अजब MP के गजब अधिकारी: नेशनल शूटर BSF जवान के लाइसेंस आवेदन पर सतना SP ने लिखा नॉट रिकमेंड

अजब MP के गजब अधिकारी: नेशनल शूटर BSF जवान के लाइसेंस आवेदन पर सतना SP ने लिखा नॉट रिकमेंड
SP wrote not recommended on license application of National shooter

Suresh Kumar Mishra | Updated: 15 Sep 2019, 07:13:16 PM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

जवान के रिटायर्ड फौजी पिता दो माह से कलेक्टर-एसपी के दफ्तर के लगा रहे चक्कर

विक्रांत दुबे@सतना। मंचों पर सेना और उसके लिए सबकुछ करने का दावा करने वाले सतना के अधिकारियों के कारण एक रिटायर्ड फौजी दो माह से भटक रहा है। सेवानिवृत्त फौजी का दिव्यांग बेटा व बीएसएफ का जवान राष्ट्रीय निशानेबाज है और उसे अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए 22 के पिस्टल के लाइसेंस की जरूरत है।

ये भी पढ़ें: BSF जवान को जरूरत थी एयर पिस्टल की, तो मैनेजर ने कहा-ऐसे सैनिकों को रखते हैं जूते की नोक पर

पिता ने जब बेटे की ओर से लाइसेंस के लिए आवेदन डाला तो पहले फाइल यहां-वहां भेजी गई। फिर सतना पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल ने फाइल पर नॉट रिकमेंड लिखा दिया। मामले में सांसद और पूर्व गृहमंत्री ने भी लाइसेंस देने की सिफारिश की थी। अब पिता को चिंता है कि उनका बेटा दोहा में होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में कैसे भाग लेगा।

ये भी पढ़ें: बेटे ने राष्ट्रीय स्तर पर मेडल जीतकर लिया पिता के अपमान का बदला

यह है पूरा मामला
दरअसल, निशानेबाजी में सतना जिले का नाम देश में रोशन करने वाले अतुल सिंह परिहार नागौद ब्लॉक के ललचहा गांव के रहने वाले हैं। बीएसएफ में दिव्यांग कोर्ट से भर्ती अतुल नेशनल रायफल एसोसिएशन ऑफ इंडिया द्वारा आयोजित 59 वीं राष्ट्रीय स्पर्धा में गोल्ड, सिल्वर और ब्रांज अवार्ड जीत चुके हैं। सेना से रिटायर पिता अमोल सिंह परिहार ने बताया, बेटे अतुल का 10 मीटर एयर पिस्टल मैन दिव्यांग श्रेणी अंतरराष्ट्रीय निशानेबाजी का नवंबर माह में ट्रायल है। बेहतर फरफार्मेंस के आधार पर अंतरराष्ट्रीय स्पर्धा के लिए चयन किया जाएगा। लेकिन अधिकारियों की मनमानी के चलते पिस्टल का लाइसेंस नहीं बन पा रहा है। इससे अतुल के ट्रायल में शामिल होने को लेकर संशय बना हुआ है।

एसपी ने लिख दिया नॉट-रिकमेंड, कलेक्ट्रेट में धूल खा रही फाइल
200 बीएसएफ सिलीगुड़ी पश्चिम बंगाल में बतौर कांस्टेबल पदस्थ अुतल सिंह को अंतराष्ट्रीय स्पर्धा के ट्रायल में शामिल होने के लिए 22 पिस्टल के लाइसेंस की आवश्यकता है। लेकिन अतुल के आवेदन पर एसपी रियाज इकबाल ने नॉट रिकमेंड लिख दिया है, इसके बाद से फाइल कलेक्ट्रेट में धूल खा रही है। पिता बेटे की इच्छा पूरी करने दो माह से कलेक्ट्रेट और एसपी कार्यालय के चक्कर काट रहा है।

सांसद, विधायक के पत्र को कर दिया दरकिनार
पिस्टल का लाइसेंस नहीं बनने से परेशान होकर पिता अमोल सिंह क्षेत्रीय विधायक व पूर्व पीडब्ल्यूडी मंत्री नागेंद्र सिंह के पास पहुंचे। उन्होंने अतुल की उपलब्धियों का उल्लेख कर शीघ्र लाइसेंस की प्रक्रिया पूरी करने का अनुरोध किया। लेकिन अधिकारियों ने उनके पत्र को रद्दी की टोकरी में डाल दिया, जिसके बाद पिता सांसद गणेश सिंह के पास पहुंचे। उन्होंने कलेक्टर को पत्र लिखकर शीघ्र लाइसेंस जारी करवाने का अनुरोध किया।

जवान के लाइसेंस के लिए दिक्कत की कोई बात नहीं है। इस मामले को मैं खुद देखूंगा। जवान के पिता को बुलाकर प्रक्रिया पूरी कराई जाएगी।
-सतेंद्र सिंह, कलेक्टर, सतना

22 एयर पिस्टल के लाइसेंस के लिए कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए। मैं एसपी रियाज इकबाल से बात करूंगा। जवान का लाइसेंस जारी होगा।
-चंचल शेखर, आईजी, रीवा

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned