विभाग की अनदेखी: वनभूमि पर खोदे कुएं, बिजली कनेक्शन भी कराया, 25 हैक्टेयर से अधिक भूमि पर अतिक्रमण

विभाग की अनदेखी: वनभूमि पर खोदे कुएं, बिजली कनेक्शन भी कराया, 25 हैक्टेयर से अधिक भूमि पर अतिक्रमण
Sawai madhopur patrika

Vijay Kumar Joliya | Updated: 09 Oct 2019, 06:56:38 PM (IST) Sawai Madhopur, Sawai Madhopur, Rajasthan, India

विभाग की अनदेखी: वनभूमि पर खोदे कुएं, बिजली कनेक्शन भी कराया, 25 हैक्टेयर से अधिक भूमि पर अतिक्रमण

मलारना डूंगर. रणथम्भौर नेशनल पार्क की तालड़ा रेंज में बिलोली नदी, सांकड़ा-श्यामोली में बाघ पर्यावास के लिए आरक्षित वन भूमि (बफर एरिया) में 25 हैक्टेयर से अधिक वन भूमि पर अतिक्रमण का मामला सामने आया है। अतिक्रमियों ने वन भूमि पर कुएं खुदवा कर बिजली कनेक्शन भी करवा लिए। वन विभाग व राजस्व विभाग की संयुक्त टीम के प्रारंभिक सर्वे में वन भूमि में तीन बिजली कनेक्शन मिले हंै। इस सम्बंध में वन विभाग अतिक्रमियों को नोटिस जारी करने के साथ ही विद्युत निगम को भी पत्र लिखने की तैयारी कर रहा है।

सीमाज्ञान किया : मलारना स्टेशन वन चौकी प्रभारी अशोक शर्मा ने बताया कि टीम में शामिल वनपाल रामखिलाड़ी मीणा, पटवारी प्रेमराज गुर्जर व हलका पटवारी नीरज उनके साथ सांकड़ा-श्यामोली व बिलोली नदी वन क्षेत्र में पहुंचे। जहां जीपीएस सिस्टम से वन भूमि का सीमाज्ञान किया गया।

इनके मिले बिजली कनेक्शन : रेंजर राजबहादुर मीणा ने बताया कि वन भूमि के सीमाज्ञान के दौरान प्रारंभिक जांच में खसरा नम्बर 1941, 1942 में गणपत पुत्र रतन मीणा व कमल पुत्र छोटिया मीणा निवासी सांकड़ा, खसरा नम्बर 1940 में बदरी पुत्र भोरिया मीणा निवासी हरिराम पूरा ( सांकड़ा ) व खसरा नम्बर 1944, 1943 में बाबूलाल, रामस्वरूप, बत्तीलाल पुत्र कलुआ निवासी हरिराम पूरा ( सांकड़ा ) का अतिक्रमण मिला है। इससे पूर्व भी वन विभाग ने इसी क्षेत्र में वन भूमि पर अतिक्रमण करने के आरोप में कुछ लोगों को गिरफ्तार किया था।

कानूनी तौर पर कराएंगे अतिक्रमण मुक्त : वन अधिकारियों की माने तो वह भूमि के सीमाज्ञान में अतिक्रमण कर कुआ व नलकूप खुदवा कर बिजली कनेक्शन कराने के ओर भी मामले सामने आ सकते है। पूर्ण सर्वे के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी। सर्वे के बाद अतिक्रमियों को नोटिस जारी कर विभाग वन भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराने की तैयारी कर रहा है।

  • उक्त भूमि टाइगर टेरेटरी के लिए आरक्षित है। भूमि में प्रारम्भिक सर्वे में तीन बिजली कनेक्शन होने की पुष्टि हुई है। अतिक्रमियों को नामजद चिह्नित कर लिया है। वह भूमि में बिजली कनेक्शन जारी करने को लेकर विद्युत निगम को भी पत्र लिखेंगे। नियमानुसार कानूनी तरीके से वन भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराया जाएगा।- राजबहादुर मीणा, रेंजर, तालड़ा

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned