जलकुबेर माधोसिंहपुरा पी रहा 'जहर' गांव के पानी से तर हो रहा शहर, गांव के लोगों की पीड़ा नहीं सुन रही सरकार

जलकुबेर माधोसिंहपुरा पी रहा 'जहर' गांव के पानी से तर हो रहा शहर, गांव के लोगों की पीड़ा नहीं सुन रही सरकार

Rakesh Verma | Publish: Apr, 17 2018 06:34:13 PM (IST) Sawai Madhopur, Rajasthan, India

रणथम्भौर रोड स्थित माधोसिंहपुरा गांव को अगर जलकुबेर गांव कहा जाए तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी

सवाईमाधोपुर . रणथम्भौर रोड स्थित माधोसिंहपुरा गांव को अगर जलकुबेर गांव कहा जाए तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। क्योंकि इस गांव से शहर के एक लाख से ज्यादा लोगों को जलापूर्ति हो रही है, लेकिन अगर गांव का दूसरा पहलू जानें तो खुद गांव प्यासा है। ये गांव भले ही शहर की प्यास बुझा रहा है, लेकिन खुद मटमैला एवं गंदा पानी पीने को मजबूर है। पत्रिका ने मौके पर जाकर उनके हालात देखे तो चौंकाने वाली तस्वीर सामने आई। एक ट्यूबवैल से पानी गंदा व
मटमैला आ रहा है। उसी पानी को मवेशी के साथ इंसान पीते हैं। ग्रामीणों की ना जलदाय अधिकारी सुनते हैं ना ही कोई जनप्रतिनिधि।


माधोसिंहपुरा की पंचायत है शेरपुर
गांव की आबादी 1500
गांव में घर 150
सरकारी ट्यूबवैल 20
गांव के लिए चालू ट्यूबवैल 02
हैण्डपम्प खराब व सूखे 03

गंदा पानी पीने को मजबूर
गांव में 20 सरकारी ट्यूबवैल से शहर को पानी दे रहे हैं, लेकिन गांव के लोगों के लिए दो ट्यूबवैल हैं, उनमें से एक ट्यूबवैल में गंदा पानी आ रहा है। उसे मवेशी व इंसान एक साथ पीते हैं। बैरवा बस्ती में तो हालात विकट हैं। अधिकारी उनकी सुनवाई नहीं करते। आशाराम बैरवा निवासी माधोसिंहपुरा पानी बिना जीना मुश्किल
पानी के बिना जीना मुश्किल हो रहा है। गंदा पानी पीने को मजबूर है। ये गंदा पानी पेट जमकर धीरे-धीरे जहर का काम कर रहा है। धापू देवी निवासी माधोसिंहपुरा

लाइन बेकार पड़ी है गांवों में लाखों रुपए की पाइप लाइन बिछा रखी है, लेकिन उसमें जलापूर्ति के इंतजाम विभाग नहीं करता है। गांव के लोग गंदा पानी पीने को मजबूर हैं। जबकि गांव में लगे सरकारी ट्यूवबैलों से पूरे शहर को पानी आपूर्ति हो रहा है।
जयप्रकाश माधोसिंहपुरा

माधोसिंहपुरा गांव की समस्या का समाधान किया जाएगा। इसके लिए मौका देखा जाएगा। -किरोड़ीलाल मीणा, अधिशासी अभियंता, सवाईमाधोपुर

 

अण्डर ग्राउण्ड केबल में फाल्ट, बिजली गुल
गंगापुरसिटी. शहर में सोमवार को अण्डर ग्राउण्ड विद्युत लाइन में फाल्ट आने से शहर के बड़े हिस्से में बिजली गुल हो गई। कई घंटों तक आपूर्ति बहाल नहीं होने से लोगों को गर्मी की मार झेलनी पड़ी। तेज गर्मी के कारण लोग पसीने से तरबतर हो गए। कई घंटों के प्रयास के बाद भी निगमकर्मी फॉल्ट को ठीक नहीं कर पाए। सहायक अभियंता कुलदीप जोशी ने बताया कि दोपहर करीब एक बजे भारत मिल से पावर हाउस को जा रही अण्डर ग्राउण्ड केबल में फॉल्ट आ गया।

इससे ओसवाल फीडर, भारत मिल फीडर, अस्पताल फीडर, रेस्ट हाउस फीडर व कैलाश टॉकिज फीडर की आपूर्ति ठप हो गई। इससे शहर के बड़े हिस्से में बिजली बंद होने से लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी। खासकर अस्पताल में भर्ती रोगियों को भी परेशानी हुई। लोग निगम कार्यालय में फोन कर बिजली आने के बारे में पूछते रहे, लेकिन उन्हें कोई नियत समय नहीं बताया गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned