जानकीकुंड के सुरक्षाकर्मी ने बिल्डिंग से लगाई छलांग, तीसरी मंजिल से कूदने के बाद हुआ ये हाल

आज होगा पीएम, परिजनों के बयान लेगी पुलिस, चित्रकूट अपहरण के मुख्य आरोपी पद्म के पिता इसी मंदिर में थे पुजारी

By: suresh mishra

Updated: 03 Mar 2019, 12:28 PM IST

सतना। चित्रकूट में सद्गुरू सेवा संघ ट्रस्ट जानकीकुण्ड प्रबंधन की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रहीं। सद्गुरु पब्लिक स्कूल से जुड़वा बच्चों की अपहरण के बाद हत्या का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ कि शनिवार को यहां के एक सुरक्षाकर्मी ने निर्माणाधीन भवन की तीसरी मंजिल से छलांग लगाकर खुदकुशी कर ली। संबंधित सुरक्षाकर्मी रघुवीर मंदिर में तैनात था। वहीं चित्रकूट के मासूमों के अपहरण व हत्या के मुख्य आरोपी पद्म के पिता रामकरण शुक्ला इसी मंदिर के पुजारी थे।

जिन पर आरोपियों के संरक्षण के देने के आरोप भी लगते रहे हैं। शाम करीब पौने सात बजे हुई इस घटना के बाद जख्मी सुरक्षा कर्मी को अस्पताल भेजा गया, लेकिन गंभीर चोट लगने पर उसने इलाज मिलने से पहले ही दम तोड़ दिया। सूचना मिलते ही घटना स्थल पर पहुंची नयागांव थाना पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजते हुए घटना की जांच शुरू कर दी है।

ये है मामला
पुलिस का कहना है कि जानकीकुण्ड परिसर में लंबे अर्से से सुरक्षा कर्मी का काम कर रहे श्रीराम शर्मा पुत्र रामकृपाल शर्मा (42) निवासी कोल गदहिया कर्वी जिला चित्रकूट की मौत हुई है। प्राथमिक जांच में यह बात सामने आई है कि शुक्रवार को श्रीराम छुट्टी लेकर गांव गया था। वहां से लौटकर उसने शनिवार को ड्यूटी की और जानकीकुण्ड परिसर के ही तीन मंजिला निर्माणाधीन भवन में चढ़कर छलांग लगा दी। टीआई संतोष तिवारी का कहना है कि रविवार सुबह शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा। तब मृतक के परिजनों के बयान लिए जाएंगे। अगर बयान में कोई ऐसी बात सामने आती है जो घटना का कारण स्पष्ट करे तो उस संबंध में कार्रवाई की जाएगी।

हत्यारों को फांसी दो के नारे लगाए
बताया जा रहा है कि श्रीराम कुछ दिनों की छुट्टी के बाद शनिवार को ही ड्यूटी पर लौटा और शाम को मंदिर परिसर में निर्माणाधीन भवन के ऊपर जाकर छलांग लगा दी। आवाज सुनकर अन्य कर्मचारी व रहवासी पहुंचे। उन्होंने सुरक्षाकर्मी को आनन-फानन में अस्पताल पहुंचाया, जहां उपचार के दौरान मौत हो गई। प्रत्यक्षदर्शियों का दवा है कि छलांग लगाने के पूर्व उसने जुड़वां बच्चों के हत्यारों को फांसी दो और भारत माता की जय के नारे भी लगाए थे।

suresh mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned