अपंजीकृत चिकित्सक की क्लीनिक तक पहुंचे सीएमएचओ, कार्रवाई की नहीं जुटा पाए हिम्मत

अपंजीकृत चिकित्सक की क्लीनिक तक पहुंचे सीएमएचओ, कार्रवाई की नहीं जुटा पाए हिम्मत
Unregistered doctor story: jholachap doctor ki complaint kaise kare

Suresh Kumar Mishra | Publish: Aug, 13 2019 12:55:17 PM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

खानापूर्ति: अंजीकृत चिकित्सक को महज चेताया। पूछा, तुमने बोर्ड में अपने नाम के आगे डॉक्टर कैसे लिखवाया है?

सतना। सीएमएचओ डॉ. अशोक कुमार अवधिया ने सोमवार की दोपहर बिरसिंहपुर स्थित एक अपंजीकृत चिकित्सक की क्लीनिक में खानापूर्ति की दबिश दी। बिना पंजीयन चल रही क्लीनिक को देखकर भी सीएमएचओ कार्रवाई की हिम्मत नहीं जुटा पाए। अंजीकृत चिकित्सक को महज चेताया। पूछा, तुमने बोर्ड में अपने नाम के आगे डॉक्टर कैसे लिखवाया है? क्या पढ़ाई-लिखाई की है, अपनी डिग्री, डिप्लोमा अभी प्रस्तुत करो।

नर्सिंग होम का बोर्ड लगा रखा है। तुमको किसने नर्सिंग होम के संचालन की अनुमति दी है? दस्तावेज प्रस्तुत नहीं करने पर अंपजीकृत चिकित्सक को अल्टीमेटम दिया कि दो दिन के अंदर डिग्री, डिप्लोमा सहित अन्य दस्तावेज सीएमएचओ दफ्तर में प्रस्तुत करो। तब तक क्लीनिक पर टंगे डॉक्टर और नर्सिंग होम के बोर्ड को हटवाओ। निर्देश का पालन नहीं करने एफआईआर भी दर्ज कराएंगे।

जान से खिलवाड़
दरसअल, सीएमएचओ कार्यालय में लोगों द्वारा बिरसिंहपुर क्षेत्र में बड़ी संख्या में अपंजीकृत चिकित्सकों के सक्रिय होने की शिकायत दर्ज कराई जा रही थी। बताया गया था कि अपंजीकृत चिकित्सक बिना डिग्री-डिप्लोमा मरीजों का इलाज कर उनकी जान से खिलवाड़ कर रहे हैं। उनके गलत इलाज से पीडि़तों की मौत भी हो रही। इसके बाद सीएमएचओ सोमवार दोपहर बिरसिंहपुर पहुंचे।

अल्टीमेटम देकर वापस लौट आए

वहां उन्होंने सबसे पहले रावेंद्र तिवारी की क्लीनिक में दबिश दी। गड़बड़ी मिलने के बाद भी किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की गई। महज चेतावनी देकर लौट आए। इसके बाद शिव चौक स्थित डॉ आरके मिश्रा और एफसी विश्वकर्मा की क्लीनिक भी पहुंचे। सीएमएचओ ने यहां भी अनेक गड़बडि़यां पाईं। सभी को सीएमएचओ दफ्तर उपस्थित होने का अल्टीमेटम देकर वापस लौट आए।

कोटर-बिरसिंहपुर पीएचसी की देखी व्यवस्था
सीएमएचओ डॉ अशोक कुमार अवधिया बिरसिंहपुर के पहले प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कोटर पहुंचे। वहां पाया कि डिलीवरी प्वॉइंट होने के बाद भी पेयजल की व्यवस्था नहीं है। इससे गर्भवती और प्रसूताओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बिरसिंहपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का भी जायजा लिया। परिसर में चल रहे निर्माण कार्यों की गति बढ़ाने के निर्देश दिए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned