scriptWork with more than 6 months court stay can start | जिन सरकारी कामों में न्यायालय का स्टे 6 माह से ज्यादा का है, वे हो सकेंगे शुरू | Patrika News

जिन सरकारी कामों में न्यायालय का स्टे 6 माह से ज्यादा का है, वे हो सकेंगे शुरू

पंचायत एवं ग्रामीण विकास भी गबन के मामलों में अब कर सकेगा वसूली

सतना

Published: January 03, 2022 05:32:08 am

सतना. नगरीय प्रशासन विभाग के बाद अब पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग और राजस्व विभाग ने भी सुप्रीम कोर्ट के उस आदेश का हवाला देते हुए जिले के अफसरों को कार्यवाही के निर्देश दिये हैं जिसमें उच्च न्यायालय 6 माह से ज्यादा समय से स्टे लगाया हुआ है। हालांकि सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का हवाला लोकायुक्त जांच प्रकरणों के लिये दिया गया है लेकिन साथ में भेजे गये सुप्रीम कोर्ट के निर्णय को पढ़ें तो उसकी व्यापकता काफी ज्यादा है। उच्च न्यायालय द्वारा दिये गये दिये गये स्टे पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि अगर स्टे की अवधि 6 माह पूरी हो गई है तो वह स्वत: समाप्त हो जाएगा, अगर उच्च न्यायालय ने इसे आगे नहीं बढ़ाया है।
जिन सरकारी कामों में न्यायालय का स्टे 6 माह से ज्यादा का है, वे हो सकेंगे शुरू
Work with more than 6 months court stay can start
संचालनालय से जारी किया गया पत्र

संचालक पंचायत राज संचालनालय आलोक कुमार सिंह ने जिपं सीईओ को लिखे पत्र में बताया है कि पंचायत राज संचालनालय से संबंधित ऐसे लोकायुक्त जांच प्रकरण जिनमें अनावेदकों द्वारा उच्च न्यायालय अथवा स्थानीय न्यायालय से स्थगन लिया गया है, इन प्रकरणों में वसूली एवं विभागीय कार्यवाही तथा अन्य आवश्यक कार्यवाहियां लंबित हो रही हैं। इससे ऐसे जांच प्रकरण लंबे समय से लोकायुक्त कार्यालय में विलंबित हो रहे हैं तथा इन प्रकरणों में अधिरोपित वसूली योग्य राशि शासन के प्राप्त नहीं हो पा रही है।
6 माह से ज्यादा स्टे वाले प्रकरण तत्काल रिक्त कराएं

संचालयनालय से बताया गया है कि शासन का काफी पैसा स्थगन के कारण रुका हुआ है तथा निर्माण कार्य भी प्रभावित हो रहा है। इन सभी पर सुप्रीम कोर्ट के 28 मार्च 2018 के संबंधित निर्णय के पैरा 35 के अनुक्रम में स्थगन प्राप्त मामलों में उनके प्रभारी अधिकारियों को निर्देशित किया जाए। इन्हें संबंधित महाधिवक्ता से संपर्क कर स्थगन तत्काल रिक्त कराने की कार्यवाही एक सप्ताह में की जाए। यह भी कहा गया है कि आगामी सप्ताहों लोकायुक्त कार्यालय में प्रचलित जांच प्रकरण में कोई स्थगन लंबित न रह जाए।
बड़े पैमाने पर है मामले

पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग में धारा 40 और धारा 59 के गबन से संबंधित काफी संख्या में मामले ऐसे हैं जिस पर संबंधित दोषियों ने उच्च न्यायालय अथवा स्थानीय न्यायालय से स्थगन ले रखा है। इस वजह से राशि की वसूली तो लंबित है ही साथ ही निर्माण कार्य भी प्रभावित हैं। सुप्रीम कोर्ट के इस निर्णय के बाद अब वसूली तो हो ही सकेगी और काम भी शुरू हो सकेंगे। सरकारी निर्माण में भी स्टेइस तरह से निर्माण विभागों में भी काफी संख्या में ऐसे काम है जो न्यायालय के स्टे के कारण रुके हुए हैं और स्टे को 6 माह से ज्यादा का समय हो चुका है। अब ऐसे काम भी प्रारंभ कराए जा सकेंगे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

IPL 2022: टिम डेविड की तूफानी पारी, मुंबई ने दिल्ली को 5 विकेट से हराया, RCB प्लेऑफ मेंपेट्रोल-डीज़ल होगा सस्ता, गैस सिलेंडर पर भी मिलेगी सब्सिडी, केंद्र सरकार ने किया बड़ा ऐलान'हमारे लिए हमेशा लोग पहले होते हैं', पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कटौती पर पीएम मोदीArchery World Cup: भारतीय कंपाउंड टीम ने जीता गोल्ड मेडल, फ्रांस को हरा लगातार दूसरी बार बने चैम्पियनआय से अधिक संपत्ति मामले में ओम प्रकाश चौटाला दोषी करार, 26 मई को सजा पर होगी बहसऑस्ट्रेलिया के चुनावों में प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन हारे, एंथनी अल्बनीज होंगे नए PM, जानें कौन हैं येगुजरात में BJP को बड़ा झटका, कांग्रेस व आदिवासियों के लगातार विरोध के बाद पार-तापी नर्मदा रिवर लिंक प्रोजेक्ट रद्दजापान में होगा तीसरा क्वाड समिट, 23-24 मई को PM मोदी का जापान दौरा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.