बस-ट्रक की भिड़ंत में दो दर्जन यात्री घायल, ट्रक की बॉडी काटकर चालक को निकाला

लामी करही गांव के पास हादसा, रीवा के हनुमना से सतना होते हुए नागपुर जाने वाली बस की सीधी टक्कर ट्रक से हो गई। 

By: suresh mishra

Published: 18 Aug 2017, 11:32 AM IST

सतना। रीवा के हनुमना से सतना होते हुए नागपुर जाने वाली बस की सीधी टक्कर ट्रक से हो गई। रामपुर बाघेलान थाना क्षेत्र में लामी करही गांव के पास गुरुवार की शाम करीब पौने ६ बजे हुए हादसे के बाद घायलों को सतना और रीवा के अस्पताल में दाखिल कराया गया है।

हादसे के बाद ट्रक चालक को कटर मशीन से ट्रक बॉडी काटने के बाद बाहर निकाला जा सका। घटना की खबर मिलने पर टीआई अनिमेष द्विवेदी, एएसआई नरेन्द्र सिंह गहरवार समेत राजस्व अधिकारी मौके पर पहुंच गए थे।

पुलिस के मुताबिक, हनुमना से चलकर नागपुर जा रही बस एमपी १९ पी ८०६० जब लामी करही में ड्राइवर ढाबा के पास पहुंची तभी सामने से आ रहे ट्रक एमपी १९ एचए २४४१ से उसकी टक्कर हो गई। प्राथमिक जांच के बाद गलती बस चालक की मानी जा रही है। पुलिस ने बस सवार नर्वदा प्रसाद सोंधिया (४०) निवासी रतनी मऊगंज जिला रीवा की रिपोर्ट पर प्रकरण कायम करते हुए उसे जिला अस्पताल भेजा है।

जिला अस्पताल में भर्ती
इसके साथ ही घायल रामजी त्रिपाठी निवासी बिरसिंहपुर, राममिलन साकेत (३०), कैलाश पाल (२९) निवासी सलैया, रमेश साकेत निवासी चुरहट, राजेश साकेत (२५) निवासी भगतपुरा समेत अन्य को जिला अस्पताल सतना भेजा गया। जबकि ट्रक चालक की हालत नाजुक होने पर उसे मेडिकल कॉलेज रीवा भेजा गया है।

ये भी पढ़ें:

छेडख़ानी के आरोपी को ३ साल की जेल
नाबालिग किशोरी से छेडख़ानी करने और परिजनों के साथ मारपीट करने के आरोपी को सत्र अदालत ने तीन साल कारावास की सजा सुनाई है। न्यायाधीश धीमन नारायण शुक्ला की अदालत ने आरोपी पर जुर्माना भी लगाया है। डीपीओ गणेश पाण्डेय के अनुसार, पीडि़त किशोरी अपनी बहन के साथ शौच के लिए गई थी।

शौच से लौटते समय रास्ते में छेडख़ानी
30 सितम्बर २०13 को सुबह शौच से लौटते समय रास्ते में आरोपी ने उसके साथ छेडख़ानी किया। हल्ला मचाने पर आरोपी भाग खड़ा हुआ। पीडि़ता ने मां-पिता के निमंत्रण से वापस आने पर घटना के बारे में बताया। पीडि़ता के पिता ने आरोपी के पिता से उसके घर जाकर शिकायत किया तो उसके साथ भी मारपीट की गई। घटना की रिपोर्ट पीडि़ता ने रामपुर थाने में दर्ज कराई।

पिता पुत्र गिरफ्तार
विवेचना के दौरान आरोपी पिता पुत्र को गिरफ्तार कर आरोप पत्र न्यायालय में पेश किया गया। अदालत ने आरोप साबित पाए जाने पर आरोपी राजेन्द्र केवट (३०) को पास्को एक्ट की धारा 8 के अपराध में तीन साल करावास और एक हजार के जुर्माने की सजा सुनाई। वहीं आरोपी के पिता जुवराज केवट निवासी गौहारी को भादवि की धारा 32३ में 5 सौ रुपये के जुर्माने से दंडित किया है।

suresh mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned