बंगला-कार के मालिक, लाखों की आय, फिर भी टैक्स देने में आनाकानी, ये है शहर के टॉप 10 चोर

बंगला-कार के मालिक, लाखों की आय, फिर भी टैक्स देने में आनाकानी, ये है शहर के टॉप 10 चोर

Suresh Kumar Mishra | Publish: Sep, 02 2018 03:15:05 PM (IST) Satna, Madhya Pradesh, India

निगम ने चस्पा किया कुर्की नोटिस: शहर के 10 बड़े व्यापारियों के घर निगम ने चस्पा किया नोटिस, तीन दिन में नहीं चुकाया संपत्तिकर तो कुर्क होगी संपत्ति

सतना। नगर निगम ने रसूखदार व्यापारियों के घरों व दुकानों पर शनिवार को कुर्की का नोटिस चस्पा किया। यह कार्रवाई शहर के 10 बड़े व्यापारियों के संस्थानों पर की गई। बताया गया कि इनके पास शहर में आलीशान मकान है, चढऩे की लिए मोटर कार है, हर माह लाखों रुपए की कमाई करते हैं, इसके बाद भी संपत्तिकर की चोरी कर रहे हैं। हैरान करने वाली बात ये है कि ये वो व्यापारी हैं, जो करीब एक दशक से संपत्तिकर नहीं चुका रहे हैं। इस स्थिति को देखते हुए निगम ने सख्ती बरती और इन बड़े बकायादारों से टैक्स वसूलने शिकंजा कस दिया।

ये है मामला
शनिवार को उपायुक्त महेश कुमार कोरी के नेतृत्व में संपत्तिकर शाखा की टीम वार्ड क्रमांक-41 बाजार क्षेत्र के दस बड़े बकायादारों के घर एवं दूकान में कुर्की का नोटिस चस्पा किया। जिसमें तीन दिन में बकाया संपत्तिकर जमा करने को कहा गया है। जारी नोटिस में यह चेतावनी दी गई है कि राशि जमा नहीं कराई गई तो मकान की कुर्की करते हुए संपत्तिकर की वसूली की जाएगी। उपायुक्त ने बताया इन बकायादारों को तीन बार पहले नोटिस जारी की जा चुकी है। इसके बावजूद संपत्तिकर जमा नहीं हुआ। इसलिए इन्हें अंतिम नोटिस जारी कर तीन दिन में बकाया राशि जमा करने की मोहलत दी गई है।

दबा रखे हैं 40 लाख
उपायुक्त का कहना है कि संपत्तिकर की सबसे अधिक राशि वार्ड-41 में बकाया है। जिन 10 व्यापारियों को संपत्ति कुर्क करने का नोटिस दिया गया है। उन पर 40 लाख से अधिक संपत्तिकर बकाया है। इनमें से अधिकांश संपत्तिकरदाता एेसे हैं। जिनकी बाजार में कई दुकानें हैं। इनसे हर माह लाखों रुपए किराया मिलता है। इसके बाद व्यापारियों ने बीस साल से टैक्स जमा नहीं किया। इनमें से आधे व्यापारी एेसे हैे जिन पर 4 लाख रुपए से अधिक का संपत्तिकर बकाया है।

सुविधा चाहिए टैक्स देने में आनाकानी
शहर की जनता को सुविधाएं तो सभी चाहिए। लेकिन बिना टैक्स चुकाए। शहर में बिजली, सड़क व पानी की मांग करने वाले रसूखदार संपत्तिकर दाता टैक्स चुकाने आगे नहीं आ रहे। आलम यह है कि शहर के बड़े बकायादारों पर 20 करोड़ रुपए से अधिक का संपत्तिकर बकाया है। जिसे वसूलने निगम के अधिकारियों को एड़ी चोटी का जोर लगाना पड़ रहा है।

इन्हें थमाया नोटिस
- बकायादार राशि
- कृष्णचंद्र गुप्ता 829540
- हजारीलाल अवस्थी 646434
- गंगा आयरन 585277
- शंकरलाल अवस्थी 347054
- कलावती गुप्ता 336154
- सुंदरी बाई जैन 307499
- शैलेन्द्र कुमार दुबे 228879
- नरेन्द्र जैन 234902
- प्रेमचन्द्र जैन 211077
- रतनचन्द्र जैन 262761

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned