जल संकट से जूझ रहे वार्डवासी, यहां पढ़ें खबर

Sajal Gupta

Publish: May, 18 2018 03:40:34 PM (IST)

Satna, Madhya Pradesh, India
जल संकट से जूझ रहे वार्डवासी, यहां पढ़ें खबर

वार्ड 14 में अतिक्रमण की मार से बेहाल नाला

सतना. वार्ड क्रमांक 14 में पॉलीटेक्निक कॉलेज के समीप बस्ती के लोग नर्क की जिंदगी जीने को मजबूर हैं। इसके पीछे सबसे बड़ी समस्या है गंदे पानी की निकासी न होना। बस्ती के बीच से गुजरी सड़क पर पुलिया से सटकर बना कच्चा नाला देखते-देखते ही लगभग 200 मीटर के अंतराल में खत्म हो गया। नाले पर अतिक्रमण की दोहरी मार पड़ी है। पुलिया के पास जहां इसकी चौड़ाई 300 वर्ग मीटर के आसपास है, वहीं आगे चलकर यह पूरी तरह से गायब हो गया है। आरोप है कि आसपास के लोगों ने यहां बेजा कब्जा कर नाले का रास्ता बदल दिया है। इसके चलते पानी की निकासी नहीं हो रही और तालाब जैसे हालात बने हैं। वार्ड के अंदर बनी पक्की नालियों में मिट्टी डालकर भर दिया गया है। आसपास समूची जगह गंदगी का अंबार है। डेयरी से निकलने वाला पशुओं का मलमूत्र भी खुले में डाल दिया जाता है। 7 हजार की आबादी वाले इस क्षेत्र को एक अदद पार्क की भी लंबे समय से दरकार रही है, लेकिन न तो जमीन का पता न ही प्लाट का। आसपास के बच्चों को खेलने के लिए इधर-उधर अन्य दूसरे मैदानों में भटकना पड़ता है। निगम प्रशासन द्वारा इस ओर कभी ध्यान नहीं दिया गया। कागजों पर शहर को खूबसूरत बनाने के कई प्रस्ताव बनाए गए, लेकिन वे अमलीजामा नहीं पहन सके।

 

satna nagar nigam ward no.14 news in hindi
patrika IMAGE CREDIT: sajal gupta

4 बस्ती एक टंकी के भरोसे, पानी के लिए हाहाकार
स्थानीय रहवासियों का आरोप है कि पानी के लिए आसपास की 4 बस्ती एक टंकी के भरोसे है जो सिर्फ सुबह ही पानी देती है। एेसे में कुछ लोग पानी पाते हैं तो कई शाम तक के लिए डिब्बा रखकर घर लौट जाते हैं। किसी भी रहवासी को भरपूर पानी नहीं उपलब्ध हो पाता। अमृत योजना के तहत बिछाई गई पाइपलाइन यहां फिलहाल निरर्थक साबित हो रही है। वार्ड पार्षद भी इस समस्या की ओर ध्यान अग्रसर नहीं करते। पेयजल को लेकर कई बार निगम प्रशासन से गुहार लगाई गई, लेकिन नतीजा सिफर रहा। छोटे-छोटे बच्चे तक पानी का डिब्बा लेकर भटकते दिखाई पड़ते हैं।

नाली और रोड का निर्माण बाकी है स्वच्छता के लिए वार्ड में काम किया गया है। सफाई कर्मी कम होने के कारण कुछ दिक्कतें आ रही हैं। इससे वार्ड में साफ-सफाई का अभाव बना है। नई योजनाओं को लेकर काफी काम किया है। अभी भी नाली, रोड का काम होना बाकी है।
कमला यादव, पार्षद

वार्ड में नालियों का ढाल न होने के कारण दिक्कत अधिक है। पेयजल की नई लाइन शुरू होने के बाद पेयजल समस्या खत्म होगी। कई जगह रोड लाइट नहीं है जिस कारण अंधेरा रहता है।
विपिन तिवारी
वार्ड में पेयजल की सुविधा को लेकर खुदाई तो हुई है, लेकिन सही काम न होने के कारण दिक्कत बढ़ी है। कई बार जिम्मेदार अधिकारियों से बताया गया, लेकिन कुछ भी काम नहीं हुआ है।
गीताराम
नालियों की सफाई रोज नहीं होती है। हमारा मकान चौड़ाई में होने के कारण सफाई गाड़ी यहां कम आती है। वार्ड पार्षद समस्या सुनने आते हैं, सफाई कर्मचारी लापरवाही बरतते हैं।
सुंदरलाल तिवारी
पेयजल की समस्या अधिक है। सुबह से पेयजल के लिए परेशान होना पड़ता है। गर्मी में पेयजल की समस्या बढ़ जाती है। इसकी शिकायत की गई, लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया।
सुशीला मिश्र
हमारे यहां रोड लाइट नहीं है जिस कारण रात में अंधेरा रहता है। सड़कों का निर्माण नहीं होने के कारण सभी लोग परेशान हैं। अभी वार्ड में सड़क का निर्माण होना बाकी है।
मंजू कुशवाहा
वार्ड में कई निचले इलाकों में बरसात के दिनों में पानी भरता है। कई बार शिकायत के बाद भी काम नहीं हुआ है। वार्ड में सफाई सही तरीके से नहीं होती है।
अनीता कुशवाहा
पेयजल को लेकर काफी परेशानी है। गर्मी में दिक्कत बढ़ जाती है। कई बार पेयजल को लेकर शिकायत भी की गई, कुछ हुआ नहीं। वार्ड में सड़कें कम है। यातायात में दिक्कत होती है।
कृष्णा
नालियों का निर्माण सही तरीके से नहीं होने के कारण कचरा सही तरीके से साफ नहीं होता है। कई बार शिकायत की गई लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई है। इलाकों में पानी गर्मी में भरा है।
संध्या कुशवाहा
पेयजल के लिए टंकी में लाइन लगानी पड़ती है। पाइपलाइन पूरे वार्ड में नहीं बिछी है जिस कारण दिक्कत है। पुरानी पाइप लाइन कई जगह खराब हो चुकी है। इससे परेशानी हो रही है।
जय पाल कुशवाह
वार्ड में सड़कों का निर्माण होना चाहिए। बच्चों के लिए खेल का मैदान नहीं है। खाली पड़े प्लाटों में बच्चे खेलते हैं। कई बार मैदान के लिए भी कहा गया है, लेकिन सुनवाई नहीं हुई।
बिहारीलाल
वार्ड में एक भी पार्क नहीं हैं। वार्डवासियों के लिए कहीं बैठने के लिए अच्छा स्थान नहीं है। वार्ड में एकजुट होकर बैठक करने के लिए भवन नहीं है। इससे समस्या होती है।
आकाश कुमार यादव
सामुदायिक भवन नहीं होने से लोगों को दिक्कत होती है। कई बार शिकायत की गई, लेकिन कुछ भी नहीं हुआ है। वार्ड में नालियों का निर्माण होना चाहिए।
अनिल कुशवाहा

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned