डेंगू की दस्तक, अब तक 11 मरीज चिह्नित

गंगापुरसिटी . मौसमी बीमारियों की भरमार के बीच शहर से लेकर गांव तक अब डेंगू का डंक भी चुभने लगा है। अस्पताल में हुई जांच के मुताबिक अब तक 11 डेंगू के मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। इसमें निजी चिकित्सकों की जांच को शामिल किया जाए तो यह आंकड़ा अधिक हो सकता है। हालांकि चिकित्सक स्थिति पूरी तरह काबू में होने की बात कह रहे हैं, लेकिन डेंगू लोगों को डरा रहा है।

गंगापुरसिटी . मौसमी बीमारियों की भरमार के बीच शहर से लेकर गांव तक अब डेंगू का डंक भी चुभने लगा है। अस्पताल में हुई जांच के मुताबिक अब तक 11 डेंगू के मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। इसमें निजी चिकित्सकों की जांच को शामिल किया जाए तो यह आंकड़ा अधिक हो सकता है। हालांकि चिकित्सक स्थिति पूरी तरह काबू में होने की बात कह रहे हैं, लेकिन डेंगू लोगों को डरा रहा है।


डेंगू के अलावा अन्य मौसमी बीमारियों भी इन दिनों लोगों को खूब सता रही हैं। वायरल फीवर, जुकाम-खांसी के मरीजों की संख्या में इन दिनों में काफी बढ़ोतरी देखी जा रही है। मौसमी बीमारियों से पीडि़त बच्चे और बड़े सामान्य चिकित्सालय में पहुंच रहे हैं। ऐसे में चिकित्सकों के पास मरीजों की कतार लगी हैं। वहीं प्रयोगशाला में भी जांच कराने के लिए मरीजों की कतार नजर आ रही है।

सामान्य चिकित्सालय की प्रयोगशाला में अब तक हुई जांच में 11 मरीज डेंगू पॉजीटिव की पुष्टि हो चुकी है। अभी और हो रही जांच में यह आंकड़ा बढ़ सकता है। ग्रामीण क्षेत्र में भी स्थिति बेहतर नहीं है। यहां भी डेंगू के मरीज मिलने की पुष्टि हुई है। चिकित्सा विभाग का कहना है कि मरीज तो मिले हैं, लेकिन स्थिति पूरी तरह काबू में है। जहां भी मरीज मिलने की संभावना है कि वहां टीमें जाकर उनका इलाज कर रही हैं।


बाल-गोपालों पर भारी बदला मौसम


बदला मौसम नौनिहालों पर भारी पड़ता नजर आ रहा है। दिन में तेज गर्मी और रात्रि को हल्की सर्दी का एहसास बच्चों को बीमार बना रहा है। राजकीय सामान्य चिकित्सालय में बड़ी संख्या में बीमार बच्चे पहुंच रहे हैं। इनमें मुख्य रूप से जुकाम, बुखार, खांसी, उल्टी-दस्त एवं निमोनिया आदि के हैं। अस्पताल का आउटडोर इन दिनों बढ़ा हुआ है।


इनके हुई डेंगू की पुष्टि


अर्सी निवासी दशहरा मैदान, नवल निवासी रेती, चेतन निवासी महूकलां, हीरालाल निवासी सैनिक नगर, जाविर निवासी काजी कॉलोनी, रूप सिंह निवासी गांगूडदा, भगवान निवासी लोहरा, हेमंत निवासी खण्डीप, करन निवासी महूकलां, राजेश निवासी आदर्श नगर एवं दीपक निवासी कर्मचारी के डेंगू होने की पुष्टि हुई है। हालांकि उपचार के बाद इनकी स्थिति ठीक है।
तो करने पड़ते हैं रैफर
डेंगू से पीडि़त मरीज की प्लेटलेट्स काफी कम हो जाती हैं। ऐसे में रक्त से प्लेटलेट्स लेकर मरीज को चढ़ाई जाती हैं, लेकिन सामान्य चिकित्सालय स्थित ब्लड बैंक में कंपोनेंट मशीन नहीं है। ऐसे में यहां प्लेटलेट्स को अलग करने की सुविधा नहीं है। यदि मरीज की प्लेटलेट्स तेजी से गिरने लगें तो उस स्थिति में मरीज को यहां से रैफर करने के अलावा कोई चारा नहीं बचता। हालांकि इस सीजन में अभी ऐसी नौबत नहीं आई है। यदि ब्लड बैंक में कम्पोनेंट की सुविधा शुरू हो जाए तो घटक अलग किए जा सकते हैं। इससे यहां से मरीजों को बाहर की परेशानी से निजात मिल सकती है।


यूं करें बचाव


सामान्य चिकित्सालय के डॉ. बिजेन्द्र गुप्ता ने बताया कि डेंगू का मच्छर साफ पानी में रहता है और यह दिन में काटता है। ऐसे में घर के आसपास पानी इकट्ठा नहीं होने दें। साथ ही पूरी बांह के कपड़े पहन कर रखें। बदन दर्द या बुखार जैसी शिकायत होने पर तुरंत चिकित्सक की सलाह लें।


इनका कहना है
प्रयोगशाला में जांच के लिए आए लोगों में से अब तक 11 जनों को डेंगू होने की पुष्टि हुई है। स्थानीय स्तर पर ही डेंगू का बेहतर उपचार हो रहा है।
- डॉ. बिजेन्द्र गुप्ता, ब्लड बैंक प्रभारी सामान्य चिकित्सालय गंगापुरसिटी


टोटोलाई में मिला डेंगू पॉजीटिव
तलावड़ा . उपतहसील क्षेत्र के टोटोलाई गांव में एक मरीज के निजी जांच में डेंगू पॉजीटिव पाया गया है। जानकारी के अनुसार टोटोलाई निवासी जमनालाल गुर्जर को बुखार आने पर गंगापुरसिटी सामान्य अस्पताल में भर्ती कराया। यहां निजी जांच में डेंगू पॉजीटिव पाया गया है। मरीज के परिजनों ने मरीज का निजी अस्पताल में उपचार कराया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned