कोरोना संकट से प्रभावी ढंग से जूझने में टेक्नोलॉजी ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई: डॉ. राय

भारतीय संस्कृति एवं व्यवहार में परिवर्तन विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय वेबीनार

By: suresh mishra

Updated: 12 May 2020, 11:38 PM IST

सतना. कोरोना पश्चात भारतीय संस्कृति एवं व्यवहार में परिवर्तन विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन मध्यांचल समाजशास्त्र परिषद जबलपुर के महासचिव डॉ. ध्रुव दीक्षित के आयोजन में संपन्न हुआ। इसमें लखनऊ, गोरखपुर, प्रयागराज, चित्रकूट, भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर, रीवा, सतना, हरदोई, दतिया, दमोह, रायपुर आदि विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों के प्राध्यापकों, शोध छात्रों एवं विद्यार्थियों ने भाग लिया। मानव समाज में टेक्नोलॉजी के महत्व विषय पर शोध पत्र प्रस्तुत करते हुए शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय सतना के समाज शास्त्र के प्राध्यापक एवं समाज कार्य विभाग के अध्यक्ष डॉ. एससी राय ने कहा कि कोरोना संकट से प्रभावी ढंग से जूझने में टेक्नोलॉजी ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

वर्क फ्रॉम होम, सूचनाओं का तीव्र गति से संप्रेषण फैक्ट्रियों द्वारा तत्काल कोरोना उपयोगी यंत्रों उपकरणों एवं अन्य सामग्री का निर्माण, तीव्र गति से टेस्ट, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, रोबोट का उपयोग, सैनिटाइजेशन प्रक्रिया, कोरोना उपयोगी स्टार्टअप आदि में टेक्नालॉजी ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।
वेबीनार में डॉ. मानवेंद्र सिंह गोरखपुर, डॉ. रमेश मकवाना गुजरात, डॉ. आशीष सक्सेना इलाहाबाद, डॉ. महेश शुक्ला रीवा, डॉ. अलकेश चतुर्वेदी जबलपुर, डॉ. प्रीति शर्मा रायपुर, डॉ. मनिंद्र तिवारी लखनऊ, डॉ.सविता सिंह भोपाल, डॉ. गजानन मिश्रा नरसिंहपुर, डॉ. विजय गंभीर ग्वालियर, डॉ. प्रदीप दीक्षित हरदोई, डॉ. वासुदेव सिंह जादोन दतिया, डॉ. स्वाति शुक्ला रीवा, डॉ. शिवानी राय दमोह आदि ने अपने शोध पत्र प्रस्तुत किए एवं संवाद में परिचर्चा में भाग लिया। वेबीनार के अंत में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध भारतीय समाजशास्त्री डॉ. योगेंद्र सिंह के निधन पर श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

suresh mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned