आंखों से लाचार सतना की इस बेटी ने रच दिया इतिहास

-सतना की यह बेटी आई हॉयर सेकेंड्री परीक्षा में प्रदेश की टॉप 10 में
-घर की आर्थिक हालत है खराब, लेकिन मांगने पर भी नही मिली मदद

By: Ajay Chaturvedi

Published: 27 Jul 2020, 08:39 PM IST

सतना. कहते हैं अगर जज्बा और जुनून हो तो कुछ भी संभव है। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है सतना की इस बेटी ने। सतना की इस बेटी को एक आंख से बिल्कुल नहीं दिखता और दूसरी में भी महज 25 फीसद ही रोशनी है, बावजूद उसने प्रदेश की टॉप 10 सूची में स्थान बना कर इतिहास ही रच दिया। यह और कोई नहीं बल्कि एक टेंट व्यवसायी की पुत्री कीर्ति कुशवाहा है। हालांकि एक दुर्घटना में उनका कारोबार भी जाता रहा। बड़ी मुश्किल से घर खर्च चल पाता है।

छात्रा की मां रश्मि कुशवाहा ने कहा कि उन्हें अपनी बेटी पर गर्व है। बताया कि कीर्ति जन्म से दिव्यांग है। उसकी एक आंख में बिल्कुल भी रोशनी नहीं है। दूसरी आंख से ही वो 25 फीसद ही देख पाती है। इसके बावजूद बिटिया ने कमाल कर दिया।

रश्मि ने बताया कि पिछले साल जुलाई में आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण उन्होंने बेटी के साथ जाकर कलेक्टर से फीस माफी की गुहार लगाई थी, लेकिन तत्कालीन कलेक्टर सतेंद्र सिंह ने असमर्थता जाहिर कर दी थी।

रश्मि कुशवाहा ने बताया कि उनके पति का छोटा सा टैंट का काम था। दो साल पहले एक्सिडेंट हो गया था। उनके चेहरे की सर्जरी हुई, जिसके बाद से कामकाज पूरी तरह ठप है। कीर्ति ने अपनी पढ़ाई जारी रखने के लिए बच्चों की ट्यूशन पढ़ाना शुरू किया था। वह स्वयं अपने घर में रहकर सिलाईकढ़ाई का काम करतीं हैं।

उऩ्होंने बताया कि उनके घर में बिजली का कनेक्शन नहीं है। पड़ोस से बिजली लेकर काम चलाते हैं। पिछले साल जुलाई में पैसा जमा होने से विभाग ने बिजली काट दी थी। 181 में शिकायत के बाद अब रात में बिजली जोड़ देते हैं।

कीर्ति कुशवाहा

मध्य प्रदेश की टॉपर्स सूची में नाम दर्ज कराने वाली कीर्ति ने बताया कि शारीरिक कमजोरी किसी भी लक्ष्य से हमें पीछे नहीं कर सकती। लोगों का कहना था कि तुम नहीं कर पाओगी, लेकिन मैनें कमजोरी को दरकिनार कर अपनी पढ़ाई जारी रखी। कीर्ति ने बताया कि पूरी तरह से ब्लाइंड जब आइएएस बन सकते हैं तो हम क्यों आगे नहीं बढ़ सकते। उसने कहा कि वह शिक्षक बनना चाहती हैं।

Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned