ट्रांसफार्मर से लगा करंट, किसान की मौत

ट्रांसफार्मर से लगा करंट, किसान की मौत

By: rakesh verma

Published: 10 Mar 2019, 03:58 PM IST

बहरावण्डा खुर्द. कस्बे के समीपवर्ती खण्डेवला गांव में शनिवार को खेतों में पानी देने गए एक किसान की बिजली का करंट लगने से मौत हो गई। काफी देर बाद किसान की मौत का पता लगने पर खेत पर लोगों का जमावड़ा लग गया और परिजनों ने विद्युत निगम के अधिकारियों को बिजली बंद करने की सूचना दी।इधर सूचना पर घटनास्थल पर पहुंची बहरावण्डा खुर्द पुलिस ने घटनास्थल का मौका मुआयना किया और खेत में पड़े शव को बहरावण्डा खुर्द सीएचसी लाया गया। चिकित्सक ने किसान की मौत की पुष्टि की। परिजनों ने मुआवजे की मांग की है। जानकारी के अनुसार मृतक हजारी बैरवा (52) पुत्र घासीराम बैरवा निवासी खण्डेवला शनिवार सुबह फरिया के पास अपने खेतों पर सिंचाई करने के लिए गया था। जब काफी देर बाद भी वह घर नहीं आया तो परिजनों ने फोन किया।

कोई जवाब नहीं मिलने पर मृतक के छोटे पुत्र ने खेत पर जाकर देखा तो हजारी को खेत में पड़े देखा। उसने इसकी सूचना गांव में परिजनों को दी तो कुछ देर बाद खेत में परिजनों सहित ग्रामीणों का जमावड़ा लग गया। लोगों ने विद्युत निगम के अधिकारियों को इसकी सूचना दी तथा तुरन्त बिजली बंद करने को कहा। साथ ही घटना की सूचना बहरावण्डा खुर्द पुलिस को दी गई। इस पर बहरावण्डा खुर्द पुलिस घटनास्थल पर पहुंची तथा घटनास्थल का मौका मुआयना किया। पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया।
बहरावण्डा खुर्द चौकी प्रभारी मुरारी लाल ने बताया कि घटना की सूचना पर मौका मुआयना किया। इस दौरान मृतक हजारी का शरीर खेत में पड़ा हुआ था। शव के पास ही थ्री फेज का ट्रांसफार्मर लगा हुआ है। इससे अंदेशा जताया गया कि हजारी की मौत करंट लगने से हुई है। चिकित्सकों ने इसकी पुष्टि की हैैैैैै।
विद्युत निगम अधिकारियों पर लगाया आरोप
ग्रामीणों व परिजनों ने बताया कि शनिवार दोपहर करीब ढाई बजे जब सभी खेत पर पहुंचे तो हजारी बैरवा नजदीकी ही लगे ट्रांसफार्मर के पास पड़ा हुआ था और उस समय बिजली चालू थी। बिजली कटवाने के लिए कई बार निगम के अधिकारियों को सूचित किया गया, लेकिन इसके बावजूद भी विभाग द्वारा बिजली नहीं काटी गई। ग्रामीणों का आरोप है कि निगम के अभियंता जिम्मेदारों से कन्फर्म करवाने की कहते रहे जिसके चलते विभाग द्वारा सूचना के करीब ढाई घण्टे बाद बिजली काटी गई।


करीब 5 घण्टे बाद लगा पता
पुलिस के अनुसार किसान हजारी शनिवार सुबह करीब 9 बजे खण्डेवला से अपने खेत की ओर निकला था। इस दौरान खेत पर लगे ट्रांसफार्मर से चिपक कर उसकी मौत हो गई, लेकिन इस दौरान खेत पर व उसके आसपास कोई मौजूद नहीं था। दोपहर ढाई बजे उसके बेटे के आने पर इसका पता चला। मृतक हजारी के तीन पुत्र व एक पुत्री है।


मुआवजे की मांग
किसान हजारी की खेत पर करंट लगने से मौत होने के कारण परिजनों ने विभाग से मुआवजे की मांग की है।

rakesh verma Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned