scriptPreparation to implement Fire Act in Madhya Pradesh, draft ready | मध्यप्रदेश में फायर एक्ट लागू करने की तैयारी, बिल का ड्राफ्ट तैयार | Patrika News

मध्यप्रदेश में फायर एक्ट लागू करने की तैयारी, बिल का ड्राफ्ट तैयार

अग्रि हादसे का कारण बनने वाले से पीड़ित को मिलेगा मुआवजे का अधिकार

एक्ट का उल्लंघन करने पर 6 माह की हो सकेगी जेल

कलेक्टर सहित अन्य अधिकारियों से 14 जनवरी तक मांगे गये सुझाव

सतना

Published: January 07, 2022 09:53:47 am

सतना. बहुमंजिला इमारतों और भवनों में लगातार हो रहे अग्रिहादसों के बाद भी मध्यप्रदेश में अभी तक फायर एक्ट लागू नहीं हो सका है। अभी तक नेशनल बिल्डिंग कोड के तहत ही इमारतों के निर्माण की मंजूरी दी जाती रही है। प्रदेश में फायर एक्ट लागू नहीं होने से नगरीय प्रशासन के फायर अमले को न तो भवन की जांच के अधिकार हैं और न ही कोई कार्रवाई कर सकता है। अब प्रदेश सरकार ने ' मध्यप्रदेश फायर एण्ड इमरजेंसी सर्विस एक्ट 2020' को लागू करने की तैयारी कर ली है।
मध्यप्रदेश में फायर एक्ट लागू करने की तैयारी, बिल का ड्राफ्ट तैयार
Preparation to implement Fire Act in Madhya Pradesh, draft of bill ready
प्रमुख सचिव ने की बैठक

प्रमुख सचिव नगरीय प्रशासन एवं आवास विभाग की अध्यक्षता में फायर एक्ट लागू करने को लेकर दिसंबर अंतिम सप्ताह में बैठक भी हो चुकी है। इस संबंध में तैयार बिल को ' मध्यप्रदेश फायर एंड इमरजेंसी सर्विस बिल 2022' के नाम से जाना जाएगा। इसका ड्राफ्ट कलेक्टर सहित अन्य अधिकारियों को भेज सुझाव भी मांगे गए हैं। बिल के तहत एक डायरेक्टर नियुक्त किया जाएगा जो पूरे प्रदेश में इस एक्ट को लागू कराने और व्यवस्थाओं के लिये जिम्मेदार होगा। इस बिल के लागू होने के बाद फायर अमले को किसी परिसर की जांच और कार्रवाई के साथ ही दण्ड के भी अधिकार मिल जाएंगे।
फायर ऑफीसर के पास होंगी शक्तियां

बिल के अनुसार किसी क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति, जनसंख्या, उद्योग व अग्रि हादसों की संभावनाओं के अनुरूप राज्य सरकार फायर स्टेशन स्थापित करेगी। हर फायर स्टेशन में एक फायर ऑफीसर नियुक्त किया जाएगा। जो इस क्षेत्र के अंतर्गत अग्रि हादसों को नियंत्रित करने के लिये जिम्मेदार होगा। पानी, संचार, उपकरण सहित अन्य सुविधा उपलब्ध कराना उसकी जिम्मेदारी होगी।
मिलेंगे गिरफ्तारी के अधिकार

इस बिल में फायर एण्ड इमरजेंसी सर्विस के अमले को गिरफ्तारी के भी अधिकार दिये गये हैं। अगर ऑपरेशन के दौरान कोई व्यक्ति बाधा खड़ी करता है या बाधक बनता हो तो उसे फायर अमला गिरफ्तार कर सकेगा। जिसे बाद में पुलिस को सौंप दिया जाएगा।
कहीं से भी ले सकेंगे पानी

अग्नि हादसे को दौरान आग बुझाने की कार्यवाही में आवश्यक होने पर फायर अमला कहीं से भी पानी ले सकेगा। इस लिये गये पानी का कोई मुआवजा या भुगतान नहीं किया जाएगा।
जब्ती के अधिकार

इस बिल के लागू होने के बाद फायर ऑफीसर को किसी भी परिसर में प्रवेश कर जांच करने का अधिकार होगा। लेकिन यह जांच कार्रवाई सूर्योदय से सूर्यास्त के बीच ही की जा सकेगी। अग्रि हादसे के दौरान अगर कोई बाधा होती है तो उस वस्तु को हटाने या गिराने का अधिकार होगा। लेकिन यह देखना होगा कि नुकसान न्युनतम हो। किसी परिसर को अग्रिरोधी बनाने आवश्यक निर्देश दे सकेगा। तय समय सीमा में अगर निर्देशों का पालन नहीं होता है तो वह परिसर को सीज कर सकेगा या संबंधित वस्तु को जब्त भी कर सकेगा। पंडाल आदि में आवश्यक इंतजाम नहीं होने पर सील भी कर सकेगा।
दण्ड का प्रावधान

इस एक्ट में यह प्रावधान किया गया है कि अगर किसी के कारण किसी व्यक्ति के यहां अग्नि हादसा होता है तो वह संबंधित से मुआवजा ले सकता है। वहीं एक्ट का उल्लंघन करने पर 6 माह की जेल अथावा 50 हजार जुर्माना अथवा दोनों लगाए जा सकेंगे। अगर फायर अमला अपनी जिम्मेदारी का उल्लंघन करता है तो उस पर भी दण्डात्मक कार्रवाई के प्रावधान किये गये हैं। इसमें तीन माह की सजा का भी प्रावधान है।
गलत सूचना पर जेल

एक्ट में प्रावधान किया गया है कि अगर कोई गलत सूचना देता है तो उसे 3 माह की जेल अथवा 10 हजार का जुर्माना होगा। आग लगने की सूचना नहीं देने पर भी केस दर्ज करने का प्रावधान किया गया है। अग्निहादसे से बचाव का समुचित उपाय नहीं करने पर भी 10 हजार का जुर्माना या 3 माह की जेल या दोनों का प्रावधान है। अगर अग्निहादसे के दौरान ऑपरेशन में कोई बाधा पैदा करता है तो उसे 3 माह की जेल का प्रावधान किया गया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

QUAD Summit: अमरीकी राष्ट्रपति ने उठाया रूस-यूक्रेन युद्ध का मुद्धा, मोदी बोले- कम समय में प्रभावी हुआ क्वाड, लोकतांत्रिक शक्तियों को मिल रही ऊर्जाWhat is IPEF : चीन केंद्रित सप्लाई चैन का विकल्प बनेंगे भारत, अमरीका समेत 13 देशWeather Update: दिल्ली में आज भी बारिश के आसार, इन राज्यों में आंधी-तूफान की संभावनाहरियाणा के जींद में सड़क हादसा: ट्रक और पिकअप की टक्‍कर में 6 की मौत, 17 घायलटाइम मैगजीन ने जारी की 100 प्रभावशाली लोगों की लिस्ट, जेलेंस्की, पुतिन के साथ 3 भारतीय भी शामिलHaj 2022: दो साल बाद हज पर जाएंगे मोमिन, पहला भारतीय जत्था 4 जून को होगा रवानाआ गया प्लास्टिक कचरे का सफाया करने वाला नया एंजाइमWomen's T20 Challenge: पहले ही मैच में धमाकेदार जीत दर्ज की सुपरनोवास ने, ट्रेलब्लेजर्स को 49 रनों से हराया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.