ऐसा भी- दो दिन से तेल उगल रहे पौराणिक टोला के नल

एनीकट फुल फिर भी जनता को नहीं मिल रही दूषित पानी से निजाद

By: Sukhendra Mishra

Published: 16 May 2020, 12:29 AM IST

सतना. गर्मी आते ही शहर में पानी की मांग बढ़ी तो निगम प्रशासन की जलापूर्ति व्यवस्था लड़खड़ाने लगी है। शहर के वार्ड क्र.4 स्थित पौराणिक टोला में पाइप लाइन से सप्लाई में पानी के साथ जला आयल भी पहुंच रहा है। कालोनी में दो दिन से तेल की दुर्गंध वाले दूषित पानी की सप्लाई से जतना परेशान है। स्थानीय लोगों ने बताया की बुधवार को सप्लाई में एक घंटे तक काला पानी आया। पानी में जले आयल एवं डीजल मिक्स होने की दुर्गध आ रही है। इसकी शिकायत लोगों ने नगर निगम में की। लेकिन गुरुवार को लगातार दूसरे दिन भी दूषित पानी की आपूर्ति जारी रही।
किसी काम का नहीं सप्लाई का पानी
दूषित जलापूर्ति से परेशान लोगों ने बताया की सप्लाई में नलों से इतना दूषित पानी आ रहा है कि उससे हाथ धोना मुश्किल है। जिस वर्तन में पानी भरते हैं। उसमें जला आयल चिपक जाता है। इससे परेशान होकर लोगों ने सप्लाई के पानी का उपयोग बंद कर दिया है। स्थानीय रहवासी दूसरी कालोनी और घरों से पानी लेकर काम चला हरे हैं।
ठेका एजेंसी शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने में नाकाम
शहर में रेलवे लाइन के पश्चिमी भाग में जलावद्र्धन योजना के तहत नए फिल्टर प्लांट से पानी की सप्लाई हो रही है। यहां के १३ वार्डो में पेयजल उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी जलावद्र्धन योजना का कार्य करने वाली ठेका एजेंसी की है। लेकिन वह विगत चार माह से कालोनियों में शुद्ध पोयजल आपूर्ति में नाकाम रही है। सप्लाई में किसी दिन सीवर का पानी तो, कभी कीड़े आने शिकायते आए दिन मिल रही थी। अब दो दिन से कालोनियों में पहुंच रहा तेल मिला पानी जलापूर्ति व्यवस्था की पोल खोल रहा है। एनीकट फुल होने के बावजदू कालोनियों में दूषित पानी की सप्लाई निगम प्रशासन की जलापूर्ति पर सवाल खड़ा कर रही हैं।

Sukhendra Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned