वीआईपी रोड पर उड़ाए 10 लाख, न कीचड़ कम हुआ न गड्ढे, पढ़ें सांसद की गली का हाल

पेट्रोल-पंप तिराहा से सांसद वाली गली का हाल, नगर निगम इंजीनियरों की तकनीकी दक्षता पर उठे सवाल

सतना। बिरला रोड पर स्थित यादव पेट्रोल-पंप तिराहे से सांसद गणेश सिंह के आवास तक जाने वाली शहर की वीआइपी सड़क पर जलभराव रोकने के लिए निगम प्रशासन ने सड़क के ऊपर सड़क बनवाई। जल-निकासी के लिए सड़क किनारे सीसी नाली का निर्माण कराया। वीआइपी मूवमेंट को देखते हुए लगभग 50 फीट सड़क की मरम्मत में बीते एक वर्ष में 10 लाख रुपए फूंक दिए।

इसके बाद भी न सड़क पर जलभराव बंद हुआ और न गड्ढे कम हुए। शुक्रवार को हुई बेमौसम बारिश ने नगर निगम के इंजीनियरों की तकनीकी दक्षता और दिशाहीन निर्माण कार्यों की पोल खोल दी। रिमझिम बारिश में एक बार फिर शहर की यह वीआइपी सड़क जलमग्न हो गई। सड़क पर घुटनों तक जलभराव व कीचड़ के बीच गुजरने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

सड़क से ऊंची नाली
दुकानदारों ने बताया, बिरला रोड से फ्रैंड्स कॉलोनी की ओर मुड़ते ही तिराहे पर बनी सड़क जमीन लेवल से नीची थी। इसलिए थोड़ी बारिश में भी पानी सड़क पर जमा हो जाता था। वीआइपी गली होने के कारण नगर निगम प्रशासन ने इस सड़क का जलभराव रोकने सड़क के ऊपर सड़क बनवा दी। इसके बाद भी जब सड़क पर जल-भराव कम नहीं हुआ तो दूसरी बार फिर से इसमें कांक्रीट का लेप करवाया।

जल-निकासी के लिए सड़क किनारे सीसी नाली भी बनवाई पर ठेकेदार ने नाली सड़क लेवल से ऊपर बना दी। तकनीकी खामी के कारण सड़क व नाली निर्माण पर दस लाख से अधिक खर्च करने के बाद इस सड़क को पानी एवं कीचड़ से मुक्ति नहीं मिल पाई। सड़क निर्माण कार्य तकनीकी एवं गुणवत्ता को दरकिनार कर दिया गया। परिणाम, दो बार मरम्मत होने के बाद भी सीसी सड़क की कांक्रीट उखडऩे लगी है।

suresh mishra
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned