आधे रास्ते में अटकी एम्बुलेंस, धक्का देकर करनी पड़ी स्टार्ट, फिर आगे क्या हुआ पढ़े पूरी खबर...

नसबंदी शिविर में आई एंबुलेंस को धक्का देकर करवाया स्टार्ट

चौथ का बरवाड़ा. जिले में 108 एम्बुलेंस की हालत काफी दयनीय है। कई जगहों पर तो एम्बुलेंस उपलब्ध ही नहीं है और जहां उपलब्ध है वहां इनकी दशा बिगड़ी हुई है। अधिकारी 7 दिन में एम्बुलेंस की मरम्मत का दावा करते हैं, लेकिन आए दिन रास्तें में अटक रही एम्बुलेंस इस दावे की पोल भी खोल रही हैं। गुरुवार को चौथ का बरवाड़ा में कुछ इसी तरह का मामला सामने आया, जब रास्तें में ही एम्बुलेंस ने दम तोड़ दिया। बाद में लोगों ने धक्का देकर एम्बुलेंस का स्टार्ट करवाया।
कस्बे में स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर गुरुवार को महिला नसबंदी शिविर लगाया गया। इस दौरान इमरजेंसी सुविधा को लेकर स्वास्थ्य विभाग की ओर से सवाईमाधोपुर से अतिरिक्त 108 एबुलेंस भेजी गई, लेकिन खटारा एंबुलेंस होने के कारण सवाईमाधोपुर से आते समय सब्जी मंडी में ही एंबुलेंस ने दम तोड़ दिया। ऐसे में लोगों ने एंबुलेंस को धक्का लगाकर स्टार्ट करवाया। गनीमत यह रही की उस समय एंबुलेंस में कोई मरीज नहीं था। इस दौरान एंबुलेंस मेंटिनेंस अधिकारी अनिल ने बताया कि एंबुलेंस खराब नहीं थी, इंजन में कोई तकनीकी खराबी आने के कारण वह बंद हो गई थी।

Abhishek ojha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned