अमरपाटन में हडक़म्प की बनी रही स्थिति...पुलिस अफसर की मौजूदगी में जलाए गए नोट

बाइक सवारों ने सडक़ पर फेंके नोट, कोरोना के डर से जलाए

By: Pushpendra pandey

Published: 18 Apr 2020, 07:29 PM IST

सतना. अमरपाटन कस्बे में उस वक्त हडक़म्प की स्थिति बन गई, जब बाइक सवार पुरुष व महिला १० और २० के नोट फेंकते देखे गए। घटना की जानकारी कस्बे में फैली तो हडक़म्प की स्थिति बन गई। सडक़ पर फेंके गए इस नोट में धार्मिक शब्द लिखे थे। इस कारण लोगों को आशंका थी कि कोरोना फैलाने के लिए बाइक सवार ने ऐसा किया है। भय व दहशत का महौल देख मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी ने इस नोट को जलवा दिया। हालांकि, विधिक जानकार इसे अपराध बता रहे हैं। जानकारी के अनुसार, शाम को तेज रफ्तार बाइक से गुजरे महिला व पुरुष ने कुछ जगह नोट फेंके थे। लोगों ने देखा तो डर गए। कुछ लोग नोट के पास पहुंचे और गौर से देखा तो पता चला कि धार्मिक शब्द लिखे हैं। इससे दहशत और फैलने लगी। २० की नोट पाने वाले व्यापारी भी दहशत में आ गया। लोगों ने इसकी सूचना थाना प्रभारी को दी, जिस पर वे मौके पर पहुंचे और नोट जलाने को कहा। व्यापारी ने नोट जला दिए। इसके बाद पता चला कि लालपुर में भी १० का नोट सडक़ पर मिला है। एक लडक़ी अपना बताते हुए नोट उठा ले गई। यहीं से कुछ दूरी पर भी १०-१० के नोट मिले। जानकारी मिलने पर थाना प्रभारी भी वहां पहुंचे और लोगों को समझाइश दी। कुछ लोग इस घटनक्रम को कोरोना फैलाने की साजिश बता रहे हैं। उनका कहना है कि अन्य जिलों में भी इस तरह की हरकत सामने आ चुकी हैंं। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए टीआई ने यहां भी नोटों को जलवा दिया।

यह आपराधिक कृत्य
इस मामले में अधिवक्ता हर्ष तिवारी ने कहा कि किसी भी शासकीय मुद्रा को बिना विधिवत परीक्षण के तय प्रक्रिया के विपरीत जलाया जाना अपराध की श्रेणी में आता है। अगर कोई शासकीय सेवक ऐसा करता है तो यह और गंभीर है।

किसी ने नोट फेंकते हुए नहीं देखा। काफी मुड़ा हुआ नोट था। ऐसा लग रहा था कि किसी से यह नोट गिर गया है। लेकिन सडक़ पर पड़े २० के नोट को देख लोगों में दहशत भर गई थी। रियूमर भी फैलने लगा था। उसे नष्ट कर दिया गया।
राजेन्द्र मिश्रा, थाना प्रभारी

Pushpendra pandey Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned