धरती के भगवान कहे जाने वालों का कारनाम जान दंग रह जाएंगे

-11 महिलाओं को अचेत तो किया पर आपरेशन नहीं

By: Ajay Chaturvedi

Published: 13 Nov 2020, 06:59 PM IST

सतना. हद है लापरवाही की, जिन्हें हर आम और खास धरती का देवता की संज्ञा देता है वो कभी-कभी असंवेदनशीलता की सारी सीमाओं को लांघ जाते हैं। मानवता को तार-तार करने जैसा होता है उनका कृत्य। ऐसा ही कुछ सतना के इस सरकारी अस्पताल में हुआ। यहां नसबंदी के लिए 21 महिलाओं को लाया गया। लेकिन डॉक्टरों ने उनमें से 11 को इंजेक्शन दे कर अचेत तो किया पर आपरेशन नहीं। वो महिलाएं अचेतावस्था में यूं ही फर्श पर पडी रहीं।

घटना रामपुर बाघेलान स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की है, जहां नसबंदी के लिए लाई गई 21 में से 11 महिलाओं को बेहोशी का इंजेक्शन तो दिया गया पर ऑपरेशन नहीं किया गया। ऐसे में ये महिलाएं अस्पताल में यहां-वहां दीवार के सहारे फर्स में पड़ी रहीं। इतना ही महिलाओं के परिजनों से कहा गया कि महिलाओं को घर ले जाएं। सवाल ये कि जब आपरेशन नहीं करना था तो अचेत होने का इंजेक्शऩ क्यों दिया गया।

इस घटना को जिसने भी सुना सभी ने कड़ी आलोचना की। साथ ही जिम्मेदार दोषी डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। वैसे घटना की जानकारी होते ही कलेक्टर अजय कटेसरिया ने मुख्य चिकित्सा और स्वास्थ्य अधिकारी को जांच कर कार्रवाई का निर्देश दिया है।

घटना की बाबत बताया जा रहा है कि रामपुर बघेलान तहसील स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में नसबंदी शिविर लगाया गया था जहां 21 महिलाओं को परिवार नियोजन कार्यक्रम के तहत बुलाया गया था। डॉक्टरों ने 21 में केवल 10 महिलाओं का ऑपरेशन किया फिर हाथ खड़े कर दिए।

बताया जा रहा है कि ऑपरेशन करने के लिए सरदार वल्लभ भाई पटेल जिला चिकित्सालय सतना से सर्जन डॉ एमएम पांडेय को भेजा गया था। लेकिन 10 ऑपरेशन के बाद ही वो वापस सतना मुख्यालय चले गए और बेहोशी का इंजेक्शन लगाकर महिलाओं को फर्श पर पर छोड़ दिया। सामुदायिक केंद्र में न कोई स्टाफ था और न कोई और डॉक्टर।

मामला बढ़ने पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एके अवधिया ने कलेक्टर के निर्देश पर एलटीटी सर्जन एमएम पांडेय को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है। उनसे 24 घंटे के अंदर जवाब मांगा गया है। इसके साथ ही एसडीएम रामपुर की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय जांच टीम गठित कर दी गई है जो कि तीन दिन में अपनी जांच रिपोर्ट पेश करेगी।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned