प्रतिबन्धित कीटनाशकों का उपयोग करने पर होगी कार्रवाई

प्रतिबन्धित कीटनाशकों का उपयोग करने पर होगी कार्रवाई

Rakesh Verma | Publish: Sep, 03 2018 02:08:44 PM (IST) Sawai Madhopur, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

सवाईमाधोपुर. कृषि में उन्नत पैदावार, स्वास्थ्य एवं पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए नई पहल की है। फसलों में प्रयोग किए जा रहे मानव स्वास्थ्य के लिए घातक 18 कीटनाशकों पर सरकार ने प्रतिबंध लगा दिया है। ये ऐसे कीटनाशक है, जिनकी जांच में जहर की मात्रा मानक से अधिक पाई गई है। ऐसे में कीटनाशकों के इस्तेमाल से कैंसर, किडनी व लीवर खराब होने, हार्टअटैक सहित कई गंभीर बीमारियां बढ़ रही है। अब इन कीटनाशकों का रजिस्ट्रीकरण, आयात, विनिर्माण, सूत्रीकरण, परिवहन, बिक्री व उपयोग नहीं किया जा सकेगा।


गत दिनों इन कीटनाशकों पर प्रतिबंध के लिए केन्द्र सरकार ने नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। कीटनाशकों में से फिलहाल ट्राइफ्लूरेलिन का गेहूं की फसल में उपयोग करने के लिए छूट दी गई है, जबकि 12 कीटनाशकों को पूरी तरह प्रतिबंधित कर दिया है। वहीं छह कीटनाशकों के आयात, विनिर्माण व सूत्रीकरण पर एक जनवरी 2019 से प्रतिबंध लगाया गया है लेकिन इन्हें 31 दिसम्बर 2020 से पूरी तरह प्रतिबंध कर दिया जाएगा।


ये पूरी तरह प्रतिबंधित
वेनोमाइल, कार्बराइल, डायजिनोन, फेनारिमोल, फेथियोन, लिनुरोन, मैथोक्सीथाइल, मर्करी क्लोराइड, मिथाइल पैराथियोन, सोडियम साइनाइड, थियोमेटोन एवं ट्राईडेमार्फ, ट्राइफ्लूरेलिन पर प्रतिबंध रहेगा।


अगले साल से इन पर
अलाक्लोर, डाइक्लोरवास, फोरेट, फोस्फोमिडॉन, ट्राईजोफोस एवं ट्राइक्लोरोफोर्न पर प्रतिबंध लगा जाएगा, लेकिन कंपनियों के स्टॉक व निर्माण के कारण इन कीटनाशकों पर 31 दिसम्बर 2020 से पूरी तरह प्रतिबंध होंगे।


ये कीटनाशक मानव स्वास्थ्य के लिए खतरा होने से सरकार ने प्रतिबंध लगाया है। इनके स्थान पर किसानों को दूसरे कीटनाशक रसायनों का प्रयोग करने की सलाह दे रहे है। विक्रेताओं को भी इन कीटनाशकों की बिक्री नहीं करने समझाइश कर रहे हैं।
अमर सिंह, उपनिदेशक, कृषि एवं पीडी आत्मा, सवाईमाधोपुर


मण्डी में दूसरे दिन भी बंद रहा कारोबार
सवाईमाधोपुर. राजस्थान खाद्य व्यापार संघ के आह्वान पर चल रही व्यापारियों की हड़ताल दूसरे दिन रविवार को भी जारी रही। इसके चलते दूसरे दिन भी मण्डी में तुलाई कार्य नहीं हो सका। संघ के महामंत्री विजय सिंघानिया ने बताया कि इस क्रम में रविवार दोपहर बारह बजे से रामनाम संकीर्तन का आयोजन किया गया। 12 बजे सद्बुद्धि यज्ञ का आयोजन किया जाएगा। वहीं दूसरी ओर मण्डी मेंं कारोबार ठप रहने से जिंसों को बेचने के लिए आने वाले किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned