रजवाड़ा लुक ज्वेलरी बढ़ाएंगी की महिलाओं की खूबसूरती

रजवाड़ा लुक ज्वेलरी बढ़ाएंगी की महिलाओं की खूबसूरती

Jyoti Gupta | Publish: Sep, 06 2018 09:43:36 PM (IST) Satna, Madhya Pradesh, India

फैशन: ज्वेलरी में कलाकार एेतिहासिक, धार्मिक धरोहरों और गॉड का टच कर रहे डिजाइन

सतना. ज्वेलरी कलेक्शन की बात करें तो महिलाएं और गल्र्स इनकी दीवानी होती हैं। वे हमेशा कुछ इनोवेटिव, क्रिएटिव ज्वेलरी की डिमांड करती हैं। इन दिनों उनका दिल एंशिएंट ज्वेलरी पर आ गया है। मतलब एेतिहासिक और धार्मिक स्थलों की नक्काशी बेहद पसंद आ रही है। ताजमहल, कुतुब मीनार और अन्य ऐतिहासिक धरोहर का चित्र या तो किताबों के पन्नों पर मिलता है या इनके चित्र किसी एग्जीबिशन में दिखते हैं। अब हमारी धरोहर ज्वेलरी की खूबसूरती बढ़ाने में भी मददगार साबित हो रही है। इसी के चलते शहर में भी इसकी लोकप्रियता बढ़ रही है। चाहे आर्टिफिशियल ज्वेलरी हो या फिर गोल्ड, स्पेशली ऑर्डर में शहर में मंगवाए जा रही हैं।

आर्टिफिशियल से गोल्ड तक डिमांड में
आर्टिफि शियल से लेकर गोल्ड की ज्वेलरी में कलाकार ऐतिहासिक धरोहर को शामिल कर रहे हैं। इस तरह का कलेक्शन गल्र्स को खासतौर पर पसंद आ रहा है, क्योंकि इसे पहनने पर लुक में रजवाड़ा स्टाइल झलकता है। जब इसे हैवी ड्रेस के साथ कैरी किया गया हो तक की बात ही कुछ और है। डिजाइनर का कहना है कि रजवाड़ा स्टाइल को व्यक्त करने वाली ज्वेलरी को हैवी लहंगे या फि र हैवी साड़ी के साथ कैरी किया जा सकता है। खासतौर किसी अच्छे फंक्शन में।

तभी जब आर्डर किया हो

सराफा बाजार के कारोबारियों का कहना है, इस तरह की ज्वेलरी को सिर्फ आर्डर के आधार पर तैयार किया जा रहा है। वह भी हार, हाथफू ल, करधनी पर, क्योंकि इन ज्वेलरी पर कारीगरी करने में आसानी होती है। आर्टिफि शियल ज्वेलरी में इस तरह का कलेक्शन कई वैराइटी में उपलब्ध है। जानकारी के मुताबिक इस तरह के कलेक्शन की शुरुआत कुछ दिन पहले मद्रास से हुई थी। वहां से राजा रजवाड़ों के शासन को याद दिलाने वाला यह कलेक्शन मेट्रो सिटी के अलावा अब हमारे शहर तक पहुंचा है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned