एसडीएम कोर्ट परिसर में जीआरपी की कस्टडी से भागा आरोपी

-जीआरपी ने शांतिभंग में किया था गिरफ्तार
-देर शाम तक भी नहीं पकड़ा गया, तलाश जारी

सवाईमाधोपुर. यहां जिला कलक्ट्रेट परिसर स्थित एसडीएम कोर्ट में शनिवार दोपहर पेश करने के दौरान शांतिभंग के आरोप में पकड़ा गया आरोपी राजकीय रेलवे पुलिस की कस्टडी से भाग छूटा। पेश करने के लिए आए जीआरपी के दो पुलिसकर्मियों ने पीछा कर पकडऩे क प्रयास किया, लेकिन आरोपी पलक झपकते ही कलक्ट्रेट परिसर की दीवार फांद गया, लेकिन उनके हाथ नहीं आया। देर शाम तक स्थानीय पुलिस की मदद से कई जगहों पर टीमें भेजी गई। लेकिन सफलता नहीं मिली। उधर, शाम सात बजे तक जीआरपी थाना पुलिस मामले को छिपाती नजर आई। आरोपी के भागने पर भी अनभिज्ञता जाहिर की, लेकिन उच्चाधिकारियों को शिकायत करने के बाद मामले के बारे में बताया।

ये था मामला
राजकीय रेलवे थानाधिकारी लादूराम ने बताया कि शनिवार सुबह सवाईमाधोपुर रेलवे स्टेशन पर यात्रियों से उलझते हुए आरोपी राजाराम () पुत्र बाबूलाल गुर्जर निवासी चौथकाबरवाड़ा को शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। दोपहर करीब ढाई बजे उसे एसडीएम कोर्ट में पेश करने के लिए हैड कांस्टेबल भगवत सिंह तथा कांस्टेबल खेम सिंह को साथ में भेजा गया था। दोनों पुलिसकर्मी करीब पौने तीन बजे आरोपी का हाथ पकड़कर कोर्ट परिसर में पेश करने के लिए अपनी बारी के इंतजार में खड़े थे। इस दौरान आरोपी मौका पाकर पुलिसकर्मियों का हाथ छुड़ाकर भाग छूटा। आरोपी के भागने की खबर सुनते ही मौके पर लोगों की भीड़ जमा हो गई।


पीछा करने के चक्कर में गिरे पुलिसकर्मी

दोनों जीआरपी पुलिसकर्मियों ने आरोपी का मोटरसाईकिल से पीछा करने का प्रयास किया, लेकिन मोटरसाइकिल स्टार्ट करते ही एसडीएम कोर्ट के सामने दीवार से टकराकर नाली में गिर गया। इस दौरान आसपास के लोग दौड़कर पहुंचे और उनको उठाया।


पुलिस कंट्रोल रूम को नहीं पता
जिला कलक्ट्रेट परिसर में एसडीएम कोर्ट से एक आरोपी भाग छूटा लेकिन जिला पुलिस कंट्रोल के पास देर शाम तक कोई जानकारी तक नहीं थी, जबकि कलक्ट्रेट परिसर में एसडीएम कोर्ट से कंट्रोल रूम चंद कदमों की दूरी पर है।


शाम तक दबाते रहे मामला
दोपहर ढाई बजे से लेकर शाम सात बजे तक जीआरपी सवाईमाधोपुर मामले को दबाती रही। जीआरपी थानाधिकारी लादूराम से आरोपी के नाम-पते के बारे में जानकारी चाही तो वे रटा-रटाया जवाब देते रहे कि अभी मुझे पता नहीं है। पता चलते ही बता दूंगा। मुझे आरोपी के भागने की जानकारी नहीं है। शाम तक भी वे ये ही कहते रहे कि पुलिसकर्मी आरोपी को पेश करने गए हैं।


अभी तक नहीं आए हैं, जबकि जीआरपी से कोर्ट की दूरी करीब एक किलोमीटर भी नहीं है। हालांकि इस मामले में जबकि राजकीय रेलवे पुलिस कोटा के उपाधीक्षक हुमायू कबीर को इस बारे में अवगत कराया तो उन्होंने कहा कि आरोपी भागा है। उसकी तलाश की जा रही है। इस संबंध में उन्होंने यहां थानाधिकारी को मामला नहीं छिपाने एवं थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने के निर्देश दिए। इसके बाद ही पुलिस ने पूरे मामले का खुलासा किया।


कोर्ट में नहीं आया कोई आरोपी
जीआरपी की ओर से शांतिभंग में पकड़ा आरोपी कोर्ट में नहीं आया। इस बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं है।
रघुनाथ, उपखंड अधिकारी, सवाईमाधोपुर

Vijay Kumar Joliya Photographer
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned