कैश कटौती की शिकायत पर सुशील कुमार फर्म की गोदाम व काउंटर सील

व्यापारी द्वारा जांच में सहयोग न करने पर मंडी सचिव ने की कार्रवाई

 

By: Sukhendra Mishra

Published: 03 Jan 2020, 11:57 AM IST

सतना. मंडी सचिव के नगद भुगतान पर कैश कटौती न करने के निर्देश की अवहेलना करना गल्ला व्यापारी को महंगा पड़ गया है। गुुरुवार की शाम किसान से कैश कटौती की शिकायत मिलने व व्यापारी द्वारा मामले की जांच में मंडी कर्मचारी का सहयोग न करने को गंभीरता से लेते हुए मंडी सचिव राजेश गोयल ने मंडी परिसर स्थित सुशील कुमार/ सुनील कुमार की फर्म के गोदाम व कैश काउंटर में ताला लगवाते हुए दोनों को सील कर दिया। मंडी सचिव की कार्रवाई की जानकारी लगते ही मंडी के गल्ला व्यापारी मंडी पहुंच गए और मंडी कर्मचारी पर व्यापारी से पैसा मांगने का अरोप लगाते हुए हंगामा करने लगे। कैश कटौती कर रहे व्यापारी के पक्ष में लामबंद व्यापारी मंडी सचिव से मौके पर आकर चर्चा करने की मांग कर रहे थे। लेकिन जब रात 10.30 बजे तक सचिव मंडी नहीं पहुंचे तो लाचार होकर व्यापारी घर वापस लौट गए।

एेसे बिगड़ी बात

व्यापारियों द्वारा नगदी भुगतान के नाम पर किसानों से कैश कटौती की शिकायत मिलने पर शाम सात बजे मंडी सचिव ने सहायक उप निरीक्षक लक्ष्मीकांत को व्यापारियों के काउंटर में जाकार जांच करने के निर्देश दिए। सचिव के निर्देश पर मंडी कर्मचारी सुशील कुमार की फर्म से भुगतान लेकर लौल रहे किसानों से पूछताछ की जिसमें किसानों ने बताया की उनके नगद भगतान के बदले कैश कटौती की गई है। किसानों की लिखित शिकायत पर सहा.उप निरीक्षक व्यापारी की काउंटर में जाकार भुगतन रजिस्टर एवं कैश का मिलान कराने की मांग की। लेकिन व्यापारी ने कैश का मिलान कराने से मना कर दिया। इसकी सूचना कर्मचारी ने सचिव को दी। व्यापारी द्वारा जांच में सहयोग न करने की शिकायत पर रात ९ बजे मंडी सचिव मंडी पहुंचे और व्यापारी का गोदाम और भुगतान काउंटर सील करा दिया।
फर्म संचालक ने की कर्मचारी से अभद्रता

किसान की लिखित शिकायत पर जब मंडी कर्मचारी सुशील कुमार के भुगतान काउंटर पर जाकर कैश का मिलान कराने की मांग की तो व्यापारी मंडी कर्मचारी से अभद्रता करने लगा। व्यापारी ने कहा की मंडी कर्मचारी को हमारे कैश की जांच का अधिकार नहीं हैैं। इस दौरान व्यापारी और कर्मचारी के बीच बाद विवाद भी हुआ। मंडी कर्मचारी का कहना है कि फर्म संचालक ने देख लेने की धमकी भी दी है।
व्यापारियों ने दी खरीदी बंद करने की धमकी

व्यापारी की गोदाम में कार्रवाई की सूचना मिलते की गल्ला व्यापारी एवं तिलहन संघ के पदाधिकारी मंडी पहुंच गए और मंडी सचिव से गोदाम का ताला खोलने की मांग की, लेकिन सचिव ने सुबह गोदाम एवं भुगतान काउंटर की जांच के बाद ताला खोलने को कहा। इससे नाराज व्यापारियों ने मंडी प्रशासन पर दबाव बनाने का अरोप लगाते हुए खरीदी बंद करने की चेतवानी दी।
वर्जन

नगद भुगता के बदले कैश कटोती की शिकातय मिलने पर कर्मचारी को जांच के लिए भेजा था। लेकिन व्यापारी भुगतान रजिस्टर एवं कैस की मिलान कराने से मना कर दिया। इसलिए व्यापारी की गोदाम एवं भुगतान काउंटर सील करा दिया गया है। सुबह ताला खोल कर भुगतान रजिस्टर एवं कैश का मिलान कराया जाएगा। यदि जांच में शिकायत सही पाई गई तो फर्म का लाइसेंस निरस्त करने की कार्रवाई की जाएगी।
राजेश गोयल, सचिव कृषि उपज मंडी सतना

Sukhendra Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned