चिकित्सकों को २4 घंटे के अंदर ड्यूटी पर आने का अल्टीमेटम

जिला अस्पताल प्रबंधन की सख्ती: छुट्टी निरस्त होने के बाद भी नहीं आ रहे थे डॉक्टर

 

सतना. जिला अस्पताल प्रबंधन ने अवकाश निरस्त होने के बाद भी चिकित्सकों के ड्यूटी में नहीं लौटने के मामले को गंभीरता से लिया है। नाफरमानी करने वाले गायनी विभाग के सभी पांच चिकित्सकों को अब 24 घंटे के अंदर ड्यूटी में उपस्थित होने का अल्टीमेटम दिया गया है। जिला अस्पताल प्रबंधन ने उपस्थित नहीं होने पर चिकित्सकों को सख्त कार्रवाई की चेतावनी भी दी है।

बता दें कि जिला अस्पताल के लेबर रूम और गायनी ओपीडी में चिकित्सकों की मनमानी और लापरवाही का खुलसा पत्रिका ने क्रमश: 9 जून और 12 जून को किया था। इसके बाद प्रबंधन ने सफाई दी थी कि गायनी और लेबर रूम में तैनात चिकित्सकों के अवकाश निरस्त कर दिए गए हैं। लेकिन हकीकत यह थी कि कोई भी चिकित्सक ड्यूटी पर नहीं लौटा। चिकित्सकों की कमी के चलते सीएमएचओ द्वारा पेरीफेरी के चिकित्सकों की अस्पताल में ड्यूटी लगाई गई थी। लेकिन वे भी अस्पताल नहीं पहुंच रहे थे।


निजी क्लीनिक और नर्सिंग होम में सेवा

लोगों ने शिकायत दर्ज कराई कि जिन चिकित्सकों का स्वास्थ्य महकमे द्वारा अवकाश स्वीकृत किया गया है वे अस्पताल से अवकाश लेकर निजी चिकित्सा संस्थान में सेवाएं प्रदान कर रहे हैं। बकायदा ओपीडी सहित ओटी में पीडि़तों को चिकित्सा व परामर्श प्रदान कर रहे हैं।

ड्यूटी पर नहीं लौटे तो सख्त कार्रवाई
जिला अस्पताल प्रबंधन ने चिकित्सकों की नाफरमानी को गंभीरता से लिया है। प्रबंधन की सख्ती के बाद कुछ चिकित्सक तो ड्यूटी पर लौट आए हैं। लेकिन मेडिकल ऑफिसर डॉ सुनील पाण्डेय, डॉ जसपाल बीना और डॉ आरके तिवारी अभी भी अवकाश से नहीं लौटे हैं। एेसे में सीएस डॉ एसबी सिंह ने सभी चिकित्सकों को 24 घंटे के अंदर ड्यूटी में उपस्थित होने का फरमान जारी किया है। निर्देश का पालन नहीं करने पर सख्त कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई है।

Vikrant Dubey
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned