VIDEO: पत्नी-बेटे पर धारदार हथियार से वार, पत्नी की मौत लोरवाड़ा ग्राम पंचायत के बंधा गांव की घटना

Shubham Mittal

Publish: Jan, 14 2018 01:22:50 PM (IST)

Sawai Madhopur, Rajasthan, India
VIDEO: पत्नी-बेटे पर धारदार हथियार से वार, पत्नी की मौत लोरवाड़ा ग्राम पंचायत के बंधा गांव की घटना

भाई की रिपोर्ट पर हत्या व साक्ष्य मिटाने का मामला दर्ज, आरोपित सहित आधा दर्जन लोग हिरासत में जिला पुलिस अधीक्षक सहित अधिकारी

पुलिस ने बरामद किया अधजला शव,मौके पर पहुंचे बेटा गंभीर अवस्था में जयपुर रैफर...
सवाईमाधोपुर.
सूरवाल थाना क्षेत्र के बंधा गांव में अपराह्न चार बजे एक व्यक्ति ने खेत पर काम कर रही पत्नी पर धारदार हथियार से ताबड़तोड़ वार कर घायल कर दिया। बचाने आया आठ साल का बेटा भी हमले में गंभीर घायल हो गया। महिला की मौके पर ही मौत हो गई। पति ने गुपचुप तरीके से शव का अंतिम संस्कार करना चाहा, लेकिन पुलिस को सूचना मिल गई।

मौके पर पहुंची पुलिस ने श्मशान से अधजले शव को बरामद किया, जिसे जिला अस्पताल के मोर्चरी में रखवाया गया। इधर, गंभीर घायल बालक को जिला मुख्यालय स्थित निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां हालत ज्यादा खराब होने पर देर रात जयपुर रैफर कर दिया गया। सूरवाल थानाधिकारी अनूपसिंह के अनुसार बसोखुर्द निवासी रामराज मीणा ने रिपोर्ट में बताया कि लोरवाड़ा ग्राम पंचायत के बंधा गांव निवासी गंदोड़ा पुत्र मिश्रीलाल मीणा से उसकी छोटी बहन रमेशी (28) की शादी हुई थी।

शनिवार को अपराह्न करीब चार बजे उसे फोन से सूचना मिली कि उसके बहनोई ने खेत पर काम कर रही रमेशी पर कुल्हाड़ी से कई वार किए। चीख पुकार की आवाज सुनकर भांजा अभिषेक मीणा (8) बचाने आया। इस दौरान उसके भी चोटें आईं। गंभीर घायल रमेशी की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि भांजा गंभीर घायल हो गया। इसके बाद आरोपित ने परिवार व गांव के ही कुछ लोगों के साथ मिलकर शव का आनन-फानन में दाह संस्कार करने की कोशिश की। पुलिस ने रिपोर्ट के आधार पर आरोपित के खिलाफ हत्या व आधा दर्जन लोगों पर साक्ष्य मिटाने की धाराओं में मामला दर्ज किया।

शव मोर्चरी में रखवाया
पुलिस को सूचना मिलने पर सूरवाल एसएचओ अनूपसिंह सहित जाप्ता मौके पर पहुंचा। चिता बुझा कर शव को बाहर निकाला गया। इसको बाद में जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया। वहीं मौके से आरोपित पति को हिरासत में लिया गया।

पुलिस को देखते ही भाग छूटे
सूरवाल थानाधिकारी ने बताया कि साढ़े चार बजे सूचना मिलते ही मय टीम श्मशान पहुंचे, जहां महिला के शव का अंतिम संस्कार किया जा रहा था। इस दौरान करीब 50 से 60 लोग दाहसंस्कार में मौजूद थे। पुलिस को देखते ही सभी भाग छूटे। चिता से शव को बाहर निकाला गया। वहीं आधा दर्जन से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया।

एसपी मौके पर पहुंचे
घटना की सूचना मिलने पर जिला पुलिस अधीक्षक मामनसिंह, सीओ सिटी सुभाष मिश्रा, सीओ ग्रामीण सम्पतसिंह मौके पर पहुंचे। पुलिस लाइन से अतिरिक्त जाप्ता मंगवाया गया। वहीं एफएसएल टीम के सदस्यों ने मौके पर पहुंच कर साक्ष्य जुटाए।

बहाना बनाकर भर्ती कराया
घायल बच्चे को लेकर निजी चिकित्सालय पहुंचे ग्रामीणों ने अस्पताल प्रशासन को भी अंधेरे में रखा। बच्चे को सीढिय़ों से गिरकर घायल होना बताकर भर्ती कराया। रात करीब नौ बजे तबीयत ज्यादा बिगडऩे पर बच्चे को जयपुर रैफर कर दिया गया।

बड़ी बहन ने दी सूचना
रमेशी और रेखा बंधा गांव में ही ब्याही हैं। रमेशी की हत्या की सूचना पास में ही रहने वाली बड़ी बहन रेखा को मिली। उसने अपने पीहर बसोखुर्द फोन पर भाई रामराज मीणा को सूचना दी। मामले की जानकारी मिलने पर भाई बंधा गांव आया। देर रात उसने आरोपित के खिलाफ सूरवाल थाने में रिपोर्ट दी।

आज घटनास्थल की जांच
सूरवाल थानाधिकारी ने बताया कि घटना को लेकर देर शाम तक हिरासत में लिए गए लोगों से पूछताछ चलती रही। रविवार को पुलिस व एफएसएल की टीम घटनास्थल की जांच करेगी। वहीं रविवार सुबह पीहर पक्ष की उपस्थिति में मृतका के शव का मेडिकल टीम से पोस्टमार्टम कराया जाएगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned