ब्लड डोनर्स डे पर कुछ ऐसी शख्सियत, जो उम्र से ज्यादा रक्तदान कर दे चुके लोगों को जीवनदान

Rajiv Jain

Publish: Jun, 14 2018 01:08:33 PM (IST)

Satna, Madhya Pradesh, India
ब्लड डोनर्स डे पर कुछ ऐसी शख्सियत, जो उम्र से ज्यादा रक्तदान कर दे चुके लोगों को जीवनदान

18 से 60 वर्ष तक हर साल रक्तदान कर बचा सकते हैं 500 से अधिक लोगों की जिंदगी

सतना. रक्तदान को लेकर अक्सर लोग झिझकते नजर आते हैं। लेकिन, यह सत्य है कि आपके खून से किसी का जीवन बच सकता है। सीधे तौर पर कहें तो खून जीवन के लिए जरूरी है। समाज में ऐसे भी लोग हैं, जो हर पल दूसरे को जीवन देने के लिए तैयार रहते हैं। जब उनसे रक्तदान करने की बात कही जाती है तो सीधे तौर पर पीडि़त का पता पूछते हैं और रक्त देने पहुंच जाते हैं। शहर के ऐसे लोगों से पत्रिका टीम आपका परिचय कराने जा रही है। जो इस नेक काम को वर्षों से कर रहे हैं। आलम यह है कि उनकी उम्र जितनी है, उससे दोगुना बार वे रक्तदान कर चुके हैं।

बचा सकते हैं सैकड़ों जान
हम 18 वर्ष से 60 वर्ष की उम्र तक नियमित रक्तदान करें तो 500 से अधिक लोगों की जिंदगी बचा सकते हैं। शहर में ऐसे कई रक्तदाता हैं जिन्होंने सैकड़ों बार रक्तदान किया है।

माहवार रक्तदान की स्थिति
जनवरी : 86
फरवरी : 07
मार्च : 17
अपै्रल : 102
मई : 42
(आंकड़े जिला अस्पताल ब्लड बैंक के)

 

सत्येंद्र शर्मा
उम्र - 57 वर्ष
ब्लड ग्रुप - बी पॉजिटिव
पहली बार रक्तदान - 21 साल
अभी तक रक्तदान - 78 बार
प्रेरणा: मध्यांचल ग्रामीण बैंक में ब्रांच मैनेजर पद पर पदस्थ था। तभी एक ग्रामीण आया जो रो रहा था। उसने बताया, खून नहीं मिला, तो मेरे बच्चे की जान चली जाएगी। तब मैंने पहली बार रक्तदान किया। उसके बाद सिलसिला चल पड़ा।

गंगाराम सचदेव
उम्र - 30 वर्ष
ब्लड ग्रुप - एबी पॉजिटिव
पहली बार रक्तदान - 18 वर्ष की उम्र में
अभी तक दिया खून - 30 बार
प्रेरणा: निरंकारी सत्संग द्वारा रक्तदान करने की प्रेरणा मिली। संस्था द्वारा रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया था, 18 वर्ष की उम्र में पहली बार स्वेच्छा से रक्तदान किया। तब से यह सिलसिला लगातार जारी है।

 

world blood donor's day 2018
IMAGE CREDIT: patrika

मोनिका होतवानी
उम्र - 24 वर्ष

ब्लड ग्रुप - बी पॉजिटिव

पहली बार रक्तदान - 18 वर्ष की उम्र में
अभी तक दिया खून - 12 बार
प्रेरणा : पड़ोस का मासूम थैलीसीमिया से पीडि़त था। परिजनों के परामर्श पर 18 वर्ष की उम्र में पहली बार मासूम को रक्तदान किया। अब जब भी ब्लड बैंक या संस्था से कॉल आता है रक्तदान करते हैं।

नंदलाल रोहणा
उम्र - 43 वर्ष
ब्लड ग्रुप - बी निगेटिव
पहली बार रक्तदान - 18 वर्ष की उम्र में
अभी तक दिया खून -97 बार
प्रेरणा: मेरे मोहल्ले में रहने वाले परिचित को ब्लड की आवश्यकता थी। ब्लड बैंक पहुंचे तो बताया गया कि एक्सचेंज पर मिल सकता है। 18 वर्ष की उम्र में बिना कोई जरूरत के ब्लड बैंक में स्वेच्छा से रक्तदान किया।

ज्ञान हासवानी
उम्र -63 वर्ष
ब्लड ग्रुप - ओ निगेटिव
पहली बार रक्तदान - 18वर्ष की उम्र में
अभी तक दिया खून - 101 बार
प्रेरणा - ज्ञान हासवानी
जिले में सबसे ज्यादा बार रक्तदान कर चुके हैं। उन्होंने बताया, अभी भी रक्तदान करने की इच्छा है। चिकित्सक अनुमति दें तो वे रक्तदान निरंतर जारी रखेंगे।

 

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned