सतना में अनोखा मामला: सड़क से गुमटियां हटीं तो मुख्य मार्गों पर ही सज गए ठेल, आधी रेट में चालू हो गई दुकानदारी, जाने क्या है मामला

कार्रवाई के तीसरे दिन सज जाती हैं दुकानें, रहवासी बोले-अतिक्रमण का स्थाई समाधान जरूरी

By: Anil singh kushwah

Published: 10 Mar 2019, 06:12 PM IST

सतना. मुख्य मार्गों का अतिक्रमण हटाकर शहर की यातायात व्यवस्था सुधारने के निर्देश कलेक्टर से लेकर निगमायुक्त तक दे चुके हैं। नगर निगम के अतिक्रमण दस्ते द्वारा मुख्य मार्गों से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई भी निरंतर की जा रही है। लेकिन, निगम प्रशासन के पास अतिक्रमण हटाने का स्थाई समाधान न होने से यह कार्रवाई रंग नहीं ला पा रही। जिन सड़कों पर सजी गुमटियां और दुकानें हटती हंै, वहां दूसरे दिन गुमटियों के स्थान पर लोग ठेला लगाकर दुकानदारी चालू कर देते हैं।

बिरला रोड और जिला अस्पताल रोड का बुरा हाल
सोमवार को बिरला रोड बस डिपो के सामने से अतिक्रमण हटाया गया तो मंगलवार को वर्षों बाद यह सड़क चौड़ी और जाम से मुक्त दिखी। स्थानीय रहवासियों ने कहा कि अतिक्रमण तो हट गया पर व्यवस्था तब सुधरेगी जब सड़क पर फिर अतिक्रमण न हो। लोगों ने बताया कि यहां पर अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई कोई पहली बार नहीं हुई। इससे पहले भी गुमटियां और दुकानंे हटाई जा चुकी हैं पर चार दिन बार फिर सब कुछ पहले जैसा हो गया। लोगों ने कहा कि सड़कों से अतिक्रमण हटाना जरूरी है। एक दिन की कार्रवाई से कुछ नहीं होगा। प्रशासन को इसका स्थाई समाधान खोजना चाहिए।

स्टेशन रोड पर फिर सजी दुकान
स्टेशन रोड, पालिका बाजार तथा अस्पताल रोड की यातायात व्यवस्था सुधारने के लिए कलेक्टर सतेंद्र सिंह स्वयं सड़क पर उतर कर अतिक्रमण हटवा चुके हैं। लेकिन, सड़क दो-चार दिन से अधिक अतिक्रमण मुक्त नहीं रह पाई। पालिका बाजार में एक ओर जहां फुटपाथी दुकानंे सज गई हैं वहीं दूसरी ओर व्यापारी भी आधे सड़क तक दुकान सजा रहे हैं।

फुटपाथी कारोबार के लिए चिह्नित हो जमीन
शहर की सड़कों पर ठेला लगाने वाले फुटपाथी दुकानदारोंं ने कहा कि वे यातायात व्यवस्था में बाधक नहीं बनना चाहते। लेकिन, शहर में कहीं भी फुटपाथी कारोबारियों के लिए जमीन उपलब्ध न होने से हम सड़क पर ठेला लगाने को मजबूर हैं। सड़क से अतिक्रमण हटाने के नाम पर प्रशासन सिर्फ गरीब दुकानदारों पर डंडा चलाता है, यह उचित नहींं। प्रशासन चाहता है कि सड़कें अतिक्रमण मुक्त रहें तो कार्रवाई से पहले फुटपाथी कारोबारियों के लिए सड़क किनारे जमीन चिह्नित की जाए।

Anil singh kushwah Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned