बजरी रोकथाम के लिए लगाया गया नाका बंद, नहीं रुका खनन

बजरी रोकथाम के लिए लगाया गया नाका बंद, नहीं रुका खनन

चौथ का बरवाड़ा. प्रशासन की ओर से बजरी खनन व परिवहन पर लगाम लगाने के लिए तहसील क्षेत्र के शिवाड़ मार्ग पर नाका लगा कर पुलिस के जवानों सहित होमगार्डों की तैनाती की गई थी, लेकिन एक माह पहले लगाए गए नाके पर एक भी कार्रवाई नहीं हो सकी। यह नाका भी अब बंद कर दिया गया है।


कर रहे कार्रवाई
थाना प्रभारी हरेन्द्र सिंह ने बताया कि शिवाड़ का नाका माइनिंग की ओर से लगाया गया था, जो अब बंद कर दिया गया है, लेकिन एसडीएम, नायब तहसीलदार के नेतृत्व में पुलिस की टीम द्वारा कार्रवाई की जारी है। क्षेत्र में बजरी पर अकुंश लगाया हुआ है।


कार्रवाई के नाम पर खानापूर्ति
भाड़ौती. क्षेत्र की बनास नदी से बजरी का अवैध खनन रुकने का नाम नहीं ले रहा है। दिनरात बनास में जेसीबी से खनन कर बजरी का परिवहन धड़ल्ले से हो रहा है। अवैध खनन से बनास नदी का प्राकृतिक स्वरूप भी बिगडऩे के साथ बनास नदी अपना अस्तित्व खोती जा रही है। क्षेत्र के श्यामोली, बाढ़ बालोली ओलवाड़ा, भूखा, गोज्यारी, महेश्वरा जौलंदा आदि घाटों से बजरी निकाली जा रही है। कार्रवाई के लिए बनास नदी में दबिश भी दी, लेकिन कई बार दल को बैरंग लौटना पड़ा।

rakesh verma Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned