script38 करोड़ रुपए के नवीन एनीकट पर एमआईसी की मुहर | MIC's approval on Rs 38 crore VBR Anicut | Patrika News
सतना

38 करोड़ रुपए के नवीन एनीकट पर एमआईसी की मुहर

मेयर इन काउंसिल की बैठक: रमाकांत के लिए अभियोजन स्वीकृति, एसडी और दिलीप की ज्वाइनिंग पर ‘ना’

सतनाJun 29, 2024 / 01:17 pm

Ramashankar Sharma

mic satna
सतना। अमृत 2 के तहत 38 करोड़ रुपए के प्रस्तावित नवीन एनीकट पर मेयर इन काॅउंसिल ने अपनी स्वीकृति की मुहर लगाते हुए प्रस्ताव राज्य शासन को भेज दिया है। इसके साथ ही कई निर्माण कार्यों को स्वीकृति दी गई। बैठक में दो कर्मचारियों को वापस काम पर रखे जाने के अरमानों पर पानी भी फिर गया। बैठक की अध्यक्षता महापौर योगेश ताम्रकार ने की। निगमायुक्त शेर सिंह मीना सहित एमआईसी सदस्य और अधिकारी मौजूद रहे।
सतना नदी में बनेगा नया एनीकट

एमआइसी की बैठक में शुक्रवार को अमृत 2 के तहत प्रस्तावित नवीन एनीकट का मामला रखा गया। यह एनीकट रेलवे लाइन के पश्चिमी हिस्से को पेयजल की सुचारू व्यवस्था के लिए बड़ी राहत देगा। बैठक में बताया गया कि 38.22 करोड़ रुपए की लागत से सतना नदी में आदित्य कालेज के पीछे नया एनीकट बनाया जाएगा। इस प्रोजेक्ट को स्टेट लेबल टेक्निकल कमेटी से स्वीकृति मिल चुकी है। अब अंशदान के लिए नगर निगम को भेजा गया है। इसमें लगभग 27 करोड़ रुपए शासन देगा, 3 करोड़ रुपए का अंशदान नगर निगम मिलाएगा और 8.22 करोड़ रुपए 15वें वित्त से जारी किए जाएंगे। प्रोजेक्ट में एनीकट के साथ फिल्टर प्लांट, पाइप लाइन सहित तीन उच्च स्तरीय टंकिया बनाई जाएंगी। एमआईसी में इस प्रोजेक्ट के लिए अंशदान की स्वीकृति देते हुए प्रस्ताव शासन को भेजने का निर्णय लिया गया।
उपायुक्त का प्रस्ताव वापस

बैठक में निगम के पूर्व कार्मिक एसडी पाण्डेय को उपायुक्त पद पर संविदा नियुक्ति देने का प्रस्ताव नगर निगम से भेजा गया था। राज्य शासन ने इस प्रस्ताव की पुष्टि करते हुए निगम को वापस भेज दिया था, लेकिन इसी बीच पाण्डेय पर राज्य आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो द्वारा निर्माण कार्य में भ्रष्टाचार को लेकर एफआइआर दर्ज कर ली गई। लिहाजा एमआईसी ने निर्णय लिया कि इस स्थिति के बाद पाण्डेय को संविदा नियुक्ति देना उचित नहीं है। लिहाजा उनकी नियुक्ति पर रोक लगाते हुए इससे शासन को अवगत कराने का निर्णय लिया गया।
नहीं मिली सेवा वृद्धि

नगर निगम के फिल्टर प्लांट के कर्मचारी दिलीप खरे को सेवानिवृत्ति के बाद इस आधार पर मस्टर में सेवा पर रखा गया था कि वे छह माह में यहां की व्यवस्थाओं से अन्य संबंधितों को जानकारी देते हुए ट्रेण्ड कर देंगे। यह अवधि समाप्त होने पर सेवा वृद्धि का प्रस्ताव था, जिसे एमआईसी ने खारिज कर दिया। इसी तरह से तत्कालीन नगर निगम अतिक्रमण दस्ता प्रभारी रमाकांत शुक्ला पर आय से अधिक संपत्ति के मामले में अभियोजन की स्वीकृति जारी कर दी गई है।
इन प्रस्तावों को स्वीकृति

जोन-2 में सीवर लाइन लेइंग रोड रेस्टोरेशन के लिए 2.30 की निविदा को स्वीकृति दी गई। इसी तरह से कोठी रोड एवं हेलमेट तिराहा से सिविल लाइन चौराहा तक 2.92 करोड़ की निविदा, वार्ड क्रमांक 12 से 22 के लिए 96.15 लाख की निविदा, वार्ड 23 के विभिन्न स्थानों के लिए 16.08 लाख के रोड लेइंग सहित रेस्टोरेशन की निविदा को स्वीकृति दी गई। रजहा तालाब उन्नयन सह सौंदर्यीकरण के दो संविदाकारों की निविदा आयोग्य होने पर निविदा निरस्त कर नई निविदा आमंत्रित करने का निर्णय लिया गया।
समय वृद्धि दी गई

सीवरेज घटक के कार्य को पूर्ण करने संविदाकार पीसी स्नेहल कंस्ट्रक्सन को 30 अक्टूबर तक पेनाल्टी के साथ समय वृद्धि दी गई। नगर निगम द्वितीय तल का काम कर रहे संविदाकार को भी समय वृद्धि दी गई।
ये बने ब्रांड एम्बेसडर

स्वच्छता सर्वेक्षण-2024 के लिए निगम क्षेत्रांतर्गत शासकीय स्वसाशी महाविद्यालय की प्राध्यापक क्रांति मिश्रा, अर्जुन पुरस्कार विजेता एवं पर्वतारोही रत्नेश पाण्डेय, राष्ट्रपति पुरस्कार विजेता अर्चना कुशवाहा एवं अम्बुज सिंह, कृपा मिश्रा को ब्रांड एम्बेसडर बनाने की स्वीकृति दी गई। विभिन्न शाखाओं के मस्टर श्रमिकों के अवधि वृद्धि प्रस्ताव को स्वीकृति दी गई।

Hindi News/ Satna / 38 करोड़ रुपए के नवीन एनीकट पर एमआईसी की मुहर

ट्रेंडिंग वीडियो