सतना में घूम रहा खाकी वाला ठग, कियोस्क संचालकों को बनाता है अपना शिकार, फिर देता है वर्दी की धौंस

सतना में घूम रहा खाकी वाला ठग, कियोस्क संचालकों को बनाता है अपना शिकार, फिर देता है वर्दी की धौंस
Policewala thug: Policeman hunting kiosk operators in satna

Suresh Kumar Mishra | Updated: 06 Oct 2019, 01:17:45 PM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

लगातार वारदात के बाद भी नहीं दर्ज की जा रही एफआईआर

सतना। जिले में इन दिनों पुलिस की खाकी वर्दी में एक ठग घूम रहा है। वह कियोस्क संचालकों को पहले अपना शिकार बनाता है फिर वर्दी की धौंस दिखाते हुए पीडि़त को धमकाता है। जिलेभर में पिछले 15 दिनों में दो ऐसे मामले सामने आ चुके हैं। हालांकि पुलिस का इन मामलों में गैर जिम्मेदाराना रवैया रहा। पुलिस ठग के खिलाफ एफआईआर तो दूर शिकायत लेने में भी परहेज कर रही है। पीडि़तों को जोर-जुगाड़ लगाकर शिकायत दर्ज करानी पड़ रही है। ऐसा ही मामला पुलिस थाना कोलगवां में शनिवार की रात सामने आया। इसके बाद अन्य कियोस्क संचालकों में हड़कम्प मच गया।

ये भी पढ़ें: जंगल के रास्ते घर जा रहा था 15 हजार का इनामी डकैत, मिचकुरिन घाटी के जंगल से पुलिस ने किया गिरफ्तार

मुरली भवन के पीछे कबाड़ी टोला निवासी रामकरण कुशवाहा ने बताया कि मुख्य बस स्टैंड सतना में महामाया एमपी ऑनलाइन के नाम से कियोस्क चलाते हैं। 12 सितंबर की शाम 5 बजे एक व्यक्ति पुलिस की खाकी वर्दी पहनकर उसके कियोस्क में पहुंचा। उसकी वर्दी में मप्र पुलिस का बैचलगा हुआ था। उसने नीतेश आचार्या के एक्सिस बैंक के खाता क्रमांक 91801008777 में बीस हजार रुपए ट्रांसफर कराए। बैंक खाता में राशि ट्रांसफर होने के बाद वर्दीधारी से पैसे मांगे तो उसने कहा कि पैसा घर में भूल आया हूं, पांच मिनट में मंगवाता हूं। कुछ देर बाद वह फरार हो गया। कियोस्क संचालक ने ओटीपी वाले मोबाइल नंबर पर संपर्क करने का प्रयास किया पर उसने रिसीव नहीं किया।

ये भी पढ़ें: CMHO ने पत्र में लिखा- अस्पताल में स्टाफ के नहीं ठहरने से निष्क्रिय हो गए प्रसव केंद्र

एफआईआर नहीं दर्ज की, आवेदन लेकर टरकाया
पीडि़त कियोस्क संचालक ने बताया कि घटना के एक घंटे बाद ही शिकायत दर्ज करा दी गई थी। तब आरोपी का मोबाइल नंबर भी चालू था। लेकिन, पुलिस द्वारा किसी भी प्रकार की कार्रवाई नहीं की गई। इससे परेशान होकर 19 सितंबर को सीएम हेल्प लाइन में शिकायत दर्ज कराई। तब कोलगवां थाना में पदस्थ अरविंद सिंह सेंगर कियोस्क पहुंचे। उन्हें पूरा घटनाक्रम बताया फिर भी आरोपी को नहीं पकड़ा जा सका। फरियादी ने शनिवार की शाम कोलगवां थाना प्रभारी आरपी सिंह से मुलाकात कर मामले की जानकारी पूछी तो वे भड़क गए। फरियादी को ही हड़काने लगे। कहा, ज्यादा किसी के पीछे मत घूमो, नहीं तो मैं भी तुम्हें घुमाता ही रहूंगा। थाना प्रभारी से पत्रिका संवाददाता ने एफआईआर पर सवाल किया तो उनका कहना था कि एफआईआर दर्ज हो चुकी है। लेकिन वे एफआईआर का नंबर और तारीख नहीं बता पाए।

ये भी पढ़ें: PM किसान सम्मान निधि: MP के 28 लाख किसानों के नाम रिजेक्ट, आधार कार्ड से मेल नहीं खा रही जानकारी

15 दिन बाद एक और वारदात, अमरपाटन में कियोस्क संचालक को ठगा
ठग खाकी वर्दी पहनकर बैखौफ घूम रहा है और पुलिस हाथ पर हाथ रखे बैठी है। सतना में शिकायत दर्ज होने के 15 दिन बाद अमरपाटन में कियोस्क संचालक को वह ठगी का शिकार बनाता है। रामदीन पटेल निवासी ग्राम बरैहबड़ा पोस्ट परसवाही, अमरपाटन ने पुलिस थाना अमरपाटन में 4 अक्टूबर को शिकायत दर्ज कराई कि सहकारी बैंक के सामने अमरपाटन में कियोस्क चलाता है। 27 सितंबर को एक व्यक्ति पुलिस की वर्दी पहनकर आया। अपना नाम कुंदन बता रहा था। उसने बैंक खाता क्रमांक 919958734903 में बीस हजार रुपए ट्रांसफर कराए। जब उससे पैसे मांगे तो कुछ देर में बुलाकर देता हूं कहने लगा। इसके बाद मौका पाकर भाग खड़ा हुआ। ठगी का शिकार होने के बाद संचालक पुलिस थाना अमरपाटन पहुंचा तो स्टाफ ने बिना शिकायत लिए ही लौटा दिया। बकौल संचालक, पुलिस ने उल्टा उसके ऊपर ही दोष मढ़ दिया। कहा तुमने अपनी गलती से राशि ट्रांसफर की है। अब उसे तुम खुद ही तलाशो। हालांकि उसकी हरकत सीसीटीवी फुटेज में भी कैद हुई है।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned