बच्चों को बस से विद्यालय भेजते हैं तो यह खबर जरूर पढ़ें, शासन ने रखी ये शर्तें

बच्चों को बस से विद्यालय भेजते हैं तो यह खबर जरूर पढ़ें, शासन ने रखी ये शर्तें
Transportation Department issued 17 points guideline for bus driver

Sonelal Kushwaha | Updated: 15 Jun 2019, 01:23:14 AM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

मप्र में बढ़ते सड़क हादसे रोकने के लिए परिवहन विभाग ने जारी की 17 बिंदुओं की गाइडलाइन

सतना. अतिरिक्त क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी ने नए शैक्षणिक सत्र को देखते हुए स्कूल बस संचालन के संबंध में उच्च न्यायालय द्वारा जारी 17 बिंदुओं की गाइडलाइन जारी की है। विद्यालय प्रबंधन को इस गाइडलाइन का पालन करना जरूरी होगी। पालन न किए जाने पर संबंधित पर कार्रवाई की जाएगी। साथ ही यह भी स्पष्ट किया गया कि स्कूल बस वही चालक चला सकेगा, जसके पास चार साल पुराना ड्राइविंग लाइसेंस हो।

फस्र्ट एड बाक्स जरूरी
बताया गया कि गाइडलाइन के अनुसार बसों के आगे-पीछे स्कूली बस लिखा होना चाहिए। बस पर स्कूल ड्यूटी पर इंगित किया जाए। बस में फस्र्ट एड बाक्स हो। बस की खिड़कियों को क्षैतिजग्रिल से सुसज्जित किया जाए। बस में आग बुझाने का यंत्र हो। बस में स्कूल का नाम और टेलीफोन नम्बर लिखा हो। दरवाजों को विश्वसनीय तालों से सुसज्जित किया जाए। बैग सुरक्षित रखने सीट के नीचे स्पेस-किट हो। बस में स्कूल से अटेंडेंट होना चाहिए।

40 किमी प्रति घंटे का स्पीड गवर्नर
स्कूल कैब को स्पीड गवर्नर के साथ 40 किमी प्रति घंटे की गति सीमा के साथ फिट होना चाहिए। स्कूल कैब का मुख्य भाग वाहन के चारों ओर 150 मिमी चौडाई के हरे रंग क्षैतित पट्टी के साथ अन्य हिस्सा पीले रंग का हो और वाहन के चारों ओर स्कूल कैब प्रदर्शित होना चाहिए।

डेढ़ गुना से ज्यादा न हों बच्चे
यदि स्कूली बच्चों की आयु 12 वर्ष से कम हो तो बच्चों के बैठने की क्षमता स्वीकार बैठने की क्षमता से डेढ़ गुना से अधिक नहीं होनी चाहिए। 12 वर्ष के अधिक उम्र के बच्चों को एक व्यक्ति के रूप में मान्य किया जाएगा। अर्थात जितनी सीट बस पास है उतने ही बच्चे बैठ सकेंगे। स्कूल कैब के ड्राइवर के पास 4 वर्ष का पुराना एलएमवी वैध लाइसेंस हो, हल्के नीले रंग की शर्ट, पतलून और काले जूते और शर्ट पर नाम आईडी प्रदर्शित होना चाहिए।

बच्चों की सूची बस में रहे
स्कूल कैब में सवार बच्चों की सूची लेकर जाएं। नाम, वर्ग, रिहायशी पता, ब्लडगु्रप, स्टापेज के बिन्दु, रूट प्लान आदि के संकेत हों। यदि कोई अधिकृत व्यक्ति स्कूल और माता-पिता द्वारा पारस्परिकता को मान्यता देता है तो बच्चे को हॉल्टिंग बिन्दुओं से लेने के लिये नहीं आता है तो इस तरह बच्चे को वापस स्कूल में ले जाया जाएगा और उनके माता-पिता को बुलाया जाना चाहिए।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned