राजबहादुर ने अध्यक्ष, मनोज ने उपाध्यक्ष पद पर जीत का परचम लहराया

राजबहादुर ने अध्यक्ष, मनोज ने उपाध्यक्ष पद पर जीत का परचम लहराया
Raj Bahadur president, Manoj the victory of the post of Vice President

Vikrant Kumar Dubey | Updated: 23 Aug 2019, 01:22:27 PM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

जिला अधिवक्ता संघ चुनाव के परिणाम देर रात घोषित

सतना. जिला संघ चुनाव में संघर्षपूर्ण मुकाबले में अध्यक्ष पद के लिए राजबहादुर सिंह बैस ने महज १४ वोट से जीत दर्ज कराई। उपाध्यक्ष पद पर मनोज कुमार पाण्डेय वोट से काबित हुए। सहसचिव पद पर उपेंद्र तिवारी, कोषाध्यक्ष पद पर अरविंद कुमार मिश्रा और ग्रंथपाल पद पर कमल रंजन त्रिपाठी ने जीत का परचम लहराया। कार्यकारिणी सदस्य पद के लिए अमित कुमार मिश्रा, राजेश सिंह बघेल, राजीव कुमार शुक्ला, सुरेश कुमार मिश्रा और विनीत कुमार मिश्रा विजयी रहे। कोषाध्यक्ष अरविंद कुमार मिश्रा पद के लिए सबसे ज्यादा मत पाकर विजय घोषित किए गए।

जिला अधिवक्ता संघ के 10 पदों के लिए 20 प्रत्याशियों के बीच मुकाबला था। सबसे रोचक मुकाबला अध्यक्ष पद के लिए राजबहादुर और सुनील शर्मा के बीच रहा । राजबहादुर ने अपने निकटम प्रतिद्वंदी सुनील को महज 14 मतों से शिकस्त दी। पांच कार्यकारिणी सदस्य पद के लिए छह प्रत्याशी मैदान में थे। इनमें सबसे ज्यादा मत पाकर पांच प्रत्याशी निर्वाचित घोषित किए गए।

अध्यक्ष का परिणाम पहले घोषित हुआ
जिला अधिवक्ता संघ के सभागार में सख्त सुरक्षा बंदोबस्त के बीच शाम 6:30 बजे मतगणना आरंभ हुई। चुनाव के रिजल्ट को लेकर अधिवक्ताओं में खासी रुची देखने को मिली। देर रात तक सभागार के सामने अधिवक्ता जमे हुए थे। अंदर से आने वाली प्रत्येक सूचना पर नजर बनाए हुए थे। सबसे पहले अध्यक्ष पद की मतगणना के परिणाम घोषित किए गए। चुनाव अधिकारी रमेश मिश्रा ने जैसे ही राजबहादुर के विजयी होने की घोषणा की उम्मीदवार सहित समर्थक खुशी से झूम उठे। न्यायालय परिसर ढ़ोल-नगाड़ो और आतिबाजी की आवाज से गूंज उठा।

अरविंद सबसे ज्यादा मतों से जीते
उपाध्यक्ष पदा के लिए दो प्रत्याशी मैदान में थे। मनोज को 717 और सुरेंद्र को 537 मत मिले। मनोज ने 180 मतों से जीत दर्ज कराई। कोषाध्यक्ष पद के प्रत्याशी अरविंद कुमार मिश्रा ने सबसे ज्यादा 331 मतों से जीत दर्ज कराई। सहसचिव पद के लिए भी दो प्रत्याशी दिलीप आर्य और उपेंद्र तिवारी मैदान में थे। दोनों के बीच कांटे का मुकाबला था। उपेंद्र ने 33 मतों से जीत दर्ज कराई। ग्रंथपाल पद के लिए कमल और रवि प्रताप के बीच मुकाबला था। कमल को 784 और रवि को 462 मत प्राप्त हुए। कमल ने 324 मतों से विजय हासिल हुई।

कार्यकारिणी सदस्य पद के लिए सुरेश को सबसे ज्यादा वोट
कार्यकारिणी सदस्य के पांच पदों के लिए छह प्रत्याशियों के बीच मुकाबला था। इनमें सुरेश कुमार मिश्रा को सर्वाधिक 755 मत प्राप्त हुए। राजीव शुक्ला को 750, राजेश ङ्क्षसह बघेल को 729, विनीत कुमार मिश्रा 697 और अमित कुमार गुप्ता 677 मत प्राप्त कर कार्यकारिणी सदस्य के लिए निर्वाचित घोषित किए गए।

पोलिंग बूथ के सामने प्रत्याशियों ने बनवाएं काउंटर
अध्यक्ष पद के सभी प्रत्याशियों ने जिला अधिवक्ता संघ के सभागार में बनाए गए पोलिंग बूथ के सामने टेंट लगाकर काउंटर बनवाया था। जहां पर प्रत्याशी सहित उनके समर्थक बड़ी संख्या में बैठे हुए थे। अपने काउंटर पर बैठै प्रत्याशी पोलिंग बूथ में प्रवेश करने के पहले ही अधिवक्ताओं से संपर्क कर अपने पक्ष में वोटिंग करने की अपील कर रहे थे। उन्हें अपने नाम के स्टीकर थमा रहे थे।

अध्यक्ष के पुत्र सहित दो को ने काटा
पोलिंग बूथ के सामने उस समय अफरा-तफरी का माहौल बन गया जब दो अधिवक्तआें पर एक स्वान ने हमला कर दिया। पागल कुत्ते के हमले से दो अधिवक्ता घायल हो गए। जिसमें एड रावेंद्र अग्निहोत्री और एक अन्य अधिवक्ता शामिल है। इसी दौरानल अध्यक्ष पद के प्रत्याशी राजबहादुर सिंह के बेटे सौरभ सिंह पोलिंग बूथ के सामने अपने पिता के समर्थन में प्रचार-प्रसार कर रहे थे। तभी सौरभ को भी स्वान ने काटकर घायल कर दिया। सभी को आनन-फानन में जिला अस्पताल भेजा गया।

सचिव निर्विरोध निर्वाचित
तदर्थ समिति के बीच उपजे विवाद के बाद एक पक्ष ने अधिवक्ताओं के बीच अफवाह फैला दी थी कि चुनाव निरस्त होने वाले है। राज्य अधिवक्ता परिषद शीघ्र ही चुनाव के लिए नयी तारीख की घोषणा करेगा। जिसके चलते सचिव जैसे महत्वपूर्ण पद के लिए महज एक अधिवक्ता ही नामांकन दाखिल कर सका। जबकि सचिव पद का चुनाव लडऩे बड़ी संख्या में अधिवक्ता तैयार थे।

अधिवक्ताओं में रहा उत्साह, 86.50 फीसदी हुआ मतदान
जिला अधिवक्ता संघ के सभी पदों के लिए सुबह 8 बजे से शाम ५ बजे तक मतदान हुआ। मतदान को लेकर अधिवक्ताओं में खासा उत्साह देखने को मिला। सुबह से ही तीनों पोलिंग बूथ में लम्बी कतार लग गई थी। शाम 5:15 बजे तक वोटिंग चलती रही। कुल 86.50 फीसदी मतदान हुआ। 1467 मतदाताओं में से 1269 अधिवक्ताओं ने मताधिकार का उपयोग किया। पोलिंग क्रमांक-1 में पांच सौ में से 431 अधिवक्ताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया। पोलिंग क्रमांक- 2 में पांच सौ में से 432 और पोलिंग क्रमांक-३ में सबसे ज्यादा 467 में से 406 अधिवक्ताओं ने वोट डाले।

राउंडवार मतगणना के परिणाम
अध्यक्ष - पहला राउंउ, दूसरा, तीसरा, कुल प्राप्त मत
नारायण गौतम 79 70 61 210
सुनील शर्मा 93 122 112 334
राजेंद्र कुमार शुक्ला 67 60 69 196
राजबहादुर सिंह 139 113 96 348 जीते
अरविंद शर्मा 39 60 44 143
ब्रजेशमूर्ति चतुर्वेदी 14 7 10 31

उपाध्यक्ष
मनोज कुमार पांडेय 222 260 235 717 जीते
सुरेंद्र कुमार पांडेय 207 167 163 537

सचिव
ओमप्रकाश तिवारी (एक नामांकन निर्विरोध निर्वाचित)

सह सचिव
दिलीप आर्य 209 221 186 616
उपेंद्र कुमार तिवारी 222 203 208 633 जीते

कोषाध्यक्ष
अरविंद कुमार मिश्रा 270 245 269 784 जीते
विजय कुमार मिश्रा 156 177 120 453

ग्रंथपाल
रवि प्रताप 150 165 147 462
कमल रंजन 278 260 248 ***** जीते
कार्यकारिणी सदस्य
सुरेश कुमार मिश्र 245 241 269 755 जीते
विनीत कुमार मिश्रा 220 218 259 697 जीते
अमित कुमार गुप्ता 212 204 261 677 जीते
राजेश सिंह बघेल 246 235 248 729 जीते
रमेश चंद्र बनर्जी 188 162 221 571

राजीव कुमार शुक्ला 232 237 281 750 जीते

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned