MP के इन 5 गांवों में फेल्सीफेरम का प्रकोप, 3 पॉजिटिव मिले, 42 मरीजों में पाया गया बुखार

आधा दर्जन गांवों में 42 बुखार से पीडि़त, 3 फेल्सीफेरम पॉजिटिव, परसमनिया पहुंची स्वास्थ्य महकमे की टीम

By: suresh mishra

Published: 24 Jul 2018, 02:05 PM IST

सतना। परसमनिया के पांच गांवों में फेल्सीफेरम के प्रकोप की जानकारी मिलते ही स्वास्थ्य महकमे के हाथ-पैरफूल गए। सोमवार को सीएमएचओ, बीएमओ सहित चिकित्सकों की टीम परसमनिया के आधा दर्जन गांवों में पहुंची। चिकित्सकों ने घर-घर संपर्क किया। इस दौरान 42 ग्रामीण बुखार से पीडि़त मिले। सभी के रक्त की जांच की गई। इनमें 3 पीड़ित रैपिड किट जांच में फेल्सिफेरम मलेरिया पॉजिटिव मिले हैं। अब तीनों पीडि़तों का स्लाइड टेस्ट किया जाएगा।

टीम सोमवार को परसमनिया पहुंची

सीएमएचओ डॉ. अशोक अवधिया ने बताया कि बीएमओ डॉ. राय, सहायक मलेरिया अधिकारी भागवत शुक्ला, प्रेमलाल द्विवेदी, सुपरवाइजर भूप सिंह, एमआइ उचेहरा, लैब टेक्नीशियन सहित अन्य की टीम सोमवार को परसमनिया पहुंची। यहां के कुल्हडि़या, टटियाझिर, कारीमाटी, मोहन्ना, अमदरी, जुसगवां, अमदरी डोगरा टोला के ग्रामीणों घर-घर सपंर्क किया।

फेल्सीफेरम मलेरिया की पुष्टि

टीम को 42 बुखार पीडि़त मिले। सभी की रैपिड किट जांच की गई। इनमें नीरज (9) पिता नेता कोल निवासी दगदहा, कल्लू (42 ) पिता भानु सिंह निवासी कारीमाटी और राजेश कोल ( 27) निवासी टटियाझिर को रैपिड किट जांच में फेल्सीफेरम मलेरिया की पुष्टि हुई।

फेल्सीफेरम के प्रकोप का मामला उजागर

बता दें कि पत्रिका ने 22 जुलाई के अंक में परसमनिया के पांच गांवों में फेल्सीफेरम के प्रकोप का मामला उजागर किया था। बताया था कि सेक्टर अधिकारी और तत्कालीन बीएमओ नियंत्रण की बजाय पर्दा डालने में जुटे हुए हैं। मामले को गंभीरता से लेते हुए सीएमएचओ डॉ अशोक अवधिया गांवों तक पहुंचे।

स्लाइड जांच के बाद दवा वितरण
सीएमएचओ डॉ. अशोक अवधिया ने बताया कि परसमनिया के संबंधित गांवों में मलेरिया विभाग की भी टीम तैनात की गई है। सुपरवाइजर भूप सिंह को निर्देशित किया गया है कि गांवों में जो भी बुखार पीडि़त सामने आ रहे हैं उनकी स्लाइड जांच कराई जाए। सभी को आवश्यक दवाइयां भी वितरित की जाएं। इसके अलावा ग्रामीणों को मच्छरों से बचाव करने, घरों के आसपास, टायर, कंटेनर, कूलर, सीमेंट टंकिंयों में पानी का जमाव नहीं होने देने का परामर्श देने निर्देश दिए।

एएनएम को रिपोर्ट देने के निर्देश
सीएमएचओ ने मलेरिया विभाग के सुपरवाइजर भूप सिंह और एएनएम सुनीता गिरी को तैनात किया गया है। उन्हें गांव की प्रतिदिन रिपोर्ट भेजने के निर्देश दिए हैं। बीएमओ डॉ राय को भी संबंधित गांवों की औचक निगरानी करने निर्देशित किया गया है।

suresh mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned