टारगेट मसल बिल्डिंग बेस्ट फॉर फिटनेस

टारगेट मसल बिल्डिंग बेस्ट फॉर फिटनेस
Target Moss Building Best for Fitness

Jyoti Gupta | Publish: Feb, 11 2019 09:18:20 PM (IST) | Updated: Feb, 11 2019 09:18:21 PM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

हेल्दी लाइफ और हेल्दी बॉडी के लिए यूथ के बीच में हो रही लोकप्रिय

सतना. एक समय था जब शहर के युवा कसरत के नाम पर कार्डियो वर्कआउट करना ही अधिक पसंद करते थे, मगर इस समय ऑलओवर फिटनेस का ख्याल रखते हुए शहर के युवा टारगेट मसल बिल्डिंग एक्सरसाइज करना पसंद कर रहे हैं। वह टारगेटेड मसल बिल्डिंग एक्सरसाइज केवल बॉडी बनाने के नहीं कर रहे बल्कि बॉडी के दूसरे अंगों को भी फिट रखने के लिए इसे कर रहे हैं। जिम ट्रेनर सफायत उल्ला का कहना है कि इन एक्सरसाइज की मदद से चर्बी घटाने से लेकर मूड बेहतर बनाने तक कई फायदे हैं। आमतौर पर इसमें किसी खास अंग को टारगेट किया जाता है। जिससे उस एरिया की मांसपेशी की बेहतर हो सके। जब युवा इस एक्सरसाइज का नाम सुनते हैं तो उन्हें लगता है कि यह सिर्फ बॉडी बिल्डिंग के लिए की जाती है, लेकिन जैसे ही इस वर्क आउट के बारे में उन्हें जानकारी होती है वह इस वर्क आउट को करना पसंद करते हैं। इससे न सिर्फ उनकी बॉडी को बेहतरीन शेप मिलता है बल्कि बॉडी के दूसरे ऑर्गन भी मजबूत होते हैं।

मांसपेश और हड्डियां मजबूत होती है
जिम ट्रेनर जॉन सत्याबाबू का कहना है कि तीस की उम्र के बाद मांसपेशियों का क्षरण शुरू हो जाना आम बात है। इसे रोकने में टारगेट मसल्स बिल्डिंग बहुत कारगर है । यही नहीं इससे हड्डियां भी स्वस्थ रहती हैं और बोन डेंसिटी बेहतर बनती है। भविष्य में गठिया जैसी बीमारी की आशंका कम हो जाती है।

चर्बी कम होती है

एक्सपर्ट का कहना है कि डाइटिंग करने से शरीर के किसी हिस्से की चर्बी घट जाएगी इसकी कोई गारंटी नहीं होती। वहीं टारगेटेड मसल बिल्डिंग में आप तय कर सकते हैं कि शरीर के किस हिस्से की चर्बी कम करनी है। फि र उस हिस्से को टारगेट करते हुए वर्कआउट करें। इससे न केवल वहां की चर्बी घटेगी बल्कि मांसपेशियां भी बेहतर बनेगी।

मिलती है एनर्जी मूड भी रहता है फ्रेश

टारगेटेड मसल बिल्डिंग से एडॉर्र्फिंस का स्राव होता है। यह शरीर में ऊर्जा का स्तर बढ़ा देते हैं। जैसे जैसे युवा वर्क आउट की तीव्रता को बढ़ाते हैं। वैसे- वैसे एडॉर्र्फिंस की मात्रा भी बढ़ती जाती है। एडॉर्र्फिंस का एक और लाभ यह होता है कि हमारे बिगडे़ मूड को यह बेहतर कर देती हैं।

मेटाबॉलिज्म में होगा सुधार

टारगेटेड मसल बिल्डिंग से मेटाबॉलिज्म में सुधार होता है इससे खाना पचाना आसान हो जाता है और अधिक मात्रा में चर्बी घटती है । इसके अलावा अधिकांश लोग गलत पोश्चर की आदत का शिकार हो चुके हैं। लंबे समय तक गलत पोश्चर अपनाने के कारण शरीर के किसी खास भाग पर अत्यधिक प्रभाव पड़ता है जिसका नतीजा होता है किसी जोड़ या मांसपेशी में लगातार रहने वाला दर्द। इसके चलते शरीर का संतुलन बनाने में भी परेशानी आती है। टारगेटेड मसल बिल्डिंग से मांसपेशी मजबूत होती है। इसलिए शरीर का संतुलन आसानी से बनाए रखा जा सकता है। यह एक्सरसाइज शरीर की चुस्ती फु र्ती बनाए रखने में भी मददगार होती है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned