डूब गया और एक दो नहीं बल्कि 12 गांव के हजारों लोगों की दावत का आयोजन किया गया।

 

card.jpg

दावत के लिए छपवाए आमंत्रण कार्ड
पालतू डॉगी जूली के 5 बच्चों को जन्म देने की खुशी में पूरा गांव शामिल था। बकायदा निमंत्रण पत्र छपवाए गए जिसमें लिखा गया कि श्री कामतानाथ महाराज जी की असीम अनुकंपा से हमारी प्यारी जूली को पांच पुत्ररत्नों की प्राप्ति हुई है आप सभी दावत के लिए आमंत्रित हैं। निमंत्रण पत्र एक दो नहीं बल्कि आसपास के 12 गांवों में बांटे गए और फिर 26 जनवरी को दावत का आयोजन हुआ। कार्यक्रम के दौरान पड़ोसी गांव संग्रामपुर से देवरी पीड़ा लेकर लोग खोही गांव पहुंचे। बैंड बाजे और घोड़े के साथ पहुंचे लोगों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम व स्वल्पाहार व भोजन की व्यवस्था का आनंद लिया। डीजे बजाया गया जिस पर जमकर डांस हुआ । इसके बाद पालतू डॉगी जूली के पांचों नवजात पिल्लों को शुभआशीष देने का सिलसिला भी चला।

 

dawat.jpg

कार्यक्रम के पीछे किवदंती
पालतू डॉगी के बच्चों को जन्म देने पर दावत और सांस्कृतिक कार्यक्रम किए जाने के पीछे गांव की एक अनोखी किवदंती है। गांव वालों का कहना है कि एक बार इलाके में भारी अकाल पड़ा था और तब गांव के श्वानों ने भगवान गैबीनाथ से प्रार्थना की थी और तब कहीं जाकर अकाल खत्म हुआ था और तभी से गांव में कुत्तों से बेहद प्यार किया जाता है। पांच बच्चों को जन्म देने वाली पालतू डॉगी जूली गांव के मुस्तफा खान के घर पर रहती है और पूरे कार्यक्रम का आयोजन मुस्तफा खान व उमेश पटेल ने कराया।

देखें वीडियो- तिरंगे का अपमान बर्दाश्त नहीं होगा- वीडी शर्मा

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned