10 सितंबर को CM आवास के सामने आत्मदाह करेगा व्यापारी, तहसीलदार पर बिल न भुगतान करने का आरोप

व्यापारी और प्रशासन में ठनी: व्यापारी बोला, तहसीलदार ने रोक रखा है मेरा बिल, तहसीलदार ने कहा, समिति के माध्यम से भेजें बिल

By: suresh mishra

Published: 05 Sep 2019, 01:06 PM IST

सतना/ एक बिल को लेकर व्यापारी और प्रशासन में ठन गई है। व्यापारी बुधवार को पत्रकार वार्ता बुलाकर तहसीलदार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया, जवाब में तहसीलदार ने भी पलटवार करते हुए कहा कि नियम विरुद्ध बिल भेजा गया, इसलिए भुगतान रोका। समिति के माध्यम से बिल भेजें, वहां से अनुमोदन के बाद ही भुगतान होगा। उधर, व्यापारी ने भुगतान नहीं होने पर सीएम आवास के सामने आत्महत्या की चेतावनी दी है।

रामवन में बसंतोत्सव कार्यक्रम ( Ramvan Satna ) के आयोजन के लिए टेंट, साउंड और मंचीय व्यवस्था उपलब्ध कराने वाले व्यापारी ने रामपुर तहसीलदार ( Rampur Baghelan ) सविता यादव पर गंभीर आरोप लगाया है। कहा कि उनके द्वारा लगातार बिल भुगतान करने का आश्वासन दिया जा रहा है, लेकिन भुगतान नहीं किया जा रहा है।

भूखों मरने की स्थिति

आरोप लगाया कि इस वजह से भूखों मरने की स्थिति आ गई है। चेतावनी दी कि अगर भुगतान नहीं किया तो 10 सितंबर को सीएम के आवास के सामने आत्मदाह करेगा। उधर, तहसीलदार सविता यादव ने व्यापारी पर जबरिया दबाव बनाने की बात कही है। कहा कि अव्वल तो भुगतान के लिए व्यापारी ने रामवन समिति से अनुमोदित बिल न देकर सीधे प्रस्तुत किया है जो नियमानुसार नहीं है। दूसरा बिल की राशि शासन स्तर से भुगतान की जानी है।

यह है मामला
पत्रकार वार्ता में व्यापारी मनोज कुमार गुप्ता ने बताया कि रामवन में होने वाले बसंतोत्सव के लिए 10 से 12 फरवरी तक मंच साज सज्जा, साउंड लाइट, सांस्कृतिक मंच की व्यवस्था का काम उसने किया था। गत वर्ष भी उसने यही काम किया था। पूर्व का भुगतान 203425 रुपये तथा इस वर्ष का 184500 रुपये नहीं दिया गया है। इसका बिल तहसीलदार रामपुर बाघेलान को प्रस्तुत किया गया है। लेकिन लगातार आश्वासन दिया जा रहा है। आज तक भुगतान नहीं किया गया। प्रतिष्ठान का बिजली का बिल जमा नहीं होने से बिजली काट दी गई है।

रामवन समिति कराती है आयोजन

तहसीलदार रामपुर बाघेलान सविता यादव ने बताया कि संबंधित व्यक्ति ने सीधे बिल प्रस्तुत किया है, जबकि यह पूरा आयोजन रामवन की समिति करवाती है। नियमानुसार उसे बिल समिति को प्रस्तुत करना चाहिए। लेकिन वे दबाव बना कर प्रक्रिया के विपरीत भुगतान चाह रहे हैं। इसकी जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को भी है।

suresh mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned