जिला अस्पताल जा रहे हैं तो यह खबर जरूर पढ़ें, अब पीछे वाले गेट के सामने होगी पार्किंग

Pushpendra Pandey

Updated: 11 Oct 2019, 01:21:35 PM (IST)

Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

सतना. जिला अस्पताल में चल रहे निर्माण कार्यों का कलेक्टर सतेंद्र सिंह ने गुरुवार की सुबह जायजा लिया। पाया, अस्पताल के मुख्य द्वार पर मरीजों की भीड़भाड़ और वाहनों की रेलम-पेल थी। पीडि़तों को ओपीडी आने-जाने में परेशानी हो रही थी। आकस्मिक सेवा में तैनात एम्बुलेंस वाहनों का प्रवेश भी मुश्किल से हो पा रहा था। कलेक्टर ने मामले को गंभीरता से लेते हुए पार्किंग व्यवस्था मुख्य द्वार के सामने से हटाकर पीछे की ओर शिफ्ट करने के निर्देश दिए। नई पार्किंग व्यवस्था के लिए पीछे वाले गेट के सामने की जमीन चिह्नित भी की गई।

निर्माण में देरी पर नाराजगी
कलेक्टर सबसे पहले पुराने प्राइवेट वार्ड पहुंचे। उसे तोड़कर बैठक कक्ष बनाने को कहा। नए प्राइवेट वार्ड के निर्माण में देरी पर नाराजगी जताई। पीआईयू के अधिकारियों को तलब कर शीघ्र निर्माण पूरा कराने के निर्देश दिए। पार्किंग व्यवस्था के लिए बनाए गए शेड हटवा कर पौधरोपण करने के निर्देश दिए। इस दौरान निगमायुक्त अमनवीर सिंह बैस, ई पीडब्ल्यूडी बसंत कुमार कुशवाहा, पीआईयू के सुभाष पाटिल, सीएमएचओ डॉ. अशोक अवधिया, सीएस डॉ एसबी. सिंह, एसडीएम पीएस त्रिपाठी, सिटी मजिस्ट्रेट संस्कृति शर्मा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

पूछे सवाल-स्टोर में क्यों बंद हैं कुर्सियां
कलेक्टर ने नव निर्मित ट्रॉमा यूनिट भवन भी देखा। इस दौरान 150 से अधिक कुर्सियां स्टोर में कैद देखकर सीएस सहित अन्य अधिकारियों को तलब किया। पूछा-कितने माह से कुर्सियां अंदर रखी हैं। इनका उपयोग क्यों नहीं किया जा रहा? संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर अधिकारियों को फटकार भी लगाई। निर्देश दिए कि तीन दिन के अंदर सभी कुर्सियां वार्डों के बाहर और ओपीडी में लगवाओ ताकि मरीजों और उनके परिजनों को दिक्कत न हो।

पार्किंग के लिए देखी जगह
नई पार्किंग व्यवस्था के लिए कलेक्टर ने परिसर का जायजा लिया। पीछे वाले गेट के सामने की जगह पार्किंग के लिए चिह्नित की। वहां पर डॉ प्रमोद पाठक सहित कर्मचारियों के आवास बने हुए हैं। हालांकि इन्हें खाली करा लिया गया है। कलेक्टर ने खाली कराए गए आवासों को शीघ्र गिराकर पार्किंग व्यवस्था शिफ्ट करने के निर्देश दिए। चिकित्सकों सहित स्टाफ के लिए पुलिस हाउसिंग बोर्ड द्वारा बनाई जाने वाले मल्टीस्टोरी बिल्डिंग के निर्माण में देरी पर भी अधिकारियों को आड़े हाथ लिया।


यह भी दिए निर्देश
अस्पताल परिसर में गार्डन एवं मरीजों के बैठने हेतु व्यवस्था, पुराने प्राइवेट वार्ड को तोडकर बैठक कक्ष का निर्माण, पुराने व नए प्राइवेट वार्ड के बीच पुरानी बाउंड्रीवाल तोडऩे, पुरानी ओपीडी के फर्श, कॉरिडोर में टाइल्स लगाने, नई ओपीडी को बहुमंजिला बनाने, ट्रॉमा यूनिट के जांच केंद्र का निर्माण हेतु प्रस्ताव तैयार करने, बायोमेडिकल को अन्यत्र स्थानांत्रित करने, पुराने आवासीय भवनों को तोड़कर चिकित्सकों हेतु आवासीय भवन बनाने का प्रस्ताव तैयार करने, अस्पताल परिसर में लगे विद्युत खंभों को सुनियोजित तरीके से लगाने, वार्ड 1, 5, 6 एवं 10 की दक्षिण एवं पश्चिम दीवार टाइल्स लगवाने के भी निर्देश दिए।

satna district hospital
IMAGE CREDIT: patrika

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned