इस गांव में लगे सड़क नहीं तो वोट नहीं के पोस्टर, लोगों ने किया मतदान का बहिस्कार

सड़क खुलवाने के आश्वासन के बाद विधानसभा चुनाव में किया था मतदान

By: Sukhendra Mishra

Published: 10 Apr 2019, 07:05 AM IST

सतना. ताला थाना क्षेत्र की इटमा ग्र्राम पंचायत के गांव धतुई में सड़क किनारे और दीवारों पर लगे 'सड़क नहीं तो वोट नहींÓ के पोस्टर गांव के मतदाताओं की नाराजगी बयां कर रहे हैं। धतुई के रहवासियों ने जिला निर्वाचन अधिकारी के सामने अपनी समस्या रखते हुए निराकरण न होने पर लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करने की चेतावनी दी है। कलेक्टर को सौंपे आवेदन में ग्रामीणों ने बताया कि उनके गांव में आजादी के 72 साल बाद भी सड़क नहीं बनी।

गांव की जनता आज भी पगडंडियों पर चलने को मजबूर है। गांव में सड़क पर कहीं कहीं दंबग परिवारों ने अतिक्रमण कर लिया है। रास्ता खुलवाने के लिए कई बार शासन-प्रशासन से गुहार लगाई पर आज तक कोई सुनवाई नहीं हुई। इससे परेशान होकर विधानसभा-2018 में ग्रामीणों ने सड़क के लिए मतदान का बहिष्कार कर दिया था। इसकी जानकारी लगते ही एसडीएम पुलिस प्रशासन के साथ मौके पर पहुंचे थे। सड़क का सीमांकन कराते हुए उसमें पत्थर गड़वा दिए थे। तब प्रशासन ने चुनाव समाप्त होने के बाद सड़क का अतिक्रमण हटाकर पक्की सड़क बनवाने का आश्वासन दिया था।

प्रशासन की इस पहल पर ग्रामीणों ने विधानसभा चुनाव में मतदान किया। लेकिन मतदान होने के बाद प्रशासन धतुई गांव की सड़क खुलवाना तो दूर गांव की ओर किसी अधिकारी ने मुड़कर नहीं देखा। अधिकारियों पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए ग्रामीणों ने एक बार फिर सड़क के लिए लोकसभा चुनाव का बहिष्कार करने का निर्णय लिया है।

Sukhendra Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned