मोदी के जन्मदिन पर दिग्विजय ने कसा तंज, कहा-भगवान उनको सद्बुद्धि दे

suresh mishra

Publish: Sep, 17 2017 02:10:31 (IST) | Updated: Sep, 17 2017 03:42:12 (IST)

Satna, Madhya Pradesh, India
मोदी के जन्मदिन पर दिग्विजय ने कसा तंज, कहा-भगवान उनको सद्बुद्धि दे

मोदी सिर्फ इवेंट तैयार करते हैं, प्रचारित करने के बाद भूलकर नए इवेंट की ओर फिर ले जाते है: दिग्विजय

सतना। अल्प प्रवास पर मध्यप्रदेश के सतना शहर पहुंचे प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्रदिग्विजय सिंह ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिन पर तंज कसते हुए कहा कि मोदी सिर्फ इवेंट तैयार करते हैं, प्रचारित करने के बाद भूलकर नए इवेंट की ओर फिर ले जाते है। भगवान उनको सद्धबुत्रि दें। आज तक जितने निर्णय उन्होंने लिए है सब गलत हुए हैं उन्हें अब सुधारने का वो प्रयास करें। तभी देश में कुछ हो सकता है।

आज ही हमारे प्रदेश के पूर्व विधानसभा अध्यक्ष श्रीनिवास तिवारीजी का भी जन्मदिन है उनको मैं हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं। कहा पूरी भाजपा और मोदीजी की जो टोलआर्मी है वो 24 घंटे राहुलजी को बदनाम करने में लगी रहती है। फिर भी देश में कुछ सुधार नहीं दिख रहा है।

हमारे लिए हर दिन सेवा दिवस
कांग्रेस पार्टी के अंदर हो रहे भितरघात पर उन्होंने कहा कि हमारे लिए हर दिन सेवा दिवस है। अब हमारे प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अरुण यादव हैं, नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल हैं। और नए महामंत्री दीपक बावरिया बने हैं। ये सब लोग रणनीति बनाएंगे। जहां तक मेरा प्रश्न है कांग्रेस पार्टी के लिए तो मेरा पूरा जीवन समर्पित है। जीवन में मैं दो चीजों से कभी समझौता नहीं करता। एक कांग्रेस व उसकी विचारधारा और दूसरी मेरी प्रतिबद्धता नेहरू-गांधी परिवार के प्रति।

शिवराज का तुगलकी आदेश
दिग्गी ने शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि, शिक्षकों से शौचालय के लिए गड्डे खोदवाना, पूरे शिक्षा जगत की तौहीन है। आप समझ सकते कि शिक्षा का जो गिरता हुआ स्तर मध्यप्रदेश में है उसे और कहां ले आना चाहते हैं। पहली बात तो ये है कि आज रविवार है, आज रविवार के दिन भी बच्चों को स्कूल भेजने का कार्यक्रम रखे गए हैं। ये सब इसलिए क्योंकि भारत के प्रधानमंत्री का आज जन्मदिन है। मैं इतना ही कहूंगा कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री आप सरकारी स्कूलों में चल रही शिक्षा का स्तर सुधारिए। तभी प्रदेश का बेढ़ा पार होगा।

सतना से रीवा रवाना
कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव एवं राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह रविवार को सुबह महाकौशल ट्रेन से सतना पहुंचे। जहां पार्टी के कार्यकतार्ओं ने गाजे-बाजे के साथ स्वागत किया। इसके बाद सर्किट हाउस में पत्रकारवार्ता कर पूर्व सीएम रीवा के लिए रवाना हो गए। गौरतलब है कि पूर्व विस अध्यक्ष श्रीनिवास तिवारी का ९२वां जन्मदिन कांग्रेस पार्टी गर्भजोशी के साथ मना रही है। जहां प्रदेशभर के जिग्गज नेता एकत्र हुए है।

चौहान ने नहीं की कोई नर्मदा यात्रा
दिग्विजय ने शिवराज की नर्मदा यात्रा पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने कोई यात्रा नहीं की थी। बस में एक कलश को लेकर घुमाया था और उसमें भी वो नहीं बैठे थे। ये केवल पब्लिक मीटिंग करते थे। सैकड़ों करोड़ रुपए सरकारी धन का दुरुपयोग कर लोगों को केवल मूर्ख बनाया गया। मेरी जो नर्मदा परिक्रमा है वो धार्मिक और आध्यात्मिक है। उसका राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है। सीएम को उन्होंने घोषणावीर बताते हुए कहा कि एक भी घोषणा उनकी पूरी नहीं हुई है। साढ़े चार सौ से ज्यादा घोषणाएं तो अखबारों में छप चुकी हैं।

मोदीजी का हमेशा एक ऐसा झूठ
मोदीजी हमेशा एक ऐसा झूठ बोलते हैं जिसका स्पष्टीकरण देना आवश्यक हो जाता है। उन्होंने कहा था पंडित जवाहरलाल नेहरू ने इस सरदार सरोवर का शिलान्यास किया था। लेकिन तथ्य ये है कि तब सरदार सरोवर का जो स्थल है वो केवल गुजरात राज्य अपना बांध बनाना चाहता था। उसके बाद गुजरात ट्रिब्यूनल ने 1979 में ये बांध बनाने के लिए नर्मदा ट्रिब्यूनल का एवार्ड आया जिसे मोरारजी देसाई प्रधानमंत्री थे, सखलेचा जी यहां मुख्यमंत्री थे उन्होंने ट्रिब्यूनल एवार्ड को स्वीकार किया।

मध्य प्रदेश के हितों के विपरीत
हालांकि ट्रिब्यूनल एवार्ड पूरे तरीके से मध्य प्रदेश के हितों के विपरीत था। 1987 में इसे इनवायरमेंट क्लिरियन्स मिला। बांध बनने की प्रक्रिया 87-88 के बाद शुरू हुई और उसमें अगर विलम्ब हुआ है तो गुजरात की तरफ से हुआ है। सरदार सरोवर बांध बन जाने के बावजूद गुजरात में केवल 30 प्रतिशत नहरें बन पाई हैं, बाकी नहरें नहीं बन पाई। अभी जितने पानी की उपयोगिता है उतना वहां मौजूद है। लेकिन गेट बंद कर दिए गए हैं और इंदिरा सागर से पानी छोड़ दिया गया है। लेवल 129 मीटर पर आ चुका है।

गले-गले तक लोग पानी में खड़े
पानी गांव में घुसने लगा है मेधा पाटकर और नर्मदा बचाओ आंदोलन जल सत्याग्रह कर रहे हैं। कल गले-गले तक लोग पानी में खड़े थे। आज भी खड़े हैं, अभी भी खड़े हैं। मैं यही कहूंगा एक तरफ सरदार सरोवर पर नरेंद्र मोदीजी अपना जन्मदिन मना रहे होंगे आयोजन कर रहे होंगे, दूसरी तरफ मध्य प्रदेश के लोग गले-गले डूब रहे हैं उनको बचाने के लिए कोई नहीं है।

अभी भी लोगों की बसाहट पूरी नहीं
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक बार भी डूबे हुए व्यक्तियों की जो दुविधा है वो सुनने के लिए उनके पास समय नहीं था। अभी भी लोगों की बसाहट पूरी नहीं हुई है, पुनर्वास पूरा नहीं हुआ है। हम उसका विरोध करते हैं और मुख्यमंत्री जी से कहते हैं कि तत्काल वे प्रधामंत्रीजी से कहें कि लेवल न बढऩे दें गुजरात को तो आवश्यकता ही नहीं है। केवल वो उनके उद्योगपतियों को पानी देने के लिए मध्यप्रदेश के लोगों को डूबा रहे हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned