सवाईमाधोपुर-जयपुर लाइन के विद्युतीकरण को हरी झंडी

सवाईमाधोपुर-जयपुर लाइन के विद्युतीकरण को हरी झंडी

Shankar Sharma | Publish: Feb, 26 2016 05:07:00 AM (IST) Sawai Madhopur, Rajasthan, India

रेल बजट में गुरुवार सवाईमाधोपुर-जयपुर रेलवे लाइन विद्युतीकरण की चिर-प्रतीक्षित मांग गुरुवार को पूरी होती नजर आई

सवाईमाधोपुर.रेल बजट में गुरुवार सवाईमाधोपुर-जयपुर रेलवे लाइन विद्युतीकरण की चिर-प्रतीक्षित मांग गुरुवार को पूरी होती नजर आई। बजट के दौरान रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने सवाईमाधोपुर-जयपुर रेल लाइन के विद्युतीकरण की घोषणा करते हुए स्वीकृति दे दी। वहीं सवाईमाधोपुर रेलवे स्टेशन पर बनी टाइगर पेंटिंग भी देश भर में मिसाल बनी है। रेल मंत्री ने भी बजट के दौरान इसकी तारीफ की।

विधायक दीया कुमारी ने बताया कि जयपुर-सवाईमाधोपुर-रींगस तक की लाइन का विद्युतीकरण किया जाएगा। इस दिशा में किए गए उनके प्रयास रंग लाए हैं। सवाईमाधोपुर से कोटा तक रेल लाइन विद्युतीकृत थी, लेकिन काफी लम्बे समय से इस रेल लाइन के आगे विद्युतीकरण करने का कार्य रुका हुआ था। जिससे सीधे तौर पर राजस्थान का विकास अवरुद्ध हो रहा था, लेकिन अब राह आसान हो गई है। सवाईमाधोपुर रणथम्भौर टाइगर सेंचुरी और त्रिनेत्र गणेश मंदिर व विश्व प्रसिद्ध किले के कारण काफी लोकप्रिय है, वहीं दूसरी ओर कोटा एजुकेशन हब के रूप में विकसित है। इस कारण इस रेल रूट पर राजस्थान के सभी लोगों का सम्पर्क जुड़ा हुआ था और बड़ी संख्या में इस रेल लाइन पर यात्री भार था।  

क्या होगा फायदा  
जयपुर-सवाईमाधोपुर-रींगस मार्ग पर टे्रेनें डीजल इंजन से चलाई जा रही है। डीजल इंजन के कारण वायु प्रदूषण होता है। साथ ही ईंधन की लागत भी अधिक आती है। इस टे्रक के विद्युतीकृत होने के बाद ट्रेनों का डीजल इंजन बदलने की जरूरत नहीं पड़ेगी। वहीं यात्रियों के समय की बचत भी होगी। प्रदूषण कम होगा। वहीं ईंधन की भी बचत होगी।

163.73 करोड़ स्वीकृत
रेल मंत्री ने जयपुर-सवाईमाधोपुर-रींगस तक की लाइन का विद्युतीकरण करने के लिए 163.73 करोड़ की स्वीकृति दी है। विद्युतीकृत होने वाला मार्ग करीब 188 किलोमीटर लम्बा है। विधायक ने बताया कि रेल विद्युतीकरण व दोहरीकरण के लिए ज्ञापन मिले थे। सवाईमाधोपुर-जयपुर रेल लाइन के विद्युतीकरण और दोहरीकरण को अपने ड्रीम प्रोजेक्ट के रूप में मुख्य स्थान दिया। इसके लिए नई दिल्ली में कई बार केन्द्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु से इस संबंध में मुलाकात की और प्रस्ताव सौंपें। रेल मंत्रालय नई दिल्ली व डीआरएम कोटा से सम्पर्क साधे।

सांसद बोले-उठाया था मुद्दा
उधर, सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया ने जयपुर-सवाईमाधोपुर-रींगस लाइन के विद्युतीकृत किए जाने से यात्रियों को फायदा होगा। उन्होंने बताया कि इस संबंध में उन्होंने लोकसभा में मुद्दा उठाया था। रेल मंत्रालय को पत्र भी भेजे थे। उनके प्रयासों से ही जनता की मांग पूरी हो सकी है। मांग पूरी होने पर उन्होंने प्रधानमंत्री, रेल मंत्री का आभार भी प्रकट किया। उधर, पूर्व जिला प्रमुख प्रहलाद मथुरिया, पूर्व प्रधान गिर्राज गुर्जर, हरिबाबू जीनगर, उमाशंकर सोती, पार्षद बलविंदर कौर, प्रणव गौतम, पारस जैन आदि ने घोषणा पर हर्ष जताया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned