scriptThere was a lot of ruckus in the meeting of Congress | satna: भड़के कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव ने कहा, मैं आप लोगों की तू-तू मैं-मैं सुनने नहीं आया हूं... | Patrika News

satna: भड़के कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव ने कहा, मैं आप लोगों की तू-तू मैं-मैं सुनने नहीं आया हूं...

कांग्रेसियों की बैठक में जमकर हुआ हंगामा, एक दूसरे पर खूब लगे आरोप प्रत्यारोप

सतना

Published: May 07, 2022 01:41:32 pm

सतना. कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव संजय कपूर की मौजूदगी में जिले के पार्टी पदाधिकारियों और वरिष्ठ नेताओं की बैठक में जमकर हंगामा हुआ। राष्ट्रीय सचिव के सामने ही मौजूद लोगों ने एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप की झड़ी लगा दी। स्थिति को देखते हुए राष्ट्रीय सचिव भड़क गये। उन्होंने यहां तक कह दिया कि यहां मैं आप लोगों की तू-तू मैं-मैं सुनने थोड़ी आया हूं। मैं बैठा हूं और आप लग लड़ झगड़ रहे हैं। एक दूसरे के कान खींच रहे हैं। जब मेरे सामने यह स्थिति है तो अनुपस्थिति में क्या होती होगी।
भड़के कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव ने कहा, मैं आप लोगों की तू-तू मैं-मैं सुनने नहीं आया हूं...
There was a lot of ruckus in the meeting of Congress
15 माह की सरकार में सबसे ज्यादा परेशान कांग्रेसी हुए

मिली जानकारी के अनुसार कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव संजय कपूर ने शुक्रवार को सर्किट हाउस में संगठनात्मक बैठक ली। इस दौरान आरोप प्रत्यारोप का दौर चल निकला। यहां मौजूद लोगों ने जहां सतना विधायक के संबंध में कहा कि कांग्रेस के कार्यक्रमों में नहीं आते। कोई मतलब नहीं रखते हैं। इस दौरान यह बात भी आई कि 15 माह की कांग्रेस सरकार में सबसे ज्यादा परेशान कांग्रेस की ही लोग रहे। गिनती के तीन चार लोगों की सुनी गई। शिकायत यह भी की गई कि एक बड़े नेता के इशारे पर उनके खिलाफ ही प्रकरण दर्ज करा दिया गया। यह भी बताया गया कि विधायक के खिलाफ ही प्रकरण दर्ज हो गया। इस पर एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि जब विधायक ही सुरक्षित नहीं है तो फिर क्या?
जिलाध्यक्ष बदलने की भी मांग

रामपुर ब्लाक की बैठक में जिलाध्यक्ष पर आरोप लगाते हुए बदलने की बात कही गई। मैहर के मामले में कहा गया कि ऐसे लोगों को टिकट दे दिये जाते हैं दूसरे चुनाव तक पार्टी में रह नहीं पाते हैं। एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि प्रदेशाध्यक्ष से कहें कि वे आम लोगों से भी मिलें। इसके साथ ही कई आरोप एक दूसरे पर भी लगाए जाने लगे। यह देख राष्ट्रीय सचिव को गुस्सा आ गया। तल्ख आवाज में उन्होंने कह दिया कि यहां मैं आप लोगों की तू-तू मैं-मैं सुनने नहीं आया हूं। यह सुनते ही एक वरिष्ठ कांग्रेस नेता भी उसी तल्खी में उन्हें जवाब दे दिया। कहे कि फिर आप यहां क्या करने आए हैं। आप अभिभावक की भूमिका में है और जो मसले यहां नहीं सुलझ रहे हैं तो किससे कहा जाएगा। इसका समर्थन अन्य मौजूद कांग्रेसी भी करते दिखे। तब राष्ट्रीय सचिव ने स्थिति को देखते हुए मामला संभाला। फिर वे संगठन और एका का पाठ पढ़ाने लगे।
कैलेण्डर देख कर भेजे कार्यक्रम

इस दौरान एक कांग्रेस नेता ने कहा कि जो कार्यक्रम भेजे जाते हैं कम से कम कैलेण्डर देखकर तो तय किये जाए। बैठकी जो रामनवमी की शुरुआत है उस दिन धरना के लिये कह दिया जाता है। हनुमान जयंती के दिन कार्यक्रम भेज दिये जाते हैं। ऐसे में लोग कहां से जुड़ेंगे। कम से कम एआईसीसी और पीसीसी को इस दिशा में ध्यान देना चाहिए। इस मामले को लंबा न खींचते हुए कह दिया गया कि कार्यक्रम ऊपर से ही तय होते हैं।
जो काम नहीं किये वो परेशान हुए

बैठक में शिकवा शिकायतों के दौरा में कपूर से कहा गया कि 15 माह की कांग्रेस सरकार में सबसे ज्यादा कांग्रेसी ही परेशान हुए है। इस पर कटाक्ष करते हुए विधायक सतना ने कहा कि परेशान वहीं हुए होंगे जिन्होंने कांग्रेस का काम नहीं किया होगा। पार्षद रहे एक नेता ने कहा कि कमलनाथ से बोलिए की छोटे कार्यकर्ताओं से भी मिलें। अब अपनी कार्यशैली बदलें।
मिशन 2023 की तैयारी शुरू करें कार्यकर्ता

बैठक के दौरान कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव संजय कपूर ने पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए कहा है कि अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं को अभी से कमर कस लेनी चाहिए। यह चुनाव मप्र की दिशा और दशा को तय करेगा क्योंकि भाजपा सरकार का क्रूर चेहरा अब बेनकाब हो चुका है। भाजपा सरकार ने आम जनता की जिस तरह से दुर्दशा की है उसका जबाब देने के लिए प्रदेश की जनता तैयार बैठी है, हमें जनता की ताकत बनना होगा। जिला संगठन प्रभारी नरेश सर्राफ, निशीथ पटेल,जिला अध्यक्ष दिलीप मिश्रा, शहर अध्यक्ष मक़सूद अहमद की मौजूदगी में कपूर ने कहा कि वरिष्ठ नेता ब्लॉक अध्यक्षों के साथ मण्डलम एवं सेक्टर की बैठकों में हिस्सा लें। उसके पश्चात जिला स्तर पर बड़ी बैठक कर आगे की रणनीति पर चर्चा की जाएगी।
रामपुर और मैहर में विशेष रणनीति

कपूर ने रामपुर एवं मैहर विधानसभा के संबंध में कहा कि यहां के लिये पार्टी विशेष रणनीति तैयार करेगी। कहा, कांग्रेस की सरकार ने लाखों किसानों के कर्जे माफ किये और अगर फिर से सरकार बनी तो हम सभी किसानों के कर्जे माफ करेंगे।
ये रहे मौजूद

इस दौरान पूर्व मंत्री सईद अहमद, विधायक सिद्धार्थ कुशवाहा, कल्पना वर्मा, राजाराम त्रिपाठी, सुधीर सिंह तोमर, रामलखन पटेल, ऊषा चौधरी, रामशंकर पयासी, मनीष तिवारी, गणेश त्रिवेदी, उर्मिला त्रिपाठी, धर्मेश घई, देवदत्त सोनी, अजीत सिंह, डॉ पीडी पटेल, रश्मी सिंह, भागवत सिंह तिवारी, प्रागेन्द्र बागरी, रमेश द्विवेदी, सज्जन सिंह तिवारी, पुष्पराज सिंह, गेंदलाल पटेल, उपेंद्र सेन, संतोष पांडे,रामप्रताप उरमलिया, आरके सिंह, गुरबेन्द्र सिंह, प्रवीण सिंह, तिलकराज सोनी, साबिर खान, गोविंद पटेल, चूड़ामणि बढोलिया, शशि मिश्रा, रामभद्र पांडे सहित अन्य मौजूद रहे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: क्या फ्लोर टेस्ट में बच पाएगी MVA सरकार! यहां समझे पूरा गणितMaharashtra Political Crisis: शिवसेना में बगावत के बाद अब उपद्रव का डर! पोस्टर वॉर के बीच एकनाथ शिंदे के गढ़ ठाणे में धारा 144 लागूMaharashtra Political Crisis: नवनीत राणा ने की महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग, बोलीं- उद्धव ठाकरे की गुंडागर्दी खत्म होनी चाहिएBPSC Paper Leak: पेपर लीक मामले में गिरफ्तार हुए JDU नेता शक्ति कुमार, सबसे पहले पेपर स्कैन कर WhatsApp पर था भेजाAmarnath Yatra: अमरनाथ यात्रा से 4 दिन पहले प्रशासन अलर्ट, सुरक्षा व्यवस्था को लेकर उठाया बड़ा कदमMumbai News Live Updates: ठाणे के बाद अब मुंबई में धारा 144 लागू, बागी एकनाथ शिंदे के आवास की भी बढ़ाई गई सुरक्षाMaharashtra Political Crisis: एक्शन में शिवसेना! अयोग्य करार देने के लिए डिप्टी स्पीकर को भेजा 4 और MLA के नाम, 16 बागियों पर भी कार्रवाई की तैयारीAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा है
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.