पटाखा दुकानों में क्षमता से अधिक स्टॉक, बारूद के ढेर पर सतना शहर

suresh mishra

Publish: Oct, 13 2017 12:31:15 (IST)

Satna, Madhya Pradesh, India
पटाखा दुकानों में क्षमता से अधिक स्टॉक, बारूद के ढेर पर सतना शहर

बड़े हादसा की आशंका: ज्यादा लाभ कमाने कर रहे मनमानी, शहर के बीच रहवासी क्षेत्र में बारूद से भरी दुकानें कभी भी बड़े हादसे की वजह बन सकती हैं।

सतना। शासन के नियमों की अनदेखी कर पटाखा दुकानदारों ने लाभ कमाने के लिए दुकानों में क्षमता से अधिक बारूद जमा कर रखा है। शहर के बीच रहवासी क्षेत्र में बारूद से भरी दुकानें कभी भी बड़े हादसे की वजह बन सकती हैं। दिवाली नजदीक आते ही शहर में अवैध रूप से पटाखों के रूप में बारूद जमा की रही है। यह कहें कि दिवाली से पहले शहर बारूद के ढेर पर है, अतिश्योक्ति नहीं होगी।

प्रशासन नहीं दे रहा ध्यान
शहर के बीचोंबीच संचालित दुकानों की जांच कई साल से नहीं की गई है। इस बार भी बिक्री आरंभ करने के पहले दुकानों का निरीक्षण नहीं किया गया है। सूत्रों की मानें तो यही स्थिति गोदामों की भी बनी हुई है। इससे व्यापारी पटाखों के स्टाक में जमकर मानमानी कर रहे हैं।

एसडीएम को मिली लापरवाही
लोगों के लिए शासकीय उमवि व्यंकट-२ मैदान में पटाखे की फुटकर दुकानें संचालित की जाती हैं। इस वर्ष भी सभी तैयारियां पूरी की जा चुकी हैं। एसडीएम बलवीर रमन ने तैयारियों का जायजा लिया, तो अनेक खामियां सामने आईं। प्रशासन ने प्रत्येक पांच दुकान के बीच गैप रखने का आदेश दिया था। लेकिन मौके पर आठ दुकानों के बाद गेप किया गया था। एसडीएम ने निर्देशों का पालन करने की सलाह दी।

लाइसेंस लाटरी आज
एडीएम जेपी धुर्वे ने बताया, फुटकर दुकानदारों के लाइसेंस लाटरी से १३ अक्टूबर को निकाले जाएंगे। इसकी सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इस दौरान दुकानदारों के अलावा एडीएम सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद रहेंगे।

इन इलाकों में सबसे अधिक दुकानें
शहर के गांधी चौक और लालता चौक के बीच (पुरानी गल्ला मंडी) आधा दर्जन से अधिक पटाखे की दुकानें संचालित की जा रही हैंं। सूत्रों की मानें तो अधिकांश दुकानों में निर्धारित मात्रा से अधिक बारूद, पटाखों का स्टॉक किया गया है। विक्रेताओं की मनमानी आमलोगों को भारी पड़ सकती है।

दुकानों में निर्धारित मात्रा से ज्यादा स्टॉक होने की जानकारी नहीं है। शीघ्र जांच कर पता लगाया जाएगा।
बलवीर रमन, एसडीएम

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned