बाइक सवार शिक्षक की मौत,ग्रामीणों ने कार चालक को पुलिसकर्मी बताया, गिरफ्तारी की मांग की

ग्रामीणों ने अस्पताल में किया हंगामा
ग्रामीणों ने कार चालक को पुलिसकर्मी बताया, गिरफ्तारी की मांग की

मलारना डूंगर. भाड़ौती-मथुरा मेगा हाइवे स्थित मानोली टापरो के पास कार की टक्कर से बाइक सवार शिक्षक की मौत हो गई। मृतक कल्लूराम (45) पुत्र नेतराम रैगर निवास बहतेड़ हाल निवासी निवाई है। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में कर मलारना डूंगर सीएचसी में रखवाया। जहां पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव परिजनों को सौंप दिया। घटना को लेकर मृतक के भाई बृजमोहन रैगर ने कार चालक के खिलाफ गलत दिशा में लापरवाही से कार चलाते हुए बाइक को टक्कर मारने का आरोप लगा मलारना डूंगर थाने में मामला दर्ज कराया है।

पुलिस के अनुसार फरियादी ने बताया कि उसका भाई कल्लूराम रैगर निवासी बहतेड़ हाल निवासी ढाणी जुगलपुरा निवाई शुक्रवार सुबह 9 बजे गंगापुर स्थित अपने पुत्र से मिलकर मोटरसाइकिल से राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय थडोली में पढ़ाने जा रहा था। रास्ते में शेषा ढोला से पहले मानोली टापरो के पास भाड़ौती को तरफ से आ रही कार चालक गलत दिशा में लापरवाही से चलाता हुआ आया और बाइक को टक्कर मार दी। टक्कर से प्रार्थी का भाई घायल हो गया। जिसे मलारना डूंगर पुलिस अस्पताल लेकर आई। जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

कार चालक की गिरफ्तारी को लेकर हंगामा

सड़क हादसे में सरकारी शिक्षक की मौत के बाद अस्पताल में ग्रामीणों की भीड़ लग गई। पुलिस पोस्टमार्टम की कार्रवाई करने लगी तो ग्रामीणों ने विरोध कर दिया। आरोप था कि दुर्घटना कारित करने वाली कार का चालक पुलिसकर्मी नशे में कार चला रहा था। पहले कार चालक को गिरफ्तार कर मेडिकल परीक्षण करवाया जाए, इसके बाद ही पोस्टमार्टम की कार्रवाई होगी। इस दौरान आक्रोशित ग्रामीण अस्पताल के वार्ड में रखे शव को ले जाने के लिए आगे बढ़े, लेकिन पुलिस कर्मियों ने वार्ड का गेट बंद कर दिया। अस्पताल में मौजूद एएसआई जनक सिंह व हैड कांस्टेबल रामावतार ने ग्रामीणों से समझाइश की, लेकिन वो अपनी जिद पर अड़े रहे।

इस दौरान पुलिस कार चालक के फरार होने का दावा करने के साथ दुर्घटना कारित करने वाली कार में पुलिस कर्मी के बैठ कर यात्रा करने की बात कहती रही, लेकिन किसी ने एक नहीं सुनी। मामले की गंभीरता को देखते सूरवाल थाना प्रभारी भरत सिंह, खिरनी पुलिस चौकी इंचार्ज मुरारी लाल भी मय जाब्ते के अस्पताल पहुंच गए। सूरवाल थाना प्रभारी ने भीड़ में मौजूद बुजुर्गों व समाज के लोगों से समझाइश की तो वो मान गए। इसके बाद फिर मृतक के पिता व बच्चों के आने के बाद ही पोस्टमार्टम व पंचनामा करने की मांग उठ गई। ऐसे में पुलिस को एक बार फिर पोस्टमार्टम की कार्रवाई रोकना पड़ा। इस बीच ग्रामीण पुलिस उपाधीक्षक राकेश राजोरा भी अस्पताल पहुंच गए। सीओ ने समझाइश की। दोपहर दो बजे बाद मृतक के परिजन मौके पर पहुंचे। इसके बाद परिजनों की मौजूदगी में पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सौंपा गया।

पुलिसकर्मी नहीं चला रहा था कार

ग्रामीण पुलिस उपाधीक्षक राकेश राजोरा ने बताया कि घटना के बाद कार चालक मौके से फरार हो गया। हादसे के वक्त जिले के ही एक पुलिस अधिकारी कार में बैठे हुए थे। कोई भी पुलिसकर्मी कार नहीं चला रहा था। लोगों को गलत फहमी हुई है। मृतक के भाई की रिपोर्ट पर अज्ञात कार चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सौंप दिया। मृतक कल्लूराम निवासी बहतेड़ है, जो थडोली के सरकारी स्कूल में शिक्षक है। चालक का पता कर गिरफ्तार किया जाएगा।

Vijay Kumar Joliya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned