MP पुलिस का ये ASI निकला दगाबाज, देशभक्ति के नाम पर करता है वसूली

आधा दर्जन से ज्यादा शिकायत पर पुलिस अधीक्षक ने किया निलंबित, एएसआई को रिश्वत मांगना पड़ा भारी

By: suresh mishra

Published: 11 Sep 2017, 05:59 PM IST

सीधी। रिश्वत के आरोप में पुलिस अधीक्षक ने कोतवाली में पदस्थ एक एसएसआई को निलंबित कर दिया गया है। एएसआई के खिलाफ रिश्वतखोरी की लगातार शिकायतें मिल रही थी। जिसमें गोपनीय जांच के बाद आरोप की सत्यता पाए जाने पर पुलिस अधीक्षक ने निलंबन की कार्रवाई की गई है।

एक दर्जन से ज्यादा मामले में रिश्वत की मांग

बताया कि कोतवाली में पदस्थ सहायक उप निरीक्षक आरएस पांडेय ने अलग-अलग एक दर्जन से ज्यादा मामले में रिश्वत की मांग की थी। जहां मामला कमजोर करने व रिश्वत के दम पर किसी के आवास पर दूसरे को काबिज कराने सहित अन्य मामलें में लंबी रकम की रिश्वत उनके द्वारा ली गई थी।

पुलिस अधीक्षक के संज्ञान में आने पर कार्रवाई

इससे पूर्व भी उनके खिलाफ रिश्वतखोरी के मामले सामने आ चुके हैं, कई मामले में दूरभाष पर रिश्वत मांगने की आडियो भी सामने आ चुकी हैं। मामला पुलिस अधीक्षक के संज्ञान में आने पर कार्रवाई की गई है।

इनसे की गई थी रिश्वत की मांग
सहायक उप निरीक्षक आरएस पांडेय के खिलाफ आधा दर्जन से ज्यादा मामले में रिश्वत वसूलने या मांगने की शिकायत पुलिस अधीक्षक को मिली थी। जिसमें उपनी गांव निवासी महावीर शाहू पिता विट्टू साहू, रोहिणी प्रसाद पटेल पिता रामाश्रय पटेल जिसका आवास आजाद नगर में बना हुआ है, जहां एक युवक लंबे समय से किराए से रह रहा था। रोहिणी के पिता की मौत होने पर वह पूरे परिवार सहित गांव चला गया।

जबरन दिला देता है कब्जा
जहां एएसआई ने लेन-देन कर उस घर को किराए से रहने वाले युवक को काबिज करा दिया। वहीं घर के अन्य कमरे में ताला बंद करा दिया। इसके अलावा प्रभुनाथ सिंह पिता हरिप्रसाद सिंह निवासी देवघटा व नीलम पांडेय पति कमलाकर पांडेय निवासी रजडिहा ने पुलिस अधीक्षक के पास रिश्वत मांगने की शिकायत की गई थी। गोपनीय जांच कराने के बाद आरोप सही पाए जाने पर निलंबन की कार्रवाई की गई है।

suresh mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned